सफाई कर्मी प्रमोद को लगाया पहला टीका, लोगों ने तालियां बजाकर किया स्वागत

जिले में कोविड 19 टीकाकरण अभियान का शुभारंभ जिला चिकित्सालय में ब्लड बैंक के सफाई कर्मी प्रमोद कुमार गोहर को लगा कर किया गया।

By: ajay khare

Published: 16 Jan 2021, 10:41 PM IST

नरसिंहपुर. जिले में कोविड 19 टीकाकरण अभियान का शुभारंभ जिला चिकित्सालय में ब्लड बैंक के सफाई कर्मी प्रमोद कुमार गोहर को लगा कर किया गया। गौरतलब है कि एक दिन पूर्व सीएमचओ डॉ.पीसी आनंद के बताए अनुसार पहला टीका स्वास्थ्यकर्मी रुद्र प्रताप सिंह को लगाया जाना था पर बाद में इसे सफाई कर्मी को लगाए जाने का निश्चय किया गया और फिर इसे प्रमोद को लगाया गया। प्रमोद को यह टीका एएनएम रंजुला चौरसिया ने लगाया। इस मौके पर कलेक्टर वेद प्रकाश, सीएमएचओ डॉ. पीसी आनंद एवं सिविल सर्जन डॉ. अनीता अग्रवाल मौजूद थी। सिविल सर्जन डॉ. अनीता अग्रवाल ने बताया कि दूसरा टीका जिला अस्पताल में गार्ड के पद पर कार्यरत गगन राय को, तीसरा टीका जिला चिकित्सालय के डॉ.राहुल नेमा को और चौथा टीका स्वास्थ्य कर्मी रबीता को लगाया गया। टीकाकरण शुभारंभ अवसर पर जिला चिकित्सालय परिसर में मिष्ठान भी वितरित किया गया। कलेक्टर वेद प्रकाश ने टीकाकरण स्थल पर मौजूद रहकर पूरी प्रक्रिया का बारीकी से मुआयना किया। टीकाकरण के लिए वैक्सीन रखने के लिए कोल्ड स्टोरेज स्थल, टीकाकरण कराने के लिए आने वाले लोगों के प्रवेश के दौरान उनकी पहचान, सेनेटाईजेशन, टीकाकरण स्थल, निगरानी कक्ष, प्रतीक्षा कक्ष, आब्जर्वेशन कक्ष, एडवर्स इवेंट फालोइंग इम्युनाईजेशन, एईएफआई कक्ष की व्यवस्थाओं का मुआयना किया।
प्रधानमंत्री का संबोधन सुना
राष्ट्रव्यापी कोविड 19 टीकाकरण अभियान के शुभारंभ के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन का एलईडी पर सीधा प्रसारण जिला चिकित्सालय परिसर में किया गया। इस प्रसारण को मौजूद जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, डॉक्टरों, स्वास्थ्य विभाग के अमले और नागरिकों ने देखा व सुना।
-----------------
टीका लग गया अब कोरोना संक्रमण का डर नहीं- प्रमोद
जिले में पहला टीका लगवाने वाले 45 वर्षीय प्रमोद कुमार गोहर को टीका लगने के बाद आधे घंटे आब्जर्वेशन में रखा गया। टीका लगने के आधे घंटे बाद जब प्रमोद से पूछा गया कि उन्हें कैसा लग रहा है, तो उन्होंने कहा कि वे पहले जैसा ही महसूस कर रहे हैं। उन्हें कोई समस्या नहीं हुई। वे पूरी तरह सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। पहले उन्हें जिला चिकित्सालय में अपनी ड्यूटी के दौरान मन में शंका बनी रहती थी कि कहीं वे कोरोना से संक्रमित न हो जायें। उन्हें कोरोना का टीका लगने का एसएमएस मिला तो उन्हें बहुत अच्छा लगा। जिले में पहला टीका लगने पर वे गर्व महसूस कर रहे हैं। जब ताली बजाकर टीकाकरण का स्वागत किया, तो उन्हें मन में बहुत खुशी हुई। प्रमोद ने कहा कि अब 28 दिन बाद वे कोरोना का दूसरा टीका भी लगवायेंगे और गाइड लाइन का कड़ाई से पालन करेंगे। प्रमोद ने कहा कोविड 19 का टीका देश के वैज्ञानिकों की मेहनत का नतीजा है।
------------------
पहले चरण में 405 हेल्थ वर्कर्स को लगेगा टीका
टीकाकरण के पहले चरण में जिले में 405 हेल्थ वर्कर्स को कोरोना का टीका लगाया जायेगा। अभियान के पहले 16 जनवरी को लगभग 100 हेल्थ वर्कर्स के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया । पहले चरण का टीकाकरण एक सप्ताह में पूर्ण किया जायेगा। इस पहले सप्ताह में 4 दिन सोमवार, बुधवार, गुरुवार एवं शनिवार को टीकाकरण होगा। को विन पोर्टल पर दर्ज हेल्थ केयर वर्कर्स को ही टीका लगाया जा रहा है। इस पोर्टल पर 6 हजार 199 हेल्थ वर्कर्स का डाटा दर्ज ह। टीकाकरण के लिए संभागीय वैक्सीन स्टोर्स से कोविशील्ड वैक्सीन के 7 हजार 340 डोज प्राप्त हुये हैं।
--------------------------
२३ मई को मिला था कोरोना का पहला मरीज
२३ मई को यहां लॉक डाउन के ६३ वें दिन कोरोना का पहला मरीज मिला था। जिसने पूरे जिले को चौंका दिया। अहमदाबाद से यहां आए एक व्यक्ति को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। यह व्यक्ति सूरत की एक डायमंड फैक्टरी में काम करता था। जिसके बाद उसके संपर्क में आए अन्य लोगों में कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई थी।
नरसिंहपुर में पकड़ा गया जबलपुर से भागा कोरोना मरीज
भोपाल में डॉक्टरों के हमले का आरोपी कोरोना पॉजिटिव जावेद १९ अप्रेल को मेडिकल कॉलेज जबलपुर से भाग निकला था पर उसे अगले दिन २० अपे्रल को नरसिंहपुर जिले के तेंदूखेड़ा की सीमा पर पुलिसकर्मियों ने दबोच लिया। कोरोना से जुड़ी यह एक बड़ी खबर थी जिसने पूरे देश का ध्यान नरसिंहपुर की ओर खींचा था।
पहला मरीज पवन राजपूत,डॉ.अमित चौकसे ने किया था उपचार
जिला अस्पताल में कोरोना के पहले मरीज पवन राजपूत को भर्ती कराया गया था ।जिसका इलाज डॉ.अमित चौकसे ने किया था। डॉ. चौकसे ने लगातार कोरोना मरीजों के उपचा की जिम्मेदारी संभाली। शासन ने इसके लिए उन्हें सम्मानित किया है।
कोरोना सेे पहली मौत १३ जुलाई को
जिले में १३ जुलाई को कोरोना से पहली मौत पहलवानों के खलीफा की हुई थी। ९० साल का खलीफा अहमदाबाद से कोरोना संक्रमित होकर यहां आया था। जिसका कोरोना प्रोटोकाल के तहत अंतिम संस्कार किया गया था।

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned