परिवहन न होने से अब दोबारा सूचना की बन रही स्थिति, किसानों में आक्रोश व्याप्त

नरसिंहपुर। जिले में समर्थन मूल्य पर चना, मसूर व अन्य जिन्सों की खरीदी को लेकर परेशानी की स्थिति बन रही है। खरीदी केन्द्रों से स्टॉंक का उठाव कर परिवहन

By: ajay khare

Published: 24 May 2018, 09:22 PM IST

नरसिंहपुर। जिले में समर्थन मूल्य पर चना, मसूर व अन्य जिन्सों की खरीदी को लेकर परेशानी की स्थिति बन रही है। खरीदी केन्द्रों से स्टॉंक का उठाव कर परिवहन न होने से किसानों को दोबारा सूचना देने की बात कही जा रही है। बीते दिनों नरसिंहपुर तथा गुरूवार को गाडवारा मंडी के किसानों को बाद में सूचना के आधार पर उपज लाने के लिए कहा गया है। इन हालात के चलते उपज लेकर आने वाले किसानों में आक्रोश व्याप्त हो रहा है।
उल्लेखनीय है कि डीएमओ कार्यालय द्वारा परिवहन व्यवस्था सुचारू होने का दावा खोखला साबित हुआ है। एक सप्ताह से खरीदी केन्द्रों से स्टॉक उठाने के लिए आनलाइन दस्तावेज तैयार नहीं होने से लाखों क्विंटल उपज जमा हो गई है। इन हालात के चलते नरसिंहपुर मंडी में उपज रखी होने से तौल की व्यवस्था लडख़ड़ा गई है।
खरीदी केन्द्रों पर बड़ी संख्या में ट्रेक्टर ट्राली से उपज लेकर सूचना के आधार पर किसान पहुंच रहे हैं। हालात यह है कि नरसिंहपुर मंडी में 200 से अधिक ट्रेक्टर 3 खरीदी केन्द्रों पर एकत्र है। जिससे किसान की उपज तुलने में 2-3 दिन का समय लग रहा है। इस स्थिति के चलते किसानों में असंतोष पनप रहा है। उपज की तुलाई को लेकर बीते 5-6 दिनों से छुटपुट विवाद भी हो रहे हैं। किसान खरीदी केन्द्रों के कर्मचारियों पर पक्षपात का आरोप भी लगा रहे हैं।
नरसिंहपुर कृषि उपज मंडी के लिए 23 मई को जारी एसएमएम वाले किसानों को जहां 26 मई के बाद आने के लिए विज्ञप्ति जारी की गई थी। वहीं गुरूवार को अनुविभागीय अधिकारी गाडरवारा ने जारी विज्ञप्ति में कृषि उपज मंडी में अनाज की अधिक आवक होने के मद्देनजर कहा गया है कि किसानों को 25 व 26 मई को गाडरवारा कृषि उपज मंडी में लाने के लिए एसएमएस किया गया था, वे किसान अब अपनी उपज गाडरवारा मंडी में बाद में लायें। उन्हें मंडी में आने की तारीख का एसएमएस बाद में भेजा जाएगा।

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned