दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया के घर CBI का छापा

दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया के घर CBI का छापा

guest user | Updated: 16 Jun 2017, 12:33:00 PM (IST) राष्ट्रीय

सीबीआई की टीम मनीष सिसोदिया के घर कुछ पूछताछ करने पहुंची है। सीबीआई ने मनीष से 'टॉक टू एके' मामले पर मांगी जानकारी मांगी है। इसको लेकर पहले ही अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी केंद्र सरकार पर हमला कर चुकी है। फिलहाल सीबीआई के अधिकारी मनीष के मथुरा रोड स्थित सरकारी आवास AB 17 पर मौजूद हैं।

दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर पर सीबीआई का छापा पड़ा है। सीबीआई की टीम मनीष सिसोदिया के घर कुछ पूछताछ करने पहुंची है। हालांकि आधाकारिक तौर पर नहीं कहा जा सकता कि छापे किस मामले को लेकर मारे जा रहे है लेकिन कयास लगाए जा रहे है कि सीबीआई ने मनीष से 'टॉक टू एके' मामले पर मांगी जानकारी मांगी है। आपको बता दें कि 'टॉक टू एके' एक ऐसा प्रोग्रम था जिसमें यह आरोप था कि नियमों को ताक पर रखकर एक कंपनी को टेंडर दिया गया। इसको लेकर पहले ही अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी केंद्र सरकार पर हमला कर चुकी है। 




गौरतलब है कि यह छापा मनीष सिसोदिया के सरकारी आवास पर पड़ा है। मनीष सियोदिया दिल्ली सरकार के वो मंत्री हैं जिनके पास सबसे ज्यादा मंत्रालय हैं। वहीं छापे के कारणों में पिछले दिनों एंटी करप्शन ब्यूरो को आप के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा द्वारा दिए गए कई सबूतों के बाद भी ये कार्रवाई हो सकती है। फिलहाल सिर्फ कयास लगाए जा रहे है कि यह छापा क्यों पड़ा है। इन कारणों की आधिकारिक पुष्टि होना बाकी है। 




फिलहाल सीबीआई के अधिकारी मनीष के मथुरा रोड स्थित सरकारी आवास AB 17 पर मौजूद हैं और कागजात खंगाल रहे हैं। गौरतलब है कि सीबीआई इससे पहले भी राजेन्द्र कुमार सहित आठ अन्य लोगों और इंडीवर सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ कथित आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी एवं फर्जीवाड़े के मामले में आईपीसी की धारा तथा भ्रष्टाचार रोकथाम कानून के प्रावधानों के तहत आरोपपत्र दायर किया था। 


खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned