मोटिवेशनल स्टोरी-दुर्गम पहाड़ी क्षेत्रों में पहुंचकर कर किया जा रहा वैक्सीनेशन

कोरोना से बचाव के लिए कोविड वैक्सीनेशन ही सबसे बड़ा ब्रह्मास्त्र है। हर व्यक्ति को इसका टीका लगवाना जरूरी है। शासकीय अमला इसमें जी जान से लगा है।

By: ajay khare

Published: 14 Sep 2021, 09:35 PM IST

नरसिंहपुर. कोरोना से बचाव के लिए कोविड वैक्सीनेशन ही सबसे बड़ा ब्रह्मास्त्र है। हर व्यक्ति को इसका टीका लगवाना जरूरी है। शासकीय अमला इसमें जी जान से लगा है। कोविड टीकाकरण को सफल बनाने के लिए स्वास्थ्य अमला एवं अन्य अधिकारी कर्मचारी सौंपे गए कार्यों का निर्वहन पूरी जिम्मेदारी से कर रहे हैं । टीकाकरण से जुड़ी टीम नदी, नालों, पहाड़ों से होते हुए लोगों के घर,द्वार,खेत,खलिहान तक पहुंच कर वैक्सीनेशन कर रही हंै। जिसका सकारात्मक परिणाम भी जिले को प्राप्त हो रहा है। सोमवार को चीचली जनपद के दूरस्थ दुर्गम पहाड़ी क्षेत्रों के टीकाकरण केंद्रों पर एएनएम, आंगनवाड़ी सहायिका, आशा कार्यकर्ता,ग्राम रोजगार सहायक पहुंचे। यहां टीम ने गोटीटोरिया के आदिवासियों का टीकाकरण किया। टीकाकरण केंद्र पटकना, कुकडीपानी, भातोर में महेश पटेल सेक्टर,सुपरवाइजर,राधा ठाकुर,आशा, गोमती तोमर ,आशा, मीरा बाई भरिया,आगनवाड़ी सहायिका,जीवन लाल बिरनवार ,शिक्षक,रामेश्वर मेहरा ,शिक्षक ,भोजराज यादव,सचिव ने और टीकाकरण स्थल तलैया, बडागांव, कुम्भीखेडा में टेकसिंह मुडिया एमपीडब्ल्यू, कृष्णा धानक ,आशा पर्यवेक्षक त्रिवेणी मेहरा आशा सरोज वंशकार,आगनवाड़ी कार्यकर्ता लक्ष्मी प्रसाद विश्वकर्मा शिक्षक पोहूप सिंह जीआरएस ने टीकाकरण कराया।
---------------------------------------------------------------------------------------

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned