video-विधायक संजय शर्मा की इस पदयात्रा से प्रदेश की राजनीति में आया भूचाल- देखें वीडियो

कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन तथा किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर तेंदूखेड़ा विधायक संजय शर्मा ने गुरुवार को ग्राम बटेसरा से गाडरवारा तक लगभग 35 किलोमीटर की दो दिवसीय पद यात्रा शुरू की।

By: ajay khare

Updated: 12 Feb 2021, 09:53 PM IST

narsinghpur/तेंदूखेड़ा. कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन तथा किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर तेंदूखेड़ा विधायक संजय शर्मा ने गुरुवार को ग्राम बटेसरा से गाडरवारा तक लगभग 35 किलोमीटर की दो दिवसीय पद यात्रा शुरू की। इस अवसर पर बटेसरा में सभा को संबोधित करते हुए गाडरवारा विधायक सुनीता पटैल ने कहा कि आज संपूर्ण प्रदेश में अराजकता का माहौल बना हुआ है। प्रशासन के माध्यम से सही बोलने वाले लोगों की आवाज दबाई जा रही है। किसानों के अधिकारों को लेकर इस लड़ाई का शंखनाद विधायक संजय शर्मा ने किया है, किसानों के साथ यह यात्रा भोपाल तक ले जाएंगे

नुक्कड़ सभाओं में मोदी और अमित शाह को कोसा
सरस्वती और नर्मदा पूजन से प्रारंभ हुई पदयात्रा मेंं कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी सीपी मित्तल, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति सहित बड़ी संख्या में जिले के कांग्रेस कार्यकर्ता एवं किसान शामिल हुए। बटेसरा से शुरू हुई पद यात्रा करपगांव, नारगी, पनारी पहुंची जहां नुक्कड़ सभाएं की गईं। पहले दिन की यात्रा को सीहोरा में विश्राम दिया गया। यात्रा का जगह जगह जोरदार स्वागत हुआ। मित्तल ने पदयात्रा की सराहना करते हुए 26 जनवरी की घटना को किसान आंदोलन को दबाने की साजिश बताया और कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह मिलकर संपूर्ण देश को बर्बाद करने पर तुले हुए हंै। सुनियोजित तरीके से षडयंत्र पूर्वक देश को बेचने की साजिश चल रही है। पूर्व अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने कहा कि सफेद झूठ बोलने वाले प्रधानमंत्री ने अपनी सफेद दाढ़ी भी बढ़ा रखी है। 80 दिनों से आंदोलन कर रहे किसानों ने केवल बिल वापस लेने की बात कही है, तो सरकार मानने तैयार क्यों नहीं है। राम मंदिर निर्माण के नाम पर वर्षों पूर्व 14 हजार करोड़ एकत्रित किये गये थे उसका हिसाब भाजपा क्यों नहीं देना चाहती।
हम किसानों की लड़ाई लड़ रहे
विधायक संजय शर्मा ने कहा किसानों की समस्याओं को लेकर शुरू की गई इस पदयात्रा का मूल उद्देश्य किसानों का समर्थन और किसानों पर हो रहे अत्याचारों को दूर करना है। आज संपूर्ण देश में प्रधानमंत्री की मनमानी चल रही है। कभी नोटबंदी तो कभी जीएसटी के माध्यम से लोगों को छला गया। इस देश को अडानी और अंबानी के लिए गिरवी रख दिया गया है। आंदोलन के दौरान शहीद हुए किसानों को श्रद्धांजलि देना भाजपा को नागवार गुजरता है। भारत की संसद में बैठे सांसदों को अब किसानों की वेदना भी नहीं दिख रही है। सब के सब चुप और मौन होकर बैठ गये हंै। किसानों के समर्थन में जो भी कदम उठाना पड़ेंगे उसके लिए तेंदूखेड़ा क्षेत्र की जनता और कांग्रेस के कार्यकर्ता तैयार हंै। नुक्कड़ सभाओं को पूर्व सांसद एवं वरिष्ठ कांगे्रस नेता रामेश्वर नीखरा, दीवान शैलेंद्र सिंह, संदीप पटैल, सुनील जैन, प्रदीप रघुवंशी, अजय गुप्ता, सहित विभिन्न वक्ताओं ने संबोधित किया।

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned