scriptcorona vaccination for 15-18 years will start from 1 january 2022 | Corona Vaccination: 1 जनवरी से वैक्सीन के लिए CoWIN पर शुरू होगा 15-18 साल के बच्चों का रजिस्ट्रेशन | Patrika News

Corona Vaccination: 1 जनवरी से वैक्सीन के लिए CoWIN पर शुरू होगा 15-18 साल के बच्चों का रजिस्ट्रेशन

देश में 3 जनवरी से 15 से 18 साल के बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू होने जा रहा है। वैक्सीनेशन के लिए बच्चों को कोविन(CoWin) प्लेटफॉर्म पर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। ये रजिस्ट्रेशन नए साल के पहले दिन यानी 1 जनवरी से शुरू हो जाएगा।

नई दिल्ली

Updated: December 27, 2021 01:50:20 pm

भारत में बच्चों के कोरोना टीकाकरण की तैयारियां तेज हो गई हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों 15 से 18 वायुवर्ग के बच्चों के टीकाकरण का ऐलान कर दिया था। आपको बता दें कि यह टीकाकरण अभियान 3 जनवरी 2022 से शुरू होना है।
vaccine_for_child.jpg
15-18 vaccination (Representative Image)
1 जनवरी से शुरू होगा cowin पर रजिस्ट्रेशन:
बच्चो के लिए COVID-19 वैक्सीनेशन के रजिस्ट्रेशन की शुरुआत 1 जनवरी 2022 से हो जाएगी। CoWIN प्लेटफॉर्म के प्रमुख डॉ. आरएस शर्मा के मुताबिक, 15-18 वर्ष की आयु के बच्चे 1 जनवरी से CoWIN ऐप पर पंजीकरण कर सकेंगे। इसके लिए CoWIN ऐप पर जरूरी बदलाव किए गए हैं। यहां 10वां आईडी कार्ड जोड़ा गया है। इसे स्टूडेंट आईडी कार्ड नाम दिया गया है। ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि हो सकता है कि कुछ बच्चों के पास आधार कार्ड या कोई दूसरा पहचान पत्र न हो।

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, भारत बायोटेक का कोवैक्सिन 15 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए उपलब्ध एकमात्र वैक्सीन होने की संभावना है। हालांकि ज़ायडस कैडिला की वैक्सीन ZyCoV-D को भी बच्चों के बीच अनुमोदित किया गया है। ZyCoV-D पहला टीका था जिसे बच्चों पर लगाने के लिए मंजूरी मिली थी, लेकिन यह 3 जनवरी से शुरू होने वाले टीकाकरण कार्यक्रम का हिस्सा नहीं हो सकता है क्योंकि इसे अभी तक वयस्कों के लिए भी इस्तेमाल नहीं किया गया है।

टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) के अध्यक्ष डॉ एनके अरोड़ा ने रविवार को कहा कि परीक्षण के दौरान कोवैक्सिन से बच्चों में अच्छी प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया दिखाई है। न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में डॉ अरोड़ा ने कहा, 12 से 18 साल के बच्चे, खासकर 15 से 18 साल की उम्र के बच्चे, काफी हद तक वयस्कों की तरह होते हैं। देश के भीतर हमारे शोध में यह भी कहा गया है कि भारत में COVID के कारण होने वाली मौतों में से लगभग दो-तिहाई इस आयु वर्ग के हैं। यही कारण है कि बच्चों को वैक्सीन लगाने का निर्णय लिया गया है।
यह भी पढ़ें:अब भारत में 15-18 साल के टीन एजर्स को लगेगा टीका, जानिए दुनिया के और किन देशों में बच्चों को दी जा रही वैक्सीन

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.