script67th BPSC Paper Leak:Tejashwi Yadav, Mukesh Sahni attack on Bihar Govt | इतिहास में पहली बार वायरल हुए BPSC के प्रश्नपत्र से आयोग को हुआ करोड़ों का नुकसान, तेजस्‍वी यादव और मुकेश सहनी ने सरकार पर किया तीखा प्रहार | Patrika News

इतिहास में पहली बार वायरल हुए BPSC के प्रश्नपत्र से आयोग को हुआ करोड़ों का नुकसान, तेजस्‍वी यादव और मुकेश सहनी ने सरकार पर किया तीखा प्रहार

बिहार लोक सेवा आयोग के 67वीं संयुक्त परीक्षा का प्रश्नपत्र वायरल होने के बाद परीक्षा रद्द कर दी गई। परीक्षा रद्द होने से बिहार लोक सेवा आयोग को करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। अब इस पूरे मामले में विपक्ष ने सरकार को घेरा है।

Published: May 09, 2022 11:33:34 am

रविवार को बिहार लोक सेवा आयोग की प्रारम्भिक परीक्षा के पेपर लीक हो जाने के बाद उसे रद्द कर दिया गया है। इतिहास में पहली बार बिहार लोक सेवा आयोग का प्रश्नपत्र वायरल हुआ है। बीपीएससी 67वीं परीक्षा का प्रश्नपत्र सुबह 11 बजे ही काफी तेजी से टेलीग्राम और व्हाट्सएप पर वायरल होना शुरू हो गया था। उसके बाद धीरे-धीरे यह मामला यूट्यूब पर पहुंच गया। 11:30 बजे के बाद अधिकारी हरकत में आए और जांच के आदेश दिए गए। इसके 3 घंटे बाद ही परीक्षा को रद्द कर दिया गया। परीक्षा रद्द होने के बाद नेताओं के भी बयान आने लाने लगे है। विपक्षी दल इस मसले को लेकर सरकार पर हमलावर हैं।
इतिहास में पहली बार वायरल हुए BPSC के प्रश्नपत्र से आयोग को हुआ करोड़ों का नुकसान, तेजस्‍वी यादव और मुकेश सहनी ने सरकार पर किया तीखा प्रहार
इतिहास में पहली बार वायरल हुए BPSC के प्रश्नपत्र से आयोग को हुआ करोड़ों का नुकसान, तेजस्‍वी यादव और मुकेश सहनी ने सरकार पर किया तीखा प्रहार
67वीं बीपीएससी की पीटी का प्रश्न पत्र परीक्षा शुरू होने से पहले वायरल हो गया जिसके लिए जांच कमेटी बनाई गई और आयोग ने देर शाम इसकी पुष्टि भी कर दी। नतीजा ये हुआ कि वायरल प्रश्न पत्र सही पाया गया और रविवार को हुई इस परीक्षा को आयोग ने रद्द कर दिया। अब इस मामले पर बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने रविवार को ट्वीट करते हुए कहा कहा है कि बिहार लोक सेवा आयोग ने करोड़ों युवाओं और अभ्‍यर्थियों का जीवन बर्बाद किया है। इसका नाम अब बिहार लोक पेपर लीक आयोग कर देना चाहिए। तो वहीं इस मामले मे बिहार सरकार में मंत्री रह चुके मुकेश सहनी ने भी इस मामले पर तीखा बयान दिया है।
तेजस्वी करोड़ों युवाओं के साथ दिखे, उन्होंने छात्रों के हित को देखते हुए ट्वीट किया और आयोग को लेकर बड़ी बात कह दी। तेजस्वी ने लिखा- "बिहार के करोड़ों युवाओं और अभ्यर्थियों का जीवन बर्बाद करने वाले बिहार लोक सेवा आयोग का नाम बदलकर अब 'बिहार लोक पेपर लीक आयोग' कर देना चाहिए।"
तो वहीं पेपर लीक होने के बाद विकासशील इंसान पार्टी (VIP) के प्रमुख और बिहार के पूर्व पशुपालन और मत्स्य पालन मंत्री मुकेश सहनी ने सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) की गैर तकनीकी लोकप्रिय श्रेणी (NTPC) की परीक्षा को लेकर हुई गड़बड़ी से छात्र उबर भी नहीं पाए थे कि अब बिहार लोक सेवा आयोग की 67वीं संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा में पेपर लीक हो गया। बता दें कि कुछ दिनों पहले तक बिहार की सरकार में मंत्री रहे मुकेश सहनी ने भी इस मसले पर तीखा बयान दिया था।
उन्होंने आगे कहा, "यह छात्रों के भविष्य के लिए नीम पर करैला साबित हुआ। भले ही इस पेपर लीक के बाद परीक्षा को रद्द कर दिया जाए लेकिन उन छात्रों का इस प्रकरण में क्या दोष है, जो परीक्षा की पूरी तैयारी कर परीक्षा केंद्र पहुंचे थे। लाखों बच्चों की सालों की जी तोड़ मेहनत, त्याग, कष्ट, उम्मीदें, सपने, सैंकड़ों किलोमीटर दूर केंद्र तक की यात्रा, कोचिंग-किताबों का खर्च पर आज बीपीएससी के अध्यक्ष के गैर जिम्मेदार रवैया ने पानी फेर दिया है। बिहार में बेरोजगारों को रोजगार के लिए अन्य प्रदेशों में पलायन करना पड़ रहा है, दूसरी ओर ऐसी महत्वपूर्ण परीक्षा का पेपर लीक हो जाना भ्रष्टाचार की पराकाष्ठा है।"
दूसरी तरफ वीआईपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता देव ज्योति ने भी कहा कि छात्र जब अपनी मांग को लेकर सड़क पर उतरते हैं तो सरकार लाठी चार्ज करवाती है, आज तो लाखों बच्चों का भविष्य सरकार ने दांव पर लगा दिया है, सरकार अब क्या करेगी? उन्होंने मांग किया कि इस मामले में जो भी दोषी हों उस पर कड़ी से कड़ी कारवाई की जाए।

