गोलियों की गूंज के बीच चल रहा रेत खनन व स्टाक का अवैध कारोबार

रेत के खनन और परिवहन के लिए जिन घाटों पर रोक लगी है वहां रेत माफिया की सक्रियता और खनिज विभाग द्वारा कोई कार्रवाई न किए जाने से रात दिन रेत का अवैध कारोबार चल रहा है वहीं दूसरी ओर रेत के काले कारोबार को लेकर अब माफिया गुटों मेें टकराव बढ़ रहा है।

By: ajay khare

Published: 23 Oct 2020, 09:43 PM IST

नरसिंहपुर. रेत के खनन और परिवहन के लिए जिन घाटों पर रोक लगी है वहां रेत माफिया की सक्रियता और खनिज विभाग द्वारा कोई कार्रवाई न किए जाने से रात दिन रेत का अवैध कारोबार चल रहा है वहीं दूसरी ओर रेत के काले कारोबार को लेकर अब माफिया गुटों मेें टकराव बढ़ रहा है। रेत घाटों पर अब बंदूकों की गूंज सुनाई देने लगी है। जिससे क्षेत्र में शांति भंग होने की स्थिति बन रही है। चीचली थानांतर्गत दुधि नदी के दिघोरी तट में शुक्रवार सुबह अवैध खनन को लेकर दो पक्षों में झगड़े के बाद फायरिंग की खबर सामने आई है। घटना में एक व्यक्ति घायल भी हुआ। घायल व्यक्ति के मुताबिक दहशत फैलाने के लिए रेत माफिया ने पांच हवाई फायर किए थे।
दुधि नदी के तट पर स्वीकृत खदान नहीं
गौरतलब है कि चीचली के दूरस्थ गांव दिघोरी में दुधि नदी के तट पर किसी तरह की कोई रेत खदान स्वीकृत नहीं है। इसके बावजूद यहां पर रात दिन हैवी अर्थमूवर मशीनों का उपयोग कर बड़े पैमाने पर रेत का अवैध खनन किया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक शक्रवार सुबह दुधि नदी में पोकलेन लगाकर माफिया द्वारा अवैध खनन कराया जा रहा था। इस बात की जानकारी लगने पर कुछ ग्रामीण मौके पर पहुंचे तो रेत माफिया से विवाद हुआ। विवाद में घायल गोलू गुर्जर ने गाडरवारा अस्पताल में इलाज के दौरान मीडिया को बताया कि दूसरे पक्ष के लोगों ने दहशत फैलाने के लिए बंदूक से फायर किए उसके शरीर के आसपास से गोलियां निकल गर्इं। इसके अलावा उसके साथ मारपीट की गई। इस पूरे घटनाक्रम में गोलू गुर्जर व अन्य लोगों को भी चोटें आई हैं। विवाद और फायरिंग की जानकारी मिलने पर चीचली थाने के दो तीन पुलिसकर्मी घटनास्थल के लिए रवाना हुए। मौके पर बेहोशी की हालत में एक युवक मिला। जबकि दूसरे व्यक्ति के शरीर पर चोटें थीं। घटनास्थल पर खून के निशान भी थे।
मौके पर पहुंंची एसडीओपी
फायरिंग की जानकारी चीचली थाना प्रभारी अजय खोब्रागड़े ने वरिष्ठ अधिकारियों को दी। पुलिस अधीक्षक अजय सिंह के निर्देश पर एसडीओपी गाडरवारा मेहंती मरावी मौके पर पहुंचीं। यहां उन्होंने घायलों से बयान लिए और चीचली थाने बुलाया। हालांकि शाम तक कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गई। एसडीओपी के मुताबिक प्रारंभिक बयानों में गोली चलने की पुष्टि हुई है। फिलहाल दिघोरी समेत आसपास के गांवों में पुलिस सतर्क है और नजर रखे हुए है।
करीब एक करोड़ की रेत का अवैध रेत भंडार
जानकारी के अनुसार खनिज निगम ने जिले की कुल 36 खदानों को रेत खनन के लिए धनलक्ष्मी कंपनी को लीज पर दिया है। इसके बावजूद नर्मदा सहित अन्य सहायक नदियों से रेत माफिया द्वारा १०० से २०० मीटर की दूरी पर रेत का अवैध खनन किया जा रहा है। दुधि नदी के तट के आसपास करीब एक करोड़ की रेत का अवैध स्टाक किया गया है। जानकारी होने के बावजूद खनिज विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा। दूसरी ओर शगुन व कुड़ी घाट से लाखों की रेत के अवैध स्टाक गायब होने के मामले में भी विभाग ११ दिन बाद भी कोई कार्रवाई नहीं कर सका।
वर्जन
दिघोरी में झगड़े की सूचना मिली थी। चीचली थाने के सिपाहियों ने बयान लिए हैं, एसडीओपी गाडरवारा मामले की जांच कर रहीं हैं। एहतियात के तौर पर घटनास्थल व आसपास के गांवों पर नजर रखी जा रही है।
अजय सिंह, एसपी
--------
वर्जन
इस मामले में हमारी ओर से आवश्यक जांच एवं कार्रवाई की जाएगी।
वेद प्रकाश कलेक्टर

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned