आज ही के दिन की गई थी नरसिंहपुर में लॉक डाउन की घोषणा

पड़ोसी जिले जबलपुर में कोरोना के मरीज मिलने के बाद इस जिले को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए 20 मार्च को प्रशासन ने यह घोषणा की थी कि 21 मार्च की रात 12 बजे से जिले में 14 दिन का टोटल लॉक डाउन लगा दिया जाएगा।

By: ajay khare

Published: 19 Mar 2021, 09:49 PM IST

नरसिंहपुर. पड़ोसी जिले जबलपुर में कोरोना के मरीज मिलने के बाद इस जिले को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए 20 मार्च को प्रशासन ने यह घोषणा की थी कि 21 मार्च की रात 12 बजे से जिले में 14 दिन का टोटल लॉक डाउन लगा दिया जाएगा। तत्कालीन कलेक्टर दीपक सक्सेना एवं पुलिस अधीक्षक डॉ. गुरकरण सिंह ने इस संबंध में सुबह 11 बजे कलेक्ट्रेट परिसर में पत्रकार वार्ता आयोजित की और मीडिया के माध्यम से कोरोना वायरस के रोकथाम एवं बचाव के लिए जिले में की जा रही तैयारियों एवं आवश्यक इंतजाम के संबंध में जिले भर के लोगों को जानकारी दी गई। रात 12 बजे से नरसिंहपुर जिले को 14 दिनों के लिए पूर्णत लॉक डाउन किया गया। रात 12 बजे के बाद नरसिंहपुर जिले की सीमा में किसी व्यक्ति को आने और जाने पर रोक लगा दी गई। लोगों के 14 दिन तक घर से बाहर निकलने पर रोक लगाई व निर्देश दिए कि यदि कोई एक सप्ताह पूर्व तक जबलपुर होकर आया है तो उसे कम्प्लीट आईसोलेशन में रखें। सारे व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद कर दिए गए, सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक लगा दी गई और शासकीय सेवकों को मुख्यालय पर रहने के सख्त निर्देश दिए गए।
समाज सेवियों ने किया सहयोग
कोरोना के खिलाफ जंग हेतु नागरिकों ने कोरोना आपदा प्रबंधन में सहायता राशि देना प्रारंभ कर दिया श्री दादा दूल्हादेव महाराज मंदिर लोक न्यास समिति डोकरघाट द्वारा 5 लाख रुपये का चैक कलेक्टर को प्रदान किया गया। सांसदों ने लाखों रुपए दिए।
जीवन अमृत योजना के तहत बांटा काढ़ा
आयुष विभाग की जीवन अमृतयोजना के अंतर्गत त्रिकटु काढ़ा का वितरण ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में करने केलिए सार्थक एप लांच किया गया । 50 ग्राम काढ़ा के पैकेट बना कर 13 दल गठित कर वितरण कराया गया। जिले भर में इसका वितरण किया गया।
शुरू में स्वस्थ्य हुए मरीजों का सम्मान कर भेजा
10 जून तक जिले में 8 कारोना मरीज स्वस्थ्य हुए जिन्हें सम्मानपूर्वक पुष्प वर्षा कर उनके घर रवाना किया गया
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तेंदूखेड़ा के परिसर में विधायक तेंदूखेड़ा संजय शर्मा ने स्वस्थ हुये मरीजों को माला पहनाकर व पुष्प गुच्छ भेंट कर उनके घरों के लिए विदा किया।
श्रमिकों को बसों से भेजा उनके घर
श्रमिकों की घर वापसी के लिए परिवहन विभाग के माध्यम से 40 बसों का इंतजाम किया गया । लॉक डाउन के दौरान बाहर से यहां आए और लॉक डाउन के पहले से यहां रुके सभी श्रमिकों की सूची बनाकर रूट चार्ट बनाकर उनके जिले में भेजा गया। सोशल डिस्टेंस बनाने के लिए 50 सीटर बस में 25 यात्रियों को एक बार में भेजा गया।
कर्नाटक में फंसे जवाहर नवोदय के 24 छात्र छात्राओं की हुई वापसी
