scriptBihar BJP and JDU Leaders Comments on Agnipath Protest in state | बिहारः 'अग्निपथ आंदोलन' को ले NDA में रार, BJP नेता ने प्रशासन को लताड़ा तो JDU अध्यक्ष बोले- उनका मानसिक संतुलन बिगड़ गया है | Patrika News

बिहारः 'अग्निपथ आंदोलन' को ले NDA में रार, BJP नेता ने प्रशासन को लताड़ा तो JDU अध्यक्ष बोले- उनका मानसिक संतुलन बिगड़ गया है

अग्निपथ आंदोलन की आग में अब सियासी रिश्ते भी जल रहे हैं। इस आंदोलन को सबसे ज्यादा झेलने वाले बिहार में कानून व्यवस्था के मसले पर एनडीए में रार छिड़ गई है। बीजेपी की ओर से प्रशासन पर सवाल उठाए गए तो जदयू ने इसका मुंहतोड़ जवाब देते हुए सवाल उठाए वाले पर ही कई सवाल खड़े कर दिए।

नई दिल्ली

Published: June 18, 2022 07:35:24 pm

सेना भर्ती की नई स्कीम अग्निपथ का सबसे अधिक विरोध बिहार में देखने को मिला। इस स्कीम की घोषणा के अगले ही दिन बिहार के कई शहरों में सैकड़ों की संख्या में लोग सड़कों पर उतर आए। शुरुआत में इस विरोध-प्रदर्शन को रोकने में बिहार सरकार की स्थिति लचर दिखी। बाद में काफी बात बिगड़ने पर इंटरनेट बंद सहित अन्य पाबंदियों लगाई गई। अब इस मामले को लेकर बिहार की सत्ता पर आसीन दो पार्टियां आमने-सामने आ गई है।

lalan_singh_sanjay_jaisawal.jpg
Bihar BJP and JDU Leaders Comments on Agnipath Protest in state

अग्निपथ आंदोलन पर प्रशासन की चुप्पी को लेकर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने शनिवार को अपनी ही सरकार पर करारा हमला बोला। उन्होंने इस विरोध को एक साजिश बताते हुए कहा कि पूरे हिंदुस्तान में जो नहीं हुआ, वह बिहार में हो रहा है। उन्होंने कहा कि पांच दिन पहले अग्निपथ योजना प्रारंभ की गई, लेकिन जिस तरह विपक्षी दलों द्वारा अफवाहों का बाजार गर्म किया जा रहा है, इसमें कुछ छात्रों को भड़काने का काम किया गया है, सुनियोजित और संगठित ढंग से विरोधी दलों के द्वारा खास एजेंडा के तहत बिहार को पूरी तरह तबाह करने की कोशिश की गई।

मधेपुरा में 300 जवानों के सामने जला बीजेपी ऑफिस-
पटना स्थित भाजपा कार्यालय में उन्होंने प्रशासन की भूमिका पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि इस दौरान जिस तरह प्रशासन की भूमिका रही है वह भी अच्छी नहीं रही है। प्रशासन का काम होता है शांति बनाना। भाजपा के मधेपुरा कार्यालय को जलाया गया वहां 300 पुलिसकर्मी थे, सभी दर्शक बनकर बैठे रहे। नवादा में भी भाजपा कार्यालय तोड़ा गया, वहां भी पुलिस थी। कहीं न कहीं प्रशासन की दयनीय स्थिति रही। संजय जायसवाल ने कहा कि प्रशासन सक्रिय रहा होता तो बहुत कुछ देखने को नहीं मिलता। यह पूरी तरह एक साजिश है।
यह भी पढ़ेंः अग्निपथः जान जोखिम में डाल जलती बोगी से दूसरी बोगियों को किया अलग, फिर धक्के मार सुरक्षित स्थान तक पहुंचाया

विरोध कर रहे लोगों को केंद्र व बीजेपीवालों को समझाना चाहिए-
संजय जायसवाल के इस बयान के सामने आते ही जदयू की ओर इसका मुंहतोड़ जवाब दिया गया। जदयू अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने संजय जायसवाल को आड़े हाथों लेते हुए यहां तक कह दिया कि उनका मानसिक संतुलन बिगड़ा हुआ है। ललन सिंह ने कहा कि इस स्कीम को लेकर पूरे देश में विरोध हो रहा है। स्कीम का विरोध कर रहे लोगों को बीजेपी व केंद्र सरकार को समझाना चाहिए।
यह भी पढ़ेंः सुबह 4 से रात 8 बजे तक बिहार में नहीं चलेंगी ट्रेनें, 'अग्निपथ आंदोलन' को ले ECR का बड़ा फैसला

संजय जायसवाल से सीखने की जरूरत नहींः ललन सिंह
प्रशासन पर सवाल उठाए जाने के मसले पर उन्होंने कहा कि जो ऐसे सवाल उठा रहे है, उनका मानसिक संतुलन बिगड़ गया है। उत्तर प्रदेश, हरियाणा, मध्य प्रदेश सहित बीजेपी शासित कई राज्यों में प्रदर्शन हुआ। वहां उन्होंने गोलियां क्यों नहीं चलवा दी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का जिक्र करते हुए ललन सिंह ने कहा कि उन्हें गुड गर्वनेंस के लिए सर्टिफिकेट मिल चुका है। उन्हें संजय जायसवाल से कुछ सीखन की जरूरत नहीं है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.