scriptNitish Kumar: जबरदस्ती इंजिनियर के साथ ये क्या करने लगे नीतीश कुमार? दोनों डिप्टी सीएम रह गए हैरान | CM Nitish Kumar started touching the feet of an engineer at the inauguration of third phase of Marine Drive | Patrika News
राष्ट्रीय

Nitish Kumar: जबरदस्ती इंजिनियर के साथ ये क्या करने लगे नीतीश कुमार? दोनों डिप्टी सीएम रह गए हैरान

Nitish kumar: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज पटना में मरीन ड्राइव के तीसरे फेज का उद्घाटन करने पहुंचे थे। यहां उन्होंने इंजिनियर को अपने पास बुलाकर कुछ ऐसा किया जिसे देख सभी हैरान रह गए।

नई दिल्लीJul 10, 2024 / 02:58 pm

Paritosh Shahi

Nitish kumar: बिहार की राजधानी पटना में गंगा जेपी पथ के तीसरे फेज का शुभारंभ करने पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अजीबोगरीब हरकत की। पटना में गायघाट से कंगन घाट तक मरीन ड्राइव का विस्तार किया जा रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बुधवार को इसके तीसरे फेज का उद्घाटन करने पहुंचे थे। तभी अचानक वो कंपनी के प्रोजेक्ट इंजीनियर को बुलाकर हाथ जोड़ने लगे और पैर छूने की कोशिश की। यह नजारा देखकर वहां मौजूद दोनों उप मुख्यमंत्री विजय कुमार सिन्हा और सम्राट चौधरी समेत सभी पदाधिकारी अचंभित रह गए। सोशल मीडिया पर यह वीडियो खूब वायरल हो रहा है। सीएम ने इंजीनियर से कहा कि आप सबके सामने बताइए कि निर्माण कार्य कब तक पूरा होगा। इस पर प्रोजेक्ट इंजीनियर ने कहा कि इसे जल्द पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद नीतीश कुमार ने कहा कि हम चाहते हैं पूरे प्रोजेक्ट का काम सही से हो जाए, इसलिए हमने इन्हें मीडिया के सामने बुलाकर कहा है कि आप सबके सामने यह स्वीकार कीजिए।

तेजस्वी यादव ने कसा तंज

इस मामले पर बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने ट्विट करते हुए लिखा, “पूरे विश्व में इतना असहाय, अशक्त, अमान्य, अक्षम, विवश, बेबस, लाचार और मजबूर कोई ही मुख्यमंत्री होगा जो BDO, SDO, थानेदार से लेकर वरीय अधिकारियों और यहाँ तक कि संवेदक के निजी कर्मचारी के सामने बात-बात पर हाथ जोड़ने और पैर पड़ने की बात करता हो? बिहार में बढ़ते अपराध, बेलगाम भ्रष्टाचार, पलायन एवं प्रशासनिक अराजकता का मुख्य कारण यह है कि एक कर्मचारी तक (अधिकारी तो छोड़िए) मुख्यमंत्री की नहीं सुनता? क्यों नहीं सुनता और क्यों नहीं आदेशों का पालन करता, यह विचारनीय विषय है? हालाँकि इसमें कर्मचारी व अधिकारियों का अधिक दोष भी नहीं है। एक कमजोर बेबस मुख्यमंत्री के कारण “बिहार में होना वही है जो ‘चंद’ सेवारत और ‘सेवानिवृत्त अधिकारियों ने ठाना है” क्योंकि अधिकारी भी जानते है कि ये 43 सीट वाली तीसरे नंबर की पार्टी के मुख्यमंत्री है। जब शासन में इक़बाल खत्म हो जाए हो और शासक में आत्मविश्वास ना रहे तब उसे सिद्धांत,जमीर और विचार किनारे रख ऊपर से लेकर नीचे तक बात-बात पर ऐसे ही पैर पड़ना पड़ता है। बहरहाल हमें कुर्सी की नहीं बल्कि बिहार और 14 करोड़ बिहारवासियों के वर्तमान और भविष्य की चिंता है।”

सोनपुर और हाजीपुर की ओर आने-जाने वाले लोगों के लिए होगी आसानी

बता दें, सीएम नीतीश कुमार ने पहले चरण में 24 जून, 2022 को दीघा से पीएमसीएच तक का लोकार्पण किया था। इसके बाद दूसरे चरण का लोकार्पण 14 अगस्त 2023 को पीएमसीएच से गायघाट तक किया गया। अब तीसरे चरण के अंतर्गत गायघाट से कंगन घाट तक का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद लोकार्पण किया। इसके साथ ही मार्ग पर लोगों और वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई है। अब सोनपुर और हाजीपुर की ओर आने-जाने वाले लोगों के लिए आसानी होगी।

6000 करोड़ रुपए है लागत

गंगा नदी के किनारे विकसित किए जा रहे मरीन ड्राइव पथ में दीघा से गायघाट तक साढे 12 किलोमीटर सड़क पर परिचालन हो रहा है। वहीं तीसरे चरण में गायघाट से कंगन घाट तक की बात करें तो अब इसके बीच करीब 17 किलोमीटर जेपी गंगा पथ का निर्माण पूरा हो गया है। जेपी पथ की शुरुआत सीएम नीतीश कुमार ने साल 2013 में की थी। इस पथ को कच्ची दरगाह से बिदुपुर तक बन रहे सिक्स लेन पुल से जोड़ने की योजना है। रिपोर्ट के अनुसार इस प्रोजेक्ट की लागत 6000 करोड़ रुपए है।

Hindi News/ National News / Nitish Kumar: जबरदस्ती इंजिनियर के साथ ये क्या करने लगे नीतीश कुमार? दोनों डिप्टी सीएम रह गए हैरान

ट्रेंडिंग वीडियो