गड्ढों की फोरलेन में हिचकोलों का लग रहा टोल टैक्स

गड्ढों की फोरलेन में हिचकोलों का लग रहा टोल टैक्स

ajay khare | Publish: Jul, 13 2018 09:03:47 PM (IST) Narsinghpur, Narsinghpur, Madhya Pradesh, India

नरसिंहपुर। राष्ट्रीय राजमार्ग 26 यानि फोरलेन के निर्माण होने के बाद से अभी तक राजमार्ग से लेकर बचई तक का हिस्सा का सफर परेशानियों भरा रहा है। यहां पर फोरलेन से आवागमन करने वाले वाहन के यात्री हिचकोले खाते सफर करने मजबूर हैं, इन हिचकोलों के एवज में टोलटैक्स चुकाना भी मजबूरी बना हुआ है।

नरसिंहपुर। राष्ट्रीय राजमार्ग 26 यानि फोरलेन के निर्माण होने के बाद से अभी तक राजमार्ग से लेकर बचई तक का हिस्सा का सफर परेशानियों भरा रहा है। यहां पर फोरलेन से आवागमन करने वाले वाहन के यात्री हिचकोले खाते सफर करने मजबूर हैं, इन हिचकोलों के एवज में टोलटैक्स चुकाना भी मजबूरी बना हुआ है।
उल्लेखनीय है कि सड़क पर गड्ढों व उतार चढ़ाव की भी बहुतेरे स्थानों पर स्थिति है। फोरलेन की यह स्थिति लगभग 80 किलोमीटर में निर्माण के बाद से ही बनी हुई है। पूर्व में कार्यपूर्ण नहीं होने का बहाना बनता रहा अब संबंधित एजेंसी के मत्थे समस्या को मढ़कर एनएचएआई के वरिष्ठ अधिकारी इस मामले से पल्ला झाड़ रहे हैं।
फोरलेन के संबंध में सूत्रों का कहना है कि मापदंड के अनुरूप यातायात नहीं होने की स्थिति में टोलटैक्स नहीं वसूला जा सकता है। इसके बावजूद बचई और राजमार्ग के आगे बने टोल नाकों पर इस सड़क से आवागमन करने वाले वाहन चालकों से पूरा शुल्क वसूला जा रहा है। हालांकि ललितपुर मालथौन से पूरी रोड के सुधार की प्रक्रिया चलने का दावा कर रहे हैं, लेकिन यह समझ से परे है कि बारिश के मौसम के दौरान डामलीकरण की लेयर डालने का काम किस मापदंड के आधार पर किया जा रहा होगा।
डांगीढाना निवासी गजेन्द्र पटैल ने बताया कि नरसिंहपुर रोज ही किसी न किसी काम से आना जाना होता है। इस दौरान लूनावत पेट्रोलपंप के आगे का बड़े गड्ढे के आसपास से निकलना जोखिम भरा होता है। रोजा आने जाने से हमें तो मालूम रहता है, लेकिन अनजान वाहन जब रफ्तार से निकलते हैं तो बहक भी जाते हैं, ऐसे में बड़ी दुर्घटना हो सकती है। ऐसा ही हाल लगभग 1 दर्जन स्थानों पर दोनों तरफ की सड़कों बना हुआ है।
बकोरी टोल टैक्स नाके पर भी व्यवस्थाएं नाकाफी रहती है, यहां पर दोनों तरफ एक-एक ही लाइन चालू रखी जाती है जिससे वाहन चालकों को लंबा इंतजार भी करना पड़ता है। यहां पर कार, जीप, वेन या छोटे वाहनों से एक तरफा निकलने के लिए 110 रूपए, आने जाने का 160 रूपए, महीने भी का 3605 रूपए, लोकल कामर्शियल वाहन का 55 रूपए वसूला जा रहा है। इसी तरह मिनी बस का एक तरफ का 175 रूपए, आवागमन कर 260, महीने का 5820, कामर्शियल का 85 रूपए, बस या ट्रक 365, 550, 12195, एवं 185 रूपए। इसके अलावा 3 एक्सल वाहन का 400, 600, 13300 एवं 200 रूपए, 4 से 6 एक्सल वाहन से 575, 860, 19120 एवं 285 रूपए इससे बड़े वाहनों का एक तरफ का 700 रूपए, आवागमन 1050 रूपए, महीने का 23280 रूपए तथा लोकल कार्मिशयल वाहन से 350 रूपए वसूला जा रहा है।
इस संंबंध में एनएचएआई के पीडी अनिल कुमार जैन से संपर्क का प्रयास किया लेकिन वे जरूरी कार्य की व्यस्तता बताते हुए कुछ कहने से बचते रहे।
इनका कहना है
ललितपुर मालथौन से एक सिंगल लेयर पूरी सड़क पर बिछाने का काम किया जा रहा है। यहां पर गड्ढों की जानकारी आपके माध्यम से मिली है, इसे दिखवाकर अभी हाल के लिए पेंचवर्क कराया जाएगा।
शेखर कुलश्रेष्ठ
शिफ्ट इंचार्ज फोरलेन

Ad Block is Banned