scriptSchool children being buried under the burden of bags, the education d | बस्ते के बोझ से दबे जा रहे स्कूली बच्चे शिक्षा विभाग नहीं कर रहा बस्तों की जांच | Patrika News

बस्ते के बोझ से दबे जा रहे स्कूली बच्चे शिक्षा विभाग नहीं कर रहा बस्तों की जांच

स्कूल शिक्षा विभाग ने 29 अगस्त को दिया था बस्ते का वजन कम करने का निर्देश

नरसिंहपुर

Published: September 09, 2022 10:13:21 pm

नरसिंहपुर. स्कूली शिक्षा विभाग ने बच्चों के कंधे का बोझ कम करने के लिए कक्षावार स्कूल बैग का वजन तय कर दिया है। इस संबंध में २९ अगस्त को आदेश जारी किया था। दस दिन बाद भी यहां बच्चों के बस्तों का बोझ कम करने शिक्षा विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं की है। जिसकी वजह से नौनिहाल अपनी पीठ पर ५ से १० किलो के बस्ते ढोने के लिए मजबूर हो रहे हैं।
२.२ किलो से ४.५ किलो तक वजन निर्धारित
29 अगस्त को स्कूल शिक्षा विभाग भोपाल से जारी आदेश में स्पष्ट किया गया था कि पहली व दूसरी कक्षा के बच्चों को 2.2 किलो से अधिक वजन का बैग नहीं दें। वहीं तीसरी, चौथी व पांचवी कक्षा के बच्चों के स्कूल बैग का अधिकतम वजन 2.5 किलो तय किया गया है। इसके साथ ही 10वीं तक के बच्चों के स्कूल बैग का वजन ४.५ किलो निर्धारित किया गया है। साथ में यह भी निर्देशित किया गया है कि पहली व दूसरी के बच्चों को होमवर्क न दिया जाए। राज्य शासन द्वारा निर्धारित एवं एनसीईआरटी द्वारा नियत पुस्तकों से अधिक पुस्तकें विद्यार्थियों के बस्ते में नहीं होना चाहिए।
इतना सब स्पष्ट होने के बाद भी शिक्षा विभाग यह तय नहीं कर पा रहा है कि बच्चे के कंधे पर टंगे बस्ते का वजन कैसे किया जाएगा और अधिक होने पर किसके खिलाफ कार्रवाई हो। जांच कौन करेगा और किसे कार्रवाई का अधिकार है इससे भी शिक्षा विभाग के अधिकारी अभी तक अनभिज्ञ बने हैं। जबकि निर्देश दिए गए हैं कि जिला शिक्षा अधिकारी स्कूलों में बैग के वजन का औचक निरीक्षण करेंगे। स्कूलों का चयन करके स्कूल बैग के वजन की जांच करेंगे और तय करेंगे कि बैग का वजन निर्धारित सीमा के भीतर है।
इतना वजन ढो रहे बच्चे
दूसरी ओर बस्ते के वजन को लेकर वस्तुस्थिति यह है कि निजी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे शासन द्वारा तय किए गए वजन से चार गुना तक वजन ढो रहे हैं। पहली व दूसरी कक्षा के बच्चे ५ किलो तक का बस्ता ढो रहे हैं जबकि इससे ऊपर की कक्षाओं के बच्चों के कंधों पर कॉपी किताबों का भार १० किलो से भी ज्यादा है।
वर्जन
स्कूली बच्चों केे बस्तों का वजन कम करने के संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा दिए गए किसी निर्देश की मुझे कोई जानकारी नहीं है। अभी तक हमने बस्तों के वजन की न जांच की है न कोई कार्रवाई की है।
एसएल धुर्वे, प्रभारी डीइओ
वर्जन
विभाग ने बस्ते का वजन कम करने के लिए पत्र जारी किया था जिसे सभी बीआरसी को प्रेषित कर आदेश का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। इस पर अमल किया जाएगा।
एसके कोष्टी, डीपीसी
1001nsp9.jpg
school

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

'आज भी TMC के 21 विधायक संपर्क में, बस इंतजार करिए', मिथुन चक्रवर्ती ने दोहराया अपना दावाखाना वहीं पड़ा था, डॉक्युमेंट्स और सामान भी वहीं थे , लेकिन... रिसॉर्ट के स्टाफ ने बताया कैसे गायब हुई अपने कमरे से अंकिताVideo: महबूबा मुफ्ती ने किया Pakistan PM का समर्थन, जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर दिया ये बयान'PFI पर कार्रवाई करने में इतना वक्त क्यों लगा?', प्रियंका चतुर्वेदी ने कश्मीर को लेकर PM मोदी पर साधा निशाना2 खिलाड़ी जिनका करियर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बीच सीरीज में हुआ खत्म, रोहित शर्मा नहीं देंगे मौका!चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग हुए हाउस अरेस्ट! बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी के Tweet से मचा हड़कंपयुवाओं को लश्कर-ए-तैयबा और ISIS में शामिल होने को उकसा रहा था PFI, ग्लोबल फंडिंग के सबूतअंकिता हत्याकांड : जांच के लिए गठित की गई SIT, CM ने कहा- "चाहे कोई भी हो, अपराधियों को नहीं बख्शा जाएगा"
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.