यहां जनता के सेवक ही उन्हें बना रहे बीमार, ये है वजह

यहां जनता के सेवक ही उन्हें बना रहे बीमार, ये है वजह

deepak deewan | Publish: Sep, 11 2018 10:16:22 AM (IST) Narsinghpur, Madhya Pradesh, India

यहां जनता के सेवक ही उन्हें बना रहे बीमार, ये है वजह

गाडरवारा। हाल ही में हुई झमाझम बरसात के कारण शहर में म‘छरों का प्रकोप भी बढ़ गया है। इससे मौसमी बीमारियों ने पैर पसार लिए हैं। इनमें वायरल फीवर, सर्दी-जुकाम के साथ मलेरिया के मरीजों में इजाफा देखा जा रहा है। सरकारी अस्पताल से लेकर प्राइवेट दवाखानों पर मरीजों की बढ़ती संख्या से इसका सहज अंदाजा लगाया जा सकता है। शहर से अधिक ग्रामीण अंचलों में म‘छरों का प्रकोप बताया जा रहा है। गांवों में जहां-तहां भरे पानी के डबरे, क‘‘ाी नाली में ठहरा पानी म‘छरों के पनपने की अ‘छी जगहें होती हैं। दूसरी ओर संबंधित विभागों द्वारा म‘छरों के उन्मूलन के उपायों की कोई खबर नहीं है जबकि क्षेत्र मलेरिया रोग के प्रति बेहद संवेदनशील क्षेत्र में शामिल है।

चिकित्सक डॉ. योगेश कौरव ने बताया कि बरसात में संक्रामक बीमारियों का प्रकोप बढ़ जाता है। इसके साथ ही म‘छर बढऩे से मलेरिया के रोगी भी बढ़ते हैं। अभी वायरल फीवर के साथ अनेक प्रकार के संक्रामक रोगों के मरीज आ रहे हैं। कुछ लोगों की ब्लड रिपोर्ट मलेरिया पाजीटिव पाई जा रही है। उन्होंने म‘छरों से बचने के लिए पर्याप्त कपड़े पहनने, म‘छरदानी लगाकर सोने, म‘छर रोधी अगरबत्ती, अगरबत्ती आदि लगाने एवं बीमार होने पर तत्काल उपचार की सलाह दी है।

स्वास्थ्य विभाग अब तक बना उदासीन
लाखों की संख्या में बढ़़ती म‘छरों की तादाद को रोकने के लिए न तो दवाइयों का छिडक़ाव किया जाता है और ही फॉगिंग माशीन का उपयोग। पिछले साल भी सरपंच द्वारा फॉगिंग मशीन चलाने की मांग कीगई थी पर विभाग द्वारा नजरअंदाज कर दिया गया था। इसके कारण मलेरिया से कई परिवार के लोग बीमार रहे। इनमें से जहां कुछ लोग स्थानीय अस्पतालों में इलाज कराते रहे और अनेक अन्य शहरों में। स्थानीय लोगों ने जल्द म‘छरों की रोकथाम के लिए दवाई का छिडक़ाव कराने की मांग स्वास्थ विभाग से की है।

Ad Block is Banned