अस्पताल में अटा पड़ा कचरा, बदबू से बेहाल मरीज

अस्पताल में अटा पड़ा कचरा, बदबू से बेहाल मरीज

Ajay Khare | Publish: Sep, 03 2018 10:38:30 PM (IST) Narsinghpur, Madhya Pradesh, India

नरसिंहपुर। जिला अस्पताल के हालात लाख कोशिशों के बाद भी जस के तस बने हुए हंै। स्वच्छता के रोगी कल्याण समिति में किए गए दावों की कलई अस्पताल में अटा पड़ा कचरो का ढेर खोल रहा है। कचरे से उठने वाली दुर्गंध की वजह से मरीजों का हाल बेहाल हो रहा है।

नरसिंहपुर। जिला अस्पताल के हालात लाख कोशिशों के बाद भी जस के तस बने हुए हंै। स्वच्छता के रोगी कल्याण समिति में किए गए दावों की कलई अस्पताल में अटा पड़ा कचरो का ढेर खोल रहा है। कचरे से उठने वाली दुर्गंध की वजह से मरीजों का हाल बेहाल हो रहा है। बीते दिनों हुई बारिश के दौरान मिनी ओटी की दीवार में करंट दौडऩे की स्थिति को लेकर सावधानी का बोर्ड चस्पा कर किसी तरह काम चल रहा है।
उल्लेखनीय है कि बीते दिनों हुई रोगी कल्याण समिति की बैठक में यह चर्चा हुई थी कि नगरपालिका द्वारा सप्ताह में दो दिन सफाई में सहयोग किया जाए। जिसके चलते अस्पताल के सफाई कर्मी निश्चित होकर यहां वहां कचरा फेंककर अपनी ड्यूटी पूरी कर रहे हैं, जिसका खामियाजा मरीज व परिजन बदबू के रूप में झेलने मजबूर हैं।
अस्पताल परिसर की सफाई व कचरा उठाने के लिए नगरपालिका के कर्मचारियों का एक दिन निश्चित था जिसके चलते पूर्व में अस्पताल के सफाई कर्मी पोस्टमार्टम गृह के सामने एक स्थान पर कचरा एकत्र करते थे। अब हाल यह है कि जहां मर्जी हो रही है वहीं कचरा फेंक देते है। अस्पताल के क्षय रोग विभाग के भवन के सामने सड़क पर ही कचरा फेंक दिया गया। वहीं अस्पताल के बेस्ट को एक निश्चित जगह एकत्र न करके वहीं छोडऩे से संक्रमण का खतरा भी बढ़ रहा है।
नगरपालिका के सूत्रों का कहना है कि पहले क्षय रोग विभाग के पीछे की तरफ एक कमरे में अस्पताल का कचरा एकत्र होता था, जिसे उठवाकर फेंक दिया जाता था। बीते दिनों हुई बारिश के दौरान कचरा सड़क किनारे पड़ा रहा गीला होने की वजह से इसका उठाव होना मुमकिन नहीं था, कमरे का कचरा विधिवत उठाया गया है।
बीते सप्ताह के दौरान हुई झमाझम बारिश से जहां वार्डो में पानी भरा था। वहीं अस्पताल के पुराने भवन में बनी मिनी ओटी की दीवार करंट मारने लगी है। ओपीडी के दौरान मरहम पट्टी कराने या फिर रात में दुर्घटना में घायलों का यही प्रथम उपचार होता है। यहां दीवार में करंट आने की वजह से कर्मचारी परेशान है। इस स्थिति में सुधार नहीं हो पाने की वजह से यहां तैनात कर्मचारियों ने एक बोर्ड ही चस्पा कर दिया है कि कृपया दीवार न छुएं दीवार में करंट है सावधान।
इनका कहना है
रोगी कल्याण समिति की बैठक में यह तय हुआ कि नगरपालिका सप्ताह में दो दिन सफाई में सहयोग करेगी। अस्पताल के सफाई कर्मियों को निर्देशित किया जाएगा कि वे यथास्थान कचरा एकत्र करें ताकि सफाई व्यवस्था दुरूस्त रहे।
डाक्टर विजय मिश्रा
सिविल सर्जन जिला अस्पताल नरसिंहपुर

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned