गणेशोत्सव को तैयार, कलाकार की आस्था ले रही आकार

गणेशोत्सव को तैयार, कलाकार की आस्था ले रही आकार

Ajay Khare | Publish: Sep, 09 2018 10:51:38 PM (IST) Narsinghpur, Madhya Pradesh, India

नरसिंहपुर। इन दिनों कलाकारों की आस्था आकार ले रही है। मूर्तिकारों द्वारा गणेश मूर्तियां तैयार करने के बाद उन्हें अंतिम रूप दिया जा रहा है। भगवान श्रीगणेश की आराधना 13 सितंबर से शुरू होगी। जैसे-जैसे गणेश चर्तुर्थी का दिन नजदीक आते ही कलाकार भी अपने पूरे परिवार के साथ मूर्तियां बनाने में जुटे हुए हैं। वहीं जिले में गणेशोत्सव के लिए पंडाल तैयार करने के काम भी शुरू हो गए है।

नरसिंहपुर। इन दिनों कलाकारों की आस्था आकार ले रही है। मूर्तिकारों द्वारा गणेश मूर्तियां तैयार करने के बाद उन्हें अंतिम रूप दिया जा रहा है। भगवान श्रीगणेश की आराधना 13 सितंबर से शुरू होगी। जैसे-जैसे गणेश चर्तुर्थी का दिन नजदीक आते ही कलाकार भी अपने पूरे परिवार के साथ अधिक से अधिक गणेश मूर्तियां बनाने में जुटे हुए हैं। वहीं जिले में गणेशोत्सव के लिए पंडाल तैयार करने के काम भी शुरू हो गए है।
नगर सहित जिले भर में भी गणोशोत्सव समितियों के द्वारा तैयारियां की जाने लगी हैं। नगर के मूर्तिकार राकेश महोबिया अपने परिवार के साथ छोटी से लेकर बड़ी गणेश मूर्तियां बना रहे हैं। उनके पास हर वैरायटी की आकर्षक मूर्तियां उपलब्ध हैं। जानकारी के अनुसार इस बार गणेश मूर्तियों पर भी महंगाई का असर दिखाई देगा। पहले की अपेक्षा इस बार मूर्तियां कुछ फीसदी महंगी मिलेंगी। मूर्तिकार के अनुसार उनकी बनाई हुई गणेश मूर्तियों की मांग नगर और उसके आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में रहती है। कुछ सालों से रंग और सामान की कीमत बढ़ रही है। मेहनत के हिसाब से कारीगरों को मेहनताना तक नहीं मिल पा रहा है। मूर्तिकार ने बताया कि कम लाभ होने के बावजूद इस पुश्तैनी काम को बंद करने का मन नहीं बना पाते हैं।
शहर में ज्यादातर लोग पीओपी की मूर्तियां खरीदते रहे हैं। शासन प्रशासन की कोशिशों के बावजूद छोटी मूर्तियां पीओपी की भी बाजार में बिकने आती है। पहले इस पर 8 फीसदी टैक्स लगता था, लेकिन अब 12 फीसदी जीएसटी और जुड़ गया है। जिससे मूर्तियों की कीमत बढ़ेगी।
मलेरिया रोकने कराया होम्योपैथिक दवाई का सेवन
नरसिंहपुर। राज्य शासन के आयुष विभाग द्वारा आयुष मलेरिया रोग नियंत्रण कार्यक्रम 2018 के अंतर्गत मलेरिया की रोकथाम के लिए जिले में लोगों को होम्योपैथिक औषधि मलेरिया ऑफ. 200 का सेवन कराया जा रहा है। जिला आयुष अधिकारी डाक्टर उपेन्द्र सिंह धुर्वे ने बताया कि मलेरिया की रोकथाम के लिए जिले के सालीचौका अंचल के 51 गांवों में दूसरे चरण में 22 अगस्त को 30 हजार 261 लोगों को, 27 अगस्त को 31 हजार 80 लोगों को और 5 सितम्बर को 31 हजार 594 लोगों को होम्योपैथिक औषधि का सेवन कराया गया। उन्होंने बताया कि पहले चरण में 29 जून को 21 हजार 149 लोगों कोए 6 जुलाई को 24 हजार 917 लोगों को और 13 जुलाई को 27 हजार 393 लोगों को होम्योपैथिक औषधि का सेवन कराया जा चुका है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned