चबूतरों पर खडृे रहते हैं वाहन तो सडक़ों पर सजती है दुकानें

चबूतरों पर खडृे रहते हैं वाहन तो सडक़ों पर सजती है दुकानें

By: Amit Sharma

Updated: 06 Jan 2020, 02:03 PM IST

चबूतरों पर खडृे रहते हैं वाहन तो सडक़ों पर सजती है दुकानें
अव्यवस्थाओं का शिकार जिले का सबसे बड़ा साप्ताहिक इतवारा बाजार

नरसिंहपुर- नगर के ऐतिहासिक इतवारा बाजार में प्रत्येक रविवार को वृहद साप्ताहिक बाजार तो भरता ही है, हर सुबह यहां सब्जी की थोक मंडी भी लगती है। यहां व्यापारियों से नगर पालिका सभी तरह के टैक्स तो वसूल करती है पर सुविधाओं के नाम पर वर्षो से इन व्यापारियों को सिर्फ ठेंगा ही दिखाया जा रहा है। हालात ये है कि नपा द्वारा सफ ाई में कोताही बरतने से बाजार में जहां-तहां कचरे के ढ़ेर लगे नजर आते हैं। वहीं पानी निकासी की समुचित व्यवस्था न होने के कारण जहा सी बारिश में ही जहां-तहां पानी भर जाता है। नगर पालिका द्वारा भले ही बाजार परिसर में व्यापारियों को दुकानें बनाकर दे दी गयी हैं बावजूद इसके यहां निर्मितचबूतरे,अतिक्रमण के शिकार हैं। जिन पर कुछ लोग वाहन खड़े कर देते है तो कुछ व्यापारी अपना सामान रख देते हैं। ऐसे में छोटे व्यापारियों को चबूतरों में जगह नही मिल पाती जिससे वे मजबूरी में सडक़ पर ही अपनी दुकान सजाते हैं।
जानकारी के अनुसार अनाज विके्रताओं के लिए कुछ चबूतरों का निर्माण नगर पालिका द्वारा शराब ठेके वाली रोड में किया गया था, पर बार-बार मनाने व बैठकों के बाद भी अनेक अनाज विक्रेता आज भी अपनी दुकान बाहरी रोड पर ही लगा रहे हैं। जिससे रविवार के दिन अनेक बार यहां यातायात बाधित होता है। जब से यह मार्ग मॉडल रोड में तब्दील हुआ है तब से डिवायडर बन जाने के कारण दोनों ओर मार्ग इन दुकानों के कारण और भी संकीर्ण हो जाते हें। वहीं इस मामले में नपा के स्टाफ की माने तो दुकानदारों को चबूतरों पर दुकानें लगाने की समझाइश तो दी जाती है लेकिन वे बेहतर ग्राहकी की उम्मीद में सडक़ों पर ही दुकानें लगाते हैं।

Amit Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned