scriptAssam DGP says Leaders of Islamic community will monitor madrassas | इस्लामी नेताओं ने कबूला असम के मदरसों में हो रही थी गड़बड़, डीजीपी बोले- सरकारी पोर्टल पर दर्ज होगी सभी डिटेल | Patrika News

इस्लामी नेताओं ने कबूला असम के मदरसों में हो रही थी गड़बड़, डीजीपी बोले- सरकारी पोर्टल पर दर्ज होगी सभी डिटेल

locationनई दिल्लीPublished: Sep 18, 2022 02:08:40 pm

Submitted by:

Prabhanhu Ranjan

Control on Madrasas in Assam: मदरसों से आतंकवाद को बढ़ावा देने के कई मामले बीते कुछ दिनों में असम से सामने आए है। जिसके बाद राज्य सरकार मदरसों पर नकेल कसने की कोशिश में लगी है। अब असम डीजीपी ने बताया कि राज्य में इस्लामी नेता मदरसों की मॉनिटरिंग करेंगे।

 

photo_6141010601816732392_w.jpg
Assam DGP says Leaders of Islamic community will monitor madrassas

Control on Madrasas in Assam: असम में बीते कुछ दिनों से आतंकियों पर शिकंजा कसा जा रहा है। इस कड़ी में पुलिस ने आतंक को बढ़ावा देने वाले कई मदरसों पर बुलडोजर पर चलवाया है। साथ ही सरकार ने एक पोर्टल भी बनाया है, जिसपर राज्य में चलने वाले मदरसों की सभी डिटेल्स अपलोड की जाएगी। अब असम के डीजीपी भास्कर ज्योति महंत ने कहा कि इस्लामी समाज के नेता राज्य के मदरसों की मॉनिटरिंग करेंगे। वो इस बात पर नजर रखेंगे कि मदरसों में राष्ट्रविरोधी और आतंक को बढ़ावा देने का कोई काम न हो।

रविवार को एक समाचार एजेंसी से बात करते हुए असम डीजीपी भास्कर ज्योति महंत ने कहा कि इस्लामी समाज के नेता मदरसों की मॉनिटरिंग करेंगे। इन लोगों ने यह स्वीकार किया है कि राज्य में कई मदरसों सही से संचालित नहीं किया जा रहे हैं। मदरसों से जुड़ी डिटेल्स सरकार द्वारा बनाए गए पोर्टल पर अपलोड की जाएगी।

17 बांगालदेशी नागरिकों को किया गया गिरफ्तार


असम डीजीपी ने आगे बताया कि भारतीय वीजा नियम को तोड़ने के आरोप में 17 बांग्लादेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया है। ये सभी बाघमारी इलाके से गिरफ्तार किए गए। डीजीपी ने बताया कि पकड़े गए सभी बांग्लादेशी नागरिक टूरिस्ट वीजा पर भारत आए थे लेकिन भारत में धार्मिक उपदेश दिया करते थे। इससे पहले असम के पुलिस महानिदेशक भास्कर ज्योति महंत ने राज्य भर के विभिन्न इस्लामी संगठनों से मुलाकात कर मदरसों की देखरेख में उनका समर्थन मांगा था।

यह भी पढ़ें

असम में मदरसों को अब अपने नियमों को ऑनलाइन करना होगा अपलोड

धार्मिक शिक्षकों के वेश में राज्य विरोधी गतविधियों में शामिल


तब डीजीपी ने कहा कि हम राज्य भर में इस्लामी संगठनों से मिले और उनसे मदद मांगी। उनके सहयोग के बिना, हम राज्य में अल-कायदा और एबीटी मॉड्यूल का भंडाफोड़ नहीं कर सकते। हमने उनसे अपना समर्थन और सहयोग देने का आग्रह किया और उन्होंने हमें अपने समर्थन का आश्वासन भी दिया है। डीजीपी ने बताया कि हमें जानकारी मिली है कि कुछ आतंकवादी धार्मिक शिक्षकों के वेश में राज्य में घुस आए थे और चुपचाप अपनी विध्वंसक और राज्य विरोधी गतिविधियों में आगे बढ़ गए थे।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.