scriptAgnipath Scheme: By 2032, there will be 50 percent Agniveer in Army | Agnipath Scheme : 2032 तक भारतीय सेना में होंगे 50% अग्निवीर | Patrika News

Agnipath Scheme : 2032 तक भारतीय सेना में होंगे 50% अग्निवीर

केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना की चर्चा इन दिनों पूरे देश में है. एक योजना जिसके तहत युवाओं को सेना में सेवा करने का मौका मिलेगा। साथ ही उन्हें अच्छा वेतन भी मिलेगा। उम्मीद है कि इससे आने वाले दिनों में सैन्य मोर्चे पर देश की ताकत और बढ़ेगी। वाइस चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू के मुताबिक सरकार की इस योजना से साल 2030-32 तक सेना के 12 लाख जवानों में से आधे 'अग्निवीर' होंगे। बता दें कि इस योजना के तहत भर्ती किए गए लोगों का नाम 'अग्निवीर' रखा गया है।

जयपुर

Published: June 16, 2022 06:03:08 pm

लेफ्टिनेंट-जनरल बीएस राजू ने बुधवार को मीडिया से बात करते हुए कहा, 'अग्निपथ' सरकार की सैन्य भर्ती की बड़ी योजना है और इसमें 2030-2032 तक इतनी भर्तियां होंगी कि युद्धों से लड़ने के अनुभव के उचित संतुलन को प्राप्त करने के लिए 12 लाख मजबूत सेना का आधा हिस्सा अग्निवीरों से ही आएगा। यह कहते हुए कि उन्होंने बताया कि अगर जरूरत हुई तो अग्निपथ योजना को बदल दिया जाएगा।
b-s-raju-1200.jpg
हर साल बढ़ेंगी इस योजना में भर्तियां

मीडिया से बात करते हुए लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू ने कहा, 'इस योजना के तहत हर साल भर्तियों की संख्या बढ़ाई जाएगी। इस साल 40 हजार लोग इसमें शामिल होंगे। सातवें और आठवें साल तक इसकी संख्या 1.2 लाख तक पहुंच जाएगी। जबकि 10वें और ग्यारहवें वर्ष में यह संख्या 1.6 लाख तक पहुंच जाएगी।
25 प्रतिशत को 15 साल तक नौकरी का अवसर
कहा जा रहा है कि इस योजना के तहत इस साल वायुसेना और नौसेना में 3000 अग्निशामकों की भर्ती की जाएगी। हालांकि यहां भी साल दर साल भर्तियों की संख्या बढ़ाई जाएगी। अग्निवीरों के प्रत्येक बैच से केवल 25 प्रतिशत अच्छे सैनिकों को अगले 15 वर्षों के लिए नियमित संवर्ग में शामिल किया जाएगा। जबकि बाकी 75 फीसदी को चार साल बाद हटा दिया जाएगा।
सेना की औसत आयु बढ़ेगी

वाइस चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ बीएस राजू के मुताबिक, इस योजना से सेना की फिटनेस भी बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि वर्तमान में सेना में औसत आयु 32 वर्ष है। लेकिन अग्निवीरों की भर्ती के 6-7 साल बाद यह औसत आयु घटकर 24-26 साल रह जाएगी।
बीएस राजू ने कहा कि उद्देश्य अंततः 50:50 के अनुपात में नियमित कैडर सैनिक (पूर्ववर्ती अग्निवीर) और अग्निवीर (चार साल के कार्यकाल पर) है। इससे छह से सात वर्षों में सैनिकों की औसत आयु मौजूदा 32 से घटाकर 24-26 करने से अधिक सेना अधिक फिट, तकनीक-प्रेमी सेना बन जाएगी।
समाज के सैन्यीकरण की आशंका बेबुनियाद

”लेफ्टिनेंट-जनरल राजू ने कहा अखिल भारतीय, सर्व-वर्ग भर्ती के आधार पर सैनिकों का एक बड़ा हिस्सा सेना की व्यावसायिकता, रेजिमेंटल लोकाचार और लड़ाई की भावना से ओतप्रोत हो जाएगा। यह आशंका कि इससे समाज का सैन्यीकरण होगा और हर साल 35,000 से अधिक युद्ध-प्रशिक्षित युवाओं को बेरोजगार कर दिया जाएगा, इन चिंताओं को राजू काफी हद तक गलत और बेबुनियाद मानते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: संजय राउत का बड़ा दावा, कहा-मुझे भी गुवाहाटी जाने का प्रस्ताव मिला था; बताया क्यों नहीं गएआतंकी सोच ऐसी कि बाइक का नम्बर भी 2611, मुम्बई हमले की तारीख से जुड़ा है नंबर, इसी बाइक से भागे थे दरिंदेनूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट लिखने पर अमरावती में दुकान मालिक की हुई हत्या!दिल्ली में Spicejet विमान की हुई इमरजेंसी लैंडिंग, कैबिन में दिखा धुआंMaharashtra Politics: उद्धव और शिंदे के बीच सुलह कराना चाहते हैं शिवसेना के सांसद, बीजेपी का बड़ा दावा-12 एमपी पाला बदलने के लिए तैयारदक्षिणी ईरान में आए 4 अलग-अलग भूकंप, 5 लोगों की मौत कई घायलUdaipur Kanhaiya Lal Murder: उदयपुर हत्याकांड के आरोपियों को NIA कोर्ट जयपुर में किया जाएगा पेशWeather Update: मानसून की दस्तक के साथ दिल्ली में 10 डिग्री लुढ़का पारा, जानिए अगले हफ्ते बारिश को लेकर IMD का अलर्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.