14 दिन के लिए किया गया क्वॉरंटीन
जवाहर नवोदय विद्यालय बोहानी के 24 छात्र छात्राएं एक वर्ष के लिए शैक्षणिक स्थानांतरण पर कर्नाटक के जवाहर नवोदय विद्यालय सींगोड़ जिला चिकमंगलूर गए थे। लॉक डाउन के चलते अचानक ट्रेन सेवा बंद होने के कारण वहीं फंस गए थे। सांसद राव उदय प्रताप सिंह एवं कलेक्टर के विशेष प्रयासों से उक्त छात्र, छात्राएं बस द्वारा नवोदय विद्यालय बोहानी पहुंचे। उन्हें विद्यालय में 14 दिन के लिए क्वॉरंटीन किया गया ।
फसलों की कटाई के लिए किसानों को बसों से भेजा खेतों पर
कोरोना काल में पिछले साल फसलों की कटाई की समस्या को देखते हुए प्रशासन ने बसों का इंतजाम कर सोशल डिस्टेंस के साथ उनके खेतों के पास तक भेजा। किसानों ने किसी तरह से फसलों की कटाई की।
सेवा करने की बजाय ड्यूटी से नदारद हुए डॉक्टरों पर दर्ज किया मामला
कोरोना काल में जिला अस्पताल के ७ डॉक्टर अपनी सेवाएं देने की बजाय ड्यूटी से गायब हो गए जिस पर सख्त कार्रवाई करते हुए उनके विरुद्ध प्रशासन ने मामला दर्ज कराया। जिसके बाद कुछ ड्यूटी पर लौटे।
मशीनों से किया गया सेनेटाइजर का छिड़काव
कोरोना वायरस के सक्रमण को रोकने के लिए निकायों द्वारा 27 मार्च से निरंतर सेनेटाइजर का छिड़काव किया गया। यह सैनीटाइजर का छिड़काव आगे भी निरंतर जारी रहेगा। इसमें फसलों में कीटनाशक छिड़कने के उपयोग में आने वाली मशीनों का उपयोग किया गया।
सहयोग से सुरक्षा अभियान चलाया गया
कोरोना पर जीत के लिए सहयोग से सुरक्षा अभियान चलाया गया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा लोगों को शपथ दिलाई गई और शपथ पत्र भरवाये गए कि वे कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए स्वयं और क्षेत्रीय लोगों को मुंह पर मास्कए दोपट्टा, रूमाल या कपड़ा बांधकर घर से बाहर निकलन घर के बाहर आपस में दो गज की दूरी रखने और बार बार साबुन और पानी से हाथ धोने के लिए प्रेरित करेंगे।
कोरोना की अफवाह फैलाने पर भेजा जेल
जिले के अंतर्गत सुआतला थाना क्षेत्र में 9 अप्रैल की शाम लगभग 5 बजे आरोपी शोभाराम चौधरी निवासी ग्राम लोलरी द्वारा फेसबुक पर कोरोना की अफवाह फैलाने पर उसे जेल भेज दिया गया। उसने फेसबुक पर पोस्ट किया था कि नरसिंहपुर जिले में हुई कोरोना की एंट्री, दादा महाराज के पास मुडिय़ा गांव में 5 लोग पोजिटिव, एक की आज मौत। अफवाह फैलाने एवं गलत पोस्ट करने पर उसके विरुद्ध थाना सुआतला में धारा 188, 505(1) बी भादवि एवं 54 आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर उसे जेल भेज दिया गया।
दवा लेने निकली 12 साल की बच्ची तो प्रशासन ने की मदद
लॉक डाउन के दौरान सुभाष चौक पर कलेक्टर दीपक सक्सेना एवं एसपी डॉ. गुरकरण सिंह कानून व्यवस्था का जायजा ले रहे थे। इसी दौरान वहां 12 वर्षीय बच्ची स्नेहा रजक एवं उनकी करीबी रिश्तेदार वहां से गुजर रही थी। कलेक्टर व एसपी ने उन्हें बुलाकर उनसे बातचीत की। बच्ची ने बताया कि उसे बुखार है, दवाई के लिए वह मेडिकल शॉप जा रहे हैं। अधिकारियों ने अधीनस्थ कर्मचारी को बुलाकर बच्ची के साथ दवा की दुकान पर दवा दिलवाने के लिए कहा ।

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned