जिले में 5 अगस्त की सुबह 5 बजे तक टोटल लॉक डाउन

जिले में आगामी त्यौहार ईद, रक्षाबंधन एवं कजलिया को लेकर जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक हुई जिसमें यह निर्णय लिया गया कि जिले में 31 जुलाई की रात्रि 8 बजे से 5 अगस्त की सुबह 5 बजे तक टोटल लॉक डाउन किया जाये। साथ ही जिले में कोरोना टेस्टिंग की संख्या को भी बढ़ाया जाये

By: ajay khare

Published: 31 Jul 2020, 08:23 PM IST

नरसिंहपुर. जिले में आगामी त्यौहार ईद, रक्षाबंधन एवं कजलिया को लेकर जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक हुई जिसमें यह निर्णय लिया गया कि जिले में 31 जुलाई की रात्रि 8 बजे से 5 अगस्त की सुबह 5 बजे तक टोटल लॉक डाउन किया जाये। साथ ही जिले में कोरोना टेस्टिंग की संख्या को भी बढ़ाया जाये। इसके लिए जिले में आपदा प्रबंधन फंड की राशि से दो ट्रू नॉट मशीन भी क्रय की जा सकती हंै। इस मशीन के द्वारा सेंपलिंग जिले में होने से जांच रिपोर्ट प्राप्त होने में कम समय लगेगा। मशीन संचालन के लिए सीएमएचओ डॉ.एमयू खान को बैठक में निर्देशित किया गया कि टेक्नीशियन की संविदा भर्ती की प्रक्रिया प्रस्तावित करें। बैठक में
सांसद कैलाश सोनी व राव उदय प्रताप सिंह, स्थानीय विधायक , गाडरवारा विधायक सुनीता पटैल, जिला पंचायत अध्यक्ष संदीप पटैल व कलेक्टर वेद प्रकाश, पुलिस अधीक्षक अजय सिंह, अपर कलेक्टर मनोज कुमार ठाकुर, एएसपी राजेश तिवारी, जिला पंचायत सीईओ कमलेश भार्गव प्रमुख रूप से मौजूद थे। बैठक में सांसदों द्वारा कहा गया कि आईसीएमआर जबलपुर से प्राप्त होने वाली कोरोना रिपोर्ट में रिजेक्ट होने और निगेटिव आने वाली रिपोर्ट की जानकारी संबंधित बीएमओ के पास उपलब्ध होनी चाहिये। इसके अलावा जिला मुख्यालय पर स्थित रेडक्रास बिल्डिंग का भी इस्तेमाल इस आपदा की घड़ी में किया जाना चाहिये।
बैठक में कलेक्टर वेद प्रकाश द्वारा पॉवर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से कोरोना वायरस से निपटने के लिए जिले में की गई तैयारियों की जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि वर्तमान में जिले में कुल कोरोना पॉजिटिव की संख्या 165 है, जिसमें से 94 व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं, दो व्यक्ति की मृत्यु हुई है और 69 केस एक्टिव हैं। कोरोना पॉजिटिव मिलने पर संबंधित क्षेत्र को कंटेनमेंट घोषित किया जाता है, जहां पूरी सख्ती के साथ आवागमन प्रतिबंधित होता है। इसके अलावा जिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन युक्त बेड की पर्याप्त संख्या है। गाडरवारा, गोटेगांव व करेली चिकित्सालय में भी ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था की जा रही है।
चार घंटे पहले लॉक डाउन की सूचना से परेशान हुए लोग, बाजारों में उमड़ी भीड़
नरसिंहपुर. त्योहारों के मद्देनजर लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाकर कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए अन्य जिलों में ३१ जुलाई से ५ अगस्त की सुबह तक टोटल लॉक डाउन की सूचना पहले ही जारी कर दी गई थी ताकि लोग इन ५ दिनों के लिए जरूरी वस्तुएं पहले से जुटा कर रख लें और परेशान न होना पड़े। लेकिन इस जिले में प्रशासन ने लॉक डाउन की सूचना महज ४ घंटे पहले जारी की। जिससे लोग हतप्रभ रह गए। अचानक मिली सूचना से आम लोगों को और व्यापारियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। लोग अब प्रशासन के इस निर्णय पर सवाल उठा रहे हैं कि अन्य जिलों की तरह यहां भी पहले इस बात का निर्णय क्यों नहीं लिया गया। एक ओर जहां लोगों का कहना है कि उन्हें खरीदारी के लिए पर्याप्त समय नहीं मिला वहीं दूसरी ओर व्यापारियों का कहना है कि त्योहार की वजह से तैयार की गई खाद्य सामग्री बेचने के लिए उन्हें पर्याप्त समय नहीं मिला। अचानक ५ दिन के लॉक डाउन की सूचना ने लोगों को परेशान कर दिया लिहाजा लोग खबर मिलते ही जरूरी सामान की खरीदारी के लिए बाजार की ओर दौड़ पड़े। खासतौर पर रक्षाबंधन त्योहार को लेकर लोग जरूरी सामान की खरीदारी करने निकल पड़े।
व्यापारी महासंघ करेली ने किया विरोध
प्रशासन के इस निर्णय का व्यापारी महासंघ करेली ने विरोध जताते हुए कलेक्टर के नाम एक ज्ञापन प्रेषित किया है। जिसमें कहा गया है कि अचानक लिया गया निर्णय सर्वथा अनुचित है। यदि समय रहते इसका निर्णय लिया जाता तो व्यापारी महासंघ इसका पूर्ण समर्थन करता, पर अचानक लिया गया यह निर्णय छोटे व्यापारियों की कमर तोड़ देगा। व्यापारी महासंघ ने प्रशासन से अपने निर्णय पर पुनर्विचार करने को कहा है।

COVID-19 virus
ajay khare Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned