scriptCentre questions estimate model after WHO claims 4.7 million excess Covid deaths in India | कोरोना से मौत का WHO का आंकड़ा भारत सरकार ने किया खारिज | Patrika News

कोरोना से मौत का WHO का आंकड़ा भारत सरकार ने किया खारिज

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के कोरोना से मौतों के आंकड़े को भारत सरकार ने खारिज कर दिया हैै। केंद्र सरकार ने इस पर आपत्ति जताते हुए कहा कि WHO का Covid-19 से मरने वालों वालों की गणना का मॉडल बेबुनियाद है।

नई दिल्ली

Updated: May 06, 2022 01:12:12 pm

भारत सरकार ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा देश में कोरोना वायरस से होने वाली मौतों के अनुमानी आंकड़ों को चुनौती दी है। सरकार ने अंतरराष्ट्रीय सार्वजनिक स्वास्थ्य निकाय द्वारा इस्तेमाल किए गए अनुमान मॉडल की वैधता पर सवाल उठाया है। WHO का अनुमान है कि पिछले दो सालों में 14.9 मिलियन लोगों ने कोरोना वायरस से या स्वास्थ्य प्रणालियों पर पड़े इसके प्रभाव के कारण जान गंवाई है। उन्होंने कहा कि 1 जनवरी, 2020 और 31 दिसंबर, 2021 के बीच भारत ने 4.7 मिलियन अधिक मौतों की सूचना दी थी। वहीं भारत ने इन मौत के आंकड़ों को सिरे खारिज कर दिया है। अब इन आंकड़ों को लेकर राजनीति घमासान मचा हुआ है। विपक्ष इनको लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोल रहा है।

Covid deaths in India
Covid deaths in India

84 फीसदी अतिरिक्त मौत का आंकड़ा 10 देशों में मिला
विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि पूर्वानुमान की तुलना में अधिकांश बढ़ी मौतें दक्षिण-पूर्व एशिया, यूरोप और अमेरिका में हुई है। इन देशों में कुल बढ़ी मौतों का करीब 84 प्रतिशत आंकड़ा मिला है। वैश्विक स्तर पर लगभग 68% अतिरिक्त मौतों का आंकड़ा केवल 10 देशों अधिक पाया गया है।

सरकार ने आंकड़ों पर उठाए सवाल
रिपोर्ट के बाद भारत ने प्रामाणिक डेटा की उपलब्धता के मद्देनजर कोरोनोवायरस महामारी से जुड़े अतिरिक्त मृत्यु अनुमानों को पेश करने के लिए डब्ल्यूएचओ द्वारा गणितीय मॉडल के उपयोग पर कड़ी आपत्ति जताई। भारत सरकार ने कहा कि इस्तेमाल किए गए मॉडलों की वैधता और मजबूती और डेटा संग्रह की कार्यप्रणाली संदिग्ध है। WHO में कोरोना से हुई मौतों के आकलन के लिए देशों को दो कैटेगरी में टियर 1 और टियर 2 रखा है। भारत को टियर 2 कैटेगरी में रखा गया है, इस बात पर भी सरकार को ऐतराज है।

यह भी पढ़ें

Haryana Covid Update: कोरोना के 534 नए मरीज मिले, भिवानी की कांग्रेस विधायक किरण चौधरी भी संक्रमित





भारत में बना हुआ है एक सिस्टम
सरकार ने अपना पक्ष करते हुए कहा कि भारत में जन्म और मौत की गणना करने के लिए एक सिस्टम बना हुआ है। तीन लाख से ज्यादा रजिस्ट्रार और सब- रजिस्ट्रार सिस्टम के जरिए यह गणना की जाती है। इस सिस्टम के तहत पता चलता है कि किसी साल में कितने लोगों का जन्म हुआ और कितने लोगों की मौत हुई। सरकार की तरफ से यह डाटा हर साल जारी किया जाता है। जन्म और मृत्यु रजिस्ट्रेशन एक्ट 1969 के तहत ये हर साल ये आंकड़े सार्वजनिए किए जाते है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, एक्सक्लूसिव रिपोर्ट सिर्फ पत्रिका के पास, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट में...BOXER Died in Live Match: लाइव मैच में बॉक्सर ने गंवाई जान, देखें वायरल वीडियोBRICS Summit: ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन में शामिल हुए भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर, उठाया आतंकवाद का मुद्दासीएम मान ने अमित शाह से मुलाकात के बाद कहा-पंजाब में तैनात होंगे 2,000 और सुरक्षाकर्मीIPL 2022, RCB vs GT: Virat Kohli का तूफान, RCB ने जीता मुकाबला, प्लेऑफ की उम्मीदों को लगे पंखVirat Kohli की कप्तानी पर दिग्गज भारतीय क्रिकेटर ने उठाए सवाल, कहा-खिलाड़ियों का समर्थन नहीं कियादिल्ली हाई कोर्ट से AAP सरकार को झटका, डोर स्टेप राशन डिलीवरी योजना पर लगाई रोकसुप्रीम कोर्ट का फैसला: रोड रेज केस में Navjot Singh Sidhu को एक साल जेल की सजा, जानें कांग्रेस नेता ने क्या दी प्रतिक्रिया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.