यह भी पढ़ें

बिहार: BPSC PT परीक्षा का पेपर लीक, मैच कर गए सोशल मीडिया में वायरल हुए प्रश्न

बता दें पीटी रद्द होने के बाद पांच लाख छात्रों को झटका लगा है। खासकर दूरदराज से परीक्षा देने आए छात्रों को आर्थिक रूप से तो नुकसान हुआ ही, मानसिक तौर पर भी वे परेशान हुए। वहीं अब दुबारा परीक्षा देने के लिए छात्रों के कम से कम तीन महीने का इंतजार करना पड़ेगा। बता दें, 67वीं पीटी के लिए 6 लाख दो हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। इसमें शामिल होने के लिए पांच लाख 18 हजार ने एडमिड कार्ड डाउनलोड किया।
तो वहीं परीक्षा रद्द होने से बिहार लोक सेवा आयोग को लगभग 10 करोड़ से अधिक का नुकसान हुआ है। परीक्षा के लिए प्रश्न पत्र, ओएमआर शीट आदि छपवाने में काफी खर्च होता है। सभी परीक्षा केंद्रों को व्यवस्था के लिए अच्छी-खासी राशि दी जाती है। साथ ही परीक्षा ड्यूटी में लगाए गए तमाम अधिकारी से लेकर कर्मियों को परीक्षा ड्यूटी के लिए राशि उपलब्ध करायी जाती है। राज्यभर में 1083 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे।

यह भी पढ़ें

8 से 11 मई तक इजरायल दौरे पर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, रेगिस्तान में सब्जी उगा रहे भारतीय मूल के किसान से भी करेंगे मुलाकात

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

श्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी को लगी गोली, जवान भी घायल38 साल बाद शहीद लांसनायक चंद्रशेखर का मिला शव, सियाचिन ग्लेशियर की बर्फ में दबकर हो गए थे शहीदराष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का देश के नाम संबोधन, कहा - '2047 तक हम अपने स्वाधीनता सेनानियों के सपनों को पूरी तरह साकार कर लेंगे'पंजाब में शुरु हुई सेहत क्रांति की शुरुआत, 75 'आम आदमी क्लीनिक' बन कर तैयार, देश के 75वें वर्षगांठ पर हो जाएंगे जनता को समर्पितMaharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.