प्राकृतिक आपदा से हुई क्षति के लिए ग्रामीणो ने मांगा मुआवजा

-कलेक्टर से लेकर तहसीलदार तक तो सौंपा ज्ञापन

By: Ajay Chaturvedi

Updated: 07 Sep 2020, 02:59 PM IST

नरसिंहपुर. पिछले दिनों में हुई बारिश और नर्मदा सहित अन्य सहायक नदियों में आई बाढ़ के चलते गांव के गांव जलमग्न हो गए थे। लोगों के घरों में पानी घुस गया। किसी तरह से लोगों ने अपनी जान बचाई पर अब उनका सारा सामान नष्ट हो चुका है। घर में खाने को दाना नहीं तक नहीं है। ऐसे में उन्होंने प्रशासन से प्राकृतिक आपदा से हुई तबाही के एवज में मुआवजे की मांग की है। इस संबंध में ग्रामीणों ने कलेक्टर से लेकर तहसीलदार तक को ज्ञापन सौंपा है।

खेतों में बाढ का पानी

इसी कड़ी में गाडरवारा के ग्राम मनकवारा के लोगों ने कलेक्टर, एसडीएम, एवं तहसीलदार को ज्ञापन सौपा। बताया कि एनटीपीसी द्वारा ग्राम मनकवारा में रेलवे लाइन की पुलिया बंद कर दिया। इसके चलते बारिश का पानी अधिकांश घरों में भर गया जिससे काफी नुकसान हुआ। घरों में रखी खाने-पीने की सामग्री एवं किसानों का सैंकड़ों बोरा अनाज बर्बाद हो गया। गरीबों की स्थिति बहुत ज्यादा खराब है वह आज भी दाने-दाने के लिए मोहताज है। बाढ़ से तीन चार मकान गिर गए हैं एवं कुछ मकान क्षतिग्रस्त भी हो गए हैं।

ग्रामीणों ने बताया है कि कई बाढ़ पीड़ित ग्राम पंचायत, आंगनबाड़ी भवन में रह रहे हैं। साथ ही पशुधन जैसे गाय, बकरी भी मर गई हैं। बतया कि घरों में जिस दिन पानी घुसा फौरन उसकी सूचना सरपंच को दी गई। सरपंच ने एनटीपीसी के अधिकारियों को अवगत कराया। एनटीपीसी के अधिकारी मनकवारा आए लेकिन पीड़ितों तक किसी भी प्रकार की मदद अभी तक नहीं पहुंची है। एनटीपीसी द्वारा मनकवारा में मनमर्जी से निर्माण कार्य करने के कारण ग्राम वासियों को यह खामियाजा भुगतना पड़ा। मौजा पटवारी द्वारा भी निरीक्षण किया गया लेकिन गांव का गरीब, पीड़ित, मुआवजे की आस लगाए हुए हैं। ग्रामवासियों ने ज्ञापन के माध्यम से मांग की है कि बाढ़ से पीड़ित लोगों को एनटीपीसी से मुआवजा दिलाया जाए।

गाडरवारा विधायक सुनीता पटेल

इस बीच गाडरवारा विधायक सुनीता पटेल ने अतिवृष्टि प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर पीड़ितों से मुलाकात की। सभी प्रभावितों को उचित मुआवतजा दिलाने की बात कही। बीते दिनों अधिक वर्षा होने से शक्कर नदी एवं नर्मदा नदी सहित सहायक नदियां काफी उफान पर थी और क्षेत्र में कई गांव बाढ़ की चपेट में आ गए थे। विधायक ने उसी दिन से प्रभावित क्षेत्रों का दौरा प्रारंभ किया इसके साथ ही उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों से भी कहा कि शीघ्र सर्वे कराने का काम किया जाए। दौरे में विधायक ने महिलाओं से भी मुलाकात की और उनकी समस्याओं को सुनकर शीघ्र निराकरण कराने का भरोसा दिलाया। बीते शनिवार को सांईखेड़ा जनपद के अतिवृष्टि प्रभावित ग्राम सोकलपुर, भौंरगढ़, मढ़गुला, बम्होरी, पडेरा टोला, खिरिया गांव जाकर विधायक श्रीमती पटैल ने नुकसान का जायजा लिया। इस दौरान जिला पंचायत सदस्य दिग्विजय सिंह, लल्ली भाई, मणिकांत पटैल, मलखान पटैल, वीरेंद्र पटैल आदि की उपस्थिति रही।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned