घोड़ी पर बैठने से पहले करा लें उसका मेडिकल चैकअप

ajay khare

Publish: Apr, 17 2018 08:27:49 PM (IST)

Narsinghpur, Madhya Pradesh, India
घोड़ी पर बैठने से पहले करा लें उसका मेडिकल चैकअप

गोटेगांव के ग्राम बरौदा में एक घोड़े की सीरम में ग्लेण्डर्स बीमारी की हुई पुष्टि,कलेक्टर ने बुलाई पशु पालन और अन्य विभागों की बैठक

नरसिंहपुर। विवाह का सीजन है और वर के वधु के घर घोड़ी पर चढ़ कर जाने की परंपरा है। पर यहां गोटेगांव के ग्राम बरौदा में एक घोड़े की सीरम में राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान केन्द्र हिसार हरियाणा में ग्लेण्डर्स बीमारी की पुष्टि होने के बाद से दूल्हों में डर समा गया है। प्रशासन ने खतरे को देखते हुए क्षेत्र के घोड़ों की पूर्ण जानकारी एकत्रित कर सीरो सर्वलेंस की कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान केन्द्र हिसार हरियाणा में हुई जांच में अश्व में ग्लेण्डर्स के लक्षण पाये गये थे। यह बीमारी जीवाणु जनित होती है जो अश्वों के सम्पर्क से मानव में भी संक्रमित हो सकती है। अत: इसकी प्राथमिक स्तर पर ही रोकथाम अति आवश्यक है। इस सिलसिले में कलेक्टर ने पशु चिकित्सा विभाग एवं अन्य विभागों के अधिकारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की और पशु पालन विभाग को निर्देश दिये कि वे क्षेत्र के घोड़ों की पूर्ण जानकारी एकत्रित करें तथा प्रक्रिया अनुसार सीरो सर्वलेंस की कार्रवाई करें। संबंधित क्षेत्र में घोड़ों की आवाजाही प्रतिबंधित रहे। स्थानीय निकाय को साफ. सफाई और स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये गये हैं। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिषेक राजन, संयुक्त संचालक पशु रोग अन्वेषण संस्थान भोपाल डॉ. सुनील परनाम, डॉ. जयंत तपसे, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जीसी चौरसिया, उप संचालक पशु चिकित्सा डॉ. जेपी शिव , डॉ. प्रदीप सोलंकी, पशु चिकित्सक गोटेगांव डॉ. एलएस ठाकुर, डॉ. सुवीर पाल, डॉ. असगर खान, डॉ.पीएस पटैल, डॉ. नीतेश जैन, डॉ. बीके मुडिय़ा और अन्य पशु चिकित्सक मौजूद थे।
वर्जन
ग्राम बरौदा में एक घोड़े की सीरम में राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान केन्द्र हिसार हरियाणा में ग्लेण्डर्स बीमारी की पुष्टि हुई है। पशु चिकित्सा विभाग को निर्देश दिये हैं कि घोड़ों में पाई जाने वाली ग्लेण्डर्स जैसी बीमारी की प्राथमिक स्तर पर ही रोकथाम की जाये।
अभय वर्मा कलेक्टर
----------------------

 

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के लिए जिला स्तरीय टास्क फोर्स गठित
नरसिंहपुर। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री द्वारा भारत सरकार की बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना अंतर्गत प्रदेश के 36 जिलों को शामिल किया गया था, इनमें नरसिंहपुर जिला भी है।
जिले में योजना की सम्पूर्ण गतिविधियों के क्रियान्वयन के लिए जिला स्तरीय टास्क फोर्स का गठन किया गया है। जिला टास्क फोर्स के अध्यक्ष कलेक्टर और सदस्य सचिव जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी होंगे। नोडल अधिकारी जिला कार्यक्रम अधिकारी एकीकृत बाल विकास सेवा होंगे। अन्य सदस्यों में पुलिस अधीक्षक, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत, जिला योजना अधिकारीए जिला विधिक सेवा अधिकारी, जिला शिक्षा अधिकारी, जिला परियोजना समन्वयक जिला शिक्षा केन्द्र और सहायक संचालक जनसम्पर्क शामिल हैं। उपरोक्त समिति बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का जिला स्तरीय एक्शन प्लान तैयार करेगी।

Ad Block is Banned