scriptBihar terror module case: Accused received cryptos from Qatar | Bihar Terror Module Case: बिहार के फुलवारी शरीफ मामले में बड़ा खुलासा, आरोपी को कतर से क्रिप्टोकरेंसी के रूप में मिल रही थी फंडिंग | Patrika News

Bihar Terror Module Case: बिहार के फुलवारी शरीफ मामले में बड़ा खुलासा, आरोपी को कतर से क्रिप्टोकरेंसी के रूप में मिल रही थी फंडिंग

Bihar Terror Module: बिहार के टेरर से जुड़े मामले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। आरोपी अहमद दानिश को क्रिप्टो के रूप में फंडिंग मिल रही थी ताकि वो देश विरोधी प्रोपेगेंडे को फैला सके। उसका पाकिस्तान से भी कनेक्शन साफ हो गया है।

Updated: July 24, 2022 02:33:36 pm

क्रिप्टोकरेंसीका इस्तेमाल अब भारत विरोधी गतिविधियों में इस्तेमाल हो रहा है। आरबीआई कई अवसरों पर इसपर चिंता जाहिर कर चुका है। अब बिहार के एक मामले में इसका कनेक्शन सामने आया है। दरअसल, बिहार में फुलवारी शरीफ आतंकी मॉड्यूल मामले के आरोपी का कटर से कनेक्शन सामने आया है। पुलिस ने जांच में खुलासा किया है कि आरोपी को कतर से कथित तौर पर क्रिप्टोकरेंसी फंडिंग मिल रही थी। इसके अलावा वो पाकिस्तान स्थित एक कट्टरपंथी संगठन के संपर्क में भी था। पुलिस इस मामले में आगे और छानबीन कर रही है
Bihar terror module case: Accused received cryptos from Qatar
Bihar terror module case: Accused received cryptos from Qatar
पुलिस ने इस मामले की जांच में खुलासा करते हुए कहा है कि, फुलवारी शरीफ निवासी मारगुव अहमद दानिश को कतर स्थित संगठन ‘अल्फाल्ही’ से क्रिप्टोकरंसी के रूप में फंडिंग मिली थी।' NIA भी अब इस मामले की जांच कर रहा है। इसके अलावा पुलिस ने जानकारी दी कि वो फैजान नाम के एक पाकिस्तानी नागरिक और पाकिस्तान स्थित कट्टरपंथी समूह तहरीक-ए-लब्बैक के साथ नियमित रूप से संपर्क में था।

पुलिस ने जानकारी दी कि "जांच में सामने आया है कि व्हाट्सऐप ग्रुप ‘गजवा-ए-हिंद’ पर राष्ट्रीय ध्वज और प्रतीक का अपमान करने वाले मैसेज शेयर किये गए थे।" जानकारी के मुताबिक इस ग्रुप का ऐड्मिन खुद दानिश था और वो कई विदेशी ग्रुपों से जुड़ा हुआ था। ये व्हाट्सऐप ग्रुप 2016 से ही सक्रिय है। दानिश के परिवार के 6 लोग पाकिस्तान के कराची में रहते हैं।
यह भी पढ़ें

भोपाल में पकड़े गए आतंकियों के सहयोगी बिहार से दबोच लाई NIA

बता दें कि अहमद दानिश को देश विरोधी विचारों का प्रचार करने के लिए दो व्हाट्सऐप ग्रुप ‘गजवा-ए-हिंद’ और ‘डायरेक्ट जिहाद’ चलाने के आरोप में 15 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था। अब तक इस मामले में पाँच गिरफ्तारियां की जा चुके हैं। यही नहीं फुलवारी शरीफ में की गई छापेमारी में भी पुलिस को कई महत्वपूर्ण दस्तावेज भी बरामद किये हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Gujarat News: जामनगर के होटल में लगी भयानक आग, स्टाफ सहित 27 लोग थे मौजूद, सभी सुरक्षितत्रिपुरा कांग्रेस विधायक सुदीप रॉय बर्मन पर जानलेवा हमला, गंभीर रूप से हुए घायलबांदा में यमुना नदी में डूबी नाव, 20 के डूबने की आशंकाCM अरविंद केजरीवाल ने किया सवाल- 'मनरेगा, किसान, जवान… किसी के लिए पैसा नहीं, कहां गया केंद्र सरकार का धन'SCO समिट में पीएम मोदी के साथ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की हो सकती है बैठकबिहारः 16 अगस्त को महागठबंधन सरकार का कैबिनेट विस्तार, 24 को फ्लोर टेस्ट, सुशील मोदी के दावे को नीतीश ने बताया बोगसझारखंड BJP ने बिहार के नए उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को गिफ्ट में भेजा पेन, कहा - '10 लाख नौकरी देने वाली फाइल पर इससे करें हस्ताक्षर'Karnataka High Court: एक्सीडेंट में माता-पिता की मौत होने पर विवाहित बेटियां भी मुआवजे की हकदार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.