दुष्कर्म के आरोपी को गिरफ्तार कर नाबालिग को कराया मुक्त

थाना गोटेगांव क्षेत्रांतर्गत एक गांव में 14 साल की एक नाबालिग से दुष्कृत्य करने, फिर थाने में उसकी रिपोर्ट न लिखे जाने और फिर गांव के कुछ लोगों द्वारा पंचायत बुला कर पीडि़ता को आरोपी के साथ रहने के लिए मजबूर करने के मामले में एक सप्ताह बाद पुलिस की नींद खुली।

By: ajay khare

Published: 23 Apr 2020, 07:27 PM IST

नरसिंहपुर/गोटेगांव. थाना गोटेगांव क्षेत्रांतर्गत एक गांव में 14 साल की एक नाबालिग से दुष्कृत्य करने, फिर थाने में उसकी रिपोर्ट न लिखे जाने और फिर गांव के कुछ लोगों द्वारा पंचायत बुला कर पीडि़ता को आरोपी के साथ रहने के लिए मजबूर करने के मामले में एक सप्ताह बाद पुलिस की नींद खुली। महिला पुलिस अफसर ने पीडि़त को आरोपी के घर से मुक्त कराया और अब आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। इस पूरे मामले में जहां नाबालिग बच्चियों से संबंधित अपराधों को लेकर नरसिंहपुर पुलिस की मनमानी उजागर हुई है वहीं अभी तक उन लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई जिन्होंने पीडि़त नाबालिग को आरोपी के साथ रहने उसके घर भेज दिया था।

यह है मामला-
14 अप्रेल को नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने का मामला सामने आया था। पीडि़त के माता पिता शिकायत लेकर पुलिस थाना पहुंचे थे । मगर पुलिस ने कोई मामला कायम नहीं किया और फरियादी को थाने से भगा दिया । इस संबंध मेंं टीआई प्रभात शुक्ला का कहना था कि पीडि़ता के माता पिता शराबी हंै इसलिए उनकी बात पर विश्वास नहीं किया जा सकता है । लड़की अपने प्रेमी के साथ ही रहना चाहती है। इसलिए मामला दर्ज नहीं किया। जबकि नाबालिग के मामले में तत्काल मामला दर्ज करने के निर्देश हैं पर पुलिस ने मनमानी की। थाना से मायूस होकर नाबालिग और उसके माता पिता जब गांव लौटे तो गांव के कुछ लोगों ने एकत्रित होकर पंचायत बुलाई और नाबालिग लड़की को दुष्कृत्य के आरोपी लड़के के साथ रहने को उसके घर भेज दिया। २० अप्रेल को नाबालिग के माता पिता शिकायत लेकर पुलिस अधीक्षक के पास पहुंचे तब २१ अप्रेल को झोंतेश्वर पुलिस चौकी प्रभारी अंजली अग्निहोत्री जांच और नाबालिग को बरामद करने पहुंची। अंजली अग्निहोत्री ने पत्रिका को बताया कि गांव पहुंचने पर लड़की माता पिता के घर पर नहीं थी । वह आरोपी लड़के के घर पर थी । उसको बुलाने के लिए पहले उसका भाई गया तो लड़की नहीं आई । इसके बाद उसकी चाची वहां गई और वह आरोपी लड़के के घर से लड़की को लेकर आई । तब माता पिता और लड़की को पुलिस थाना लाया गया। लड़की के कथन लेने के बाद दुष्कर्म का मामला कायम किया गया। विवेचना अधिकारी अंजली अग्निहोत्री ने बताया कि नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने के आरोपी बल्लू उर्फ बाबूलाल मल्लाह को लड़की की एमएलसी के बाद गिरफ्तार कर लिया गया है। डीएनए डेस्ट भी कराया जा रहा है।
हम तम्बाखू तक नहीं खाते
नाबालिग के माता पिता ने पत्रिका को बताया कि पुलिस उन पर शराबी होने का झूठा आरोप लगा रही है वे शराब तो दूर तम्बाखू तक का सेवन नहीं करते हंै। आरोपी पैसे वाला है हम गरीब लोग हैं इसलिए हमारी फरियाद नहीं सुनी गई। यहां पर सवाल उठता है कि पुलिस ने न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने नाबालिग के कथन क्यों नहीं कराए। थाना से इस घटना की जानकारी पुलिस अधीक्षक को क्यों नहीं दी। जिन लोगों ने नाबालिग को दुष्कर्मी के घर पहुंचाया उनसे पूछताछ क्यों नहीं की जा रही है ।

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned