आदिवासी गीतों पर झूमे, शंकराचार्य से लिया आशीर्वाद

आदिवासी गीतों पर झूमे, शंकराचार्य से लिया आशीर्वाद

Sanjay Kumar Tiwari | Publish: Apr, 06 2018 12:25:59 AM (IST) Narsinghpur, Madhya Pradesh, India

9 अप्रेल को बरमान घाट में पूरी होगी नर्मदा परिक्रमा यात्रा

गोटेगांव। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह ने शिवराज सरकार आदिवासियों की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहा कि वे आदिवासी बाहुल्य गोटेगांव क्षेत्र में निर्मित अस्पताल १५ साल में शुरू नहीं कर सके। परमहंसी गंगा आश्रम पहुंचने पर मीडिया से चर्चा में उन्होंने कहा कि झोतेश्वर में आदिवासियों के लिए बनाया गया अस्पताल अब तक शुरू नहीं हो सका है। उन्होंने कहा कि शिव के राज में सरकारी धन का दुरुपयोग हो रहा है। उन्होंने बताया कि ९ अप्रेल को शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के सानिध्य में बरमान घाट पर उनकी यात्रा पूर्ण होगी। शंकराचार्य स्वरूपानंद ने यात्रा पूर्ण होने के अवसर पर शामिल होने की सहमति दे दी है। उल्लेखनीय है कि २० सितम्बर को उन्होंने बरमान घाट से सपत्नीक यात्रा की प्रारंभ की थी।

बुधवार की शाम परमहंसी गंगा आश्रम के जंगलों से होती हुई यात्रा शंकराचार्य के आश्रम स्थल पर पहुंची जहां पर ङ्क्षसह ने शंकराचार्य का पुष्प माला एवं शाल श्रीफल अर्पित कर आर्शीवाद प्राप्त किया। आश्रम आने के पूर्व मार्ग में आदिवासियों ने पंरपरागत गीत गाकर उनका स्वागत किया। आदिवासियो के साथ दिग्विजय भी संगीत की धुन पर झूमते रहे। झोतेश्वर विश्राम गृह में रात्रि विश्राम के बाद उन्होंने श्रीनगर के लिए यात्रा आरंभ की। यात्रा के दौरान महामंडलेश्वर आचार्य रामकृष्णानंद भी पैदल आए। श्रीनगर पहुंचने पर नपा अध्यक्ष मालती बिलवार ने उनका स्वागत किया। गांव के लोगों ने दीप कलश के साथ परिक्रमा पथिकों का अभिनंदन किया। उन्होंने श्रीनगर के जगदीश मंदिर में पूजा अर्चना भी की। वे नहर के रास्ते देवनगर के लिए रवाना हुए यहां दोपहर विश्राम के बाद इमलिया होते हुए मानेगांव में रात्रि पड़ाव कर रहे हैं। शुक्रवार को मानेगांव से करकबेल, मचवारा, खापा होते हुए धमना गांव पहुंचेंगे जहां पर वे रात्रि विश्राम करेंगे। यात्रा में स्थानीय नेता व पूर्व मंत्री एनपी प्रजापति, विभाष जैन, सुरेन्द्र राय, आदि चल रहे हैं।

पैर फिसलने से रामेश्वर नीखरा घायल
दिग्विजयङ्क्षसह की नर्मदा परिक्रमा यात्रा में शुरूआत से ही साथ चल रहे पूर्व सांसद रामेश्वर नीखरा श्रीनगर से देवनगर नहर के रास्ते चल रहे थे कि रास्ते मे उनका पैर फिसल गया। उनके एक पैर और बाएं हाथ की हथेली में चोट आई। इसके बावजूद उन्होंने यात्रा जारी रखी बाद में देवनगर पहुंचने पर डॉक्टर ने मरहम पट्टी की।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned