मंदिर निर्माण होने तक अयोध्या में स्वर्ण मंदिर में विराजेंगे रामलला

बगासपुर में आयोजित धर्मकथा में बोले शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती

गोटेगांव. शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने बुधवार शाम को बगासपुर में आयोजित धर्मसभा को संबोधित करते हुए कहा कि जब तक अयोध्या में भव्य मंदिर निर्माण नहीं हो जाता तब तक भगवान रामलला को तिरपाल की जगह कनक (स्वर्ण) मंदिर में विराजमान करने के लिए कार्य प्रारंभ करवा दिया गया है। जैसे ही कनक मंदिर का निर्माण हो जाएगा वैसे ही भगवान को तिरपाल की जगह कनक मंदिर में विराजमान कराया जाएगा।
शंकराचार्य ने कहा कि जो भगवान को स्मारक के रूप में मान रहे हैं वह भव्य मंदिर का निर्माण नहीं कर सकते हैं इसलिए रामालय ट्रस्ट को भव्य मंदिर निर्माण करने के लिए दायित्व सौंपा जाए। उन्होंने कहा कि वहां पर मस्जिद नहीं थी अपितु तोडऩे वालों ने मंदिर को ही तोड़ा है। मस्जिद को नहीं तोड़ा गया है इसलिए राम जन्मभूमि स्थल पर मस्जिद नहीं बनेगी सिर्फ भगवान राम का ही मंदिर बनेगा। शंकराचार्य ने फैसला आने के बाद पुनरीक्षित याचिका दायर करना गलत बताया।

abishankar nagaich
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned