जानें ऐसा क्या हुआ कि चना ने दी थाने में हाजिरी

कलेक्टर ने एफआईआर दर्ज कराने दिखाई सख्ती, सम्पन्न किसान ने भारी तादाद में तुलवाया अमानक चना

गोटेगांव। अमानक स्तर का चना प्रकरण सामने आने के बाद उनके खिलाफ एफआईआर करने के लिए डीएमओ द्वारा दस्तावेज पुलिस थाना में सौंपे गए। पुलिस ने अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं की है। पुलिस का कहना है कि मामला जांच में लिया गया है। वहीं एफआईआर दर्ज कराने आए अधिकारी ने जब्त चना को पुलिस थाना में ट्रक में भर कर पहुंचा दिया है। जिन खरीदी करने वाले अधिकारियों पर शिकंजा कसा है ऐसे कर्मचारी शनिवार को एक वरिष्ठ नेता के घर के ईद गिर्द नजर आए। उन्होंने अपने चहेतों के माध्यम से अपना पक्ष प्रस्तुत किया है। वहीं पत्रिका से कलेकटर दीपक सक्सेना ने बताया कि जो अमानक स्तर का चना गोटेगांव में पकड़ा है उस पर एफआईआर अवश्य दर्ज होगी। वहीं इस कारोबार में लगे एक किसान की सूक्ष्मता से जांच की जा रही है जिसने गोरखधंधा करके अमानक स्तर का चना मंडी में लाकर विक्रय किया है।
शुक्रवार रात को डीएमओ ने पुलिस थाना गोटेगांव जाकर जब्त किए दस्तावेजों को पुलिस अधिकारी को सौंपते हुए एफआईआर दर्ज कराने के लिए आवेदन दिया। पुलिस अधिकारी प्रभात शुक्ला ने बताया कि अभी एफआईआर दर्ज नहीं की गई है जो दस्तावेज डीएमओ ने प्रदान किए हैं उसके आधार पर सूक्ष्मता से जांच की जा रही है उसकी जांच करने के बाद एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई की जाएगी।

गेहूं-चना का पंजीयन एक जमीन पर कराया
जानकारी के अनुसार इस पूरे गोरखधंधा में नौनी निवासी एक सम्पन्न किसान का नाम सामने आया है जिसने एक की मौसम में पैदा होने वाली गेहंू, चना की फसल के पंजीयन भारी तादाद में कराए हैं। यह भी जानकारी मिली है कि उसके पास १२५ एकड़ के करीब जमीन है जिस जमीन पर गेहूं का पंजीयन कराया है उसी जमीन पर चना का पंजीयन साठगांठ करके कराया गया है। नौनी गेहूं खरीदी केन्द्र में भारी तादाद में गेहूं का विक्रय किया गया और अब उसी जमीन के आधार पर कराए गए पंजीयन के आधार पर गोटेगंाव मंडी चना खरीदी केन्द्र पर भारी तादाद में अमानक स्तर का चना लाकर विक्रय कराया है।

छनान खरीद कर लाया
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उक्त सम्पन्न किसान ने चना फिल्टर करने वाले स्थल से छनाई में निकलने वाला कचरा भारी तादाद में खरीद कर लाया और उसको चना में मिक्स करके साठगांव करके सरकारी बारदानों में पलटा कर विक्रय कर दिया गया है। जिसमें अभी तक प्रशासन के अधिकारियों ने १६८० बोरियां को जब्त करने की कार्रवाई की है। अभी भी कुछ खरीदी करने वालों के पास मौजूद होने की जानकारी मिली है जिन्होंने साफ चना की छल्ली में बीच में दबा कर रखे हैं ताकि किसी अधिकारी की पकड़ में नहीं आ सके।

सूक्ष्मता से चल रही जांच
हमारे संज्ञान में भी नौनी गांव के किसान का प्रकरण आया है इसकी जांच सूक्ष्मता से कराई जा रही है इसमें जो भी दोषी पाया जाएगा उस पर कार्रवाई की जाएगी वहीं जो अमानक स्तर का चना अधिकारियों ने पकड़ा है उसकी एफआईआर जल्द ही की जाएगी।
दीपक सक्सेना कलेक्टर

Show More
narendra shrivastava
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned