"5 लाख में मुस्लिम, 2 लाख में ईसाई का धर्मांतरण"

आगरा में 57 मुस्लिम परिवारों का धर्मान्तरण कराने वाली संस्था धर्म जागरण समिति के आयोजन में बड़ी रकम खर्च किए जाने की बात कबूले जाने से सनसनी फैल गई है।

By:

Published: 16 Jan 2015, 12:09 PM IST

आगरा। आगरा में 57 मुस्लिम परिवारों का धर्मान्तरण कराने वाली संस्था धर्म जागरण समिति के आयोजन में बड़ी रकम खर्च किए जाने की बात कबूले जाने से सनसनी फैल गई है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के आनुषांगिक संगठन धर्म जागरण मंच के क्षेत्रीय प्रमुख राजेश्वर ने अपने एक पत्र में यह रहस्योद्घाटन किया है कि एक मुस्लिम को हिन्दू बनाने में पांच लाख रूपए का खर्च आता है।

धर्म जागरण मंच पश्चिम उत्तर प्रदेश के लैटर पैड पर बिना तारीख वाले पत्र में सिंह ने कहा कि संगठन द्वारा वर्ष 2014 में अपने क्षेत्र के 20 जिलों में घर वापसी कार्यक्रम आयोजित किए गए। मुस्लिम और ईसाइयों को हिन्दू बनाने के लिए आयोजित इन कार्यक्रमों में करीब 40 हजार लोगों ने हिस्सा लिया।

सिंह ने अपने पत्र में यह खुलासा किया, "हमारा लक्ष्य एक लाख मुस्लिम और ईसाइयों को फिर से हिन्दू बनाना है।" उन्होंने कहा कि इस काम में काफी धन खर्च होता है। एक ईसाई के धर्मान्तरण में दो लाख रूपए और एक मुस्लिम को फिर से हिन्दू बनाने में पांच लाख रूपए का खर्च आता है।

उन्होंने अपने पत्र में कार्यकर्ताओं से घर वापसी कार्यक्रम के आयोजन के लिए उदारतापूर्वक दान देने का आग्रह करते हुए कहा है कि इस तरह के आयोजनों में काफ ी धन की जरूरत होती है।

इस बीच एक अंग्रेजी के राष्ट्रीय न्यूज चैनल पर बुधवार रात दिए गए साक्षात्कार में राजेश्वर सिंह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के मुख्तार अब्बास नकवी, शहनवाज हुसैन और नजमा हेपतुल्ला सरीखे वरिष्ठ नेताओं के लिए भी घर वापसी कार्यक्रम में शामिल होने का यह सही समय है।

इस पत्र के उजागर होने के बाद विपक्ष के तेवर हमलावर हो गए हैं और भाजपा बचाव की मुद्रा में आ गई है और पार्टी के नेता इस मसले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करने से कतराते नजर आए।

कैबिनेट मंत्री आजम खां ने पहले से ही इस कार्यक्रम को लेकर भाजपा के खिलाफ कडे तेवर अपना रखे थे। खां का कहना था कि इस तरह के आयोजन लोगों क ो प्रलोभन और डरा धमका कर किए जा रहे हैं।
BJP
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned