scriptDelhi HC Seeks Response From Center On Petition Honor Vande Mataram As National Anthem | दिल्ली हाई कोर्ट ने वंदे मातरम को राष्ट्रगान की तरह सम्मान देने वाली याचिका पर की सुनवाई, केंद्र से मांगा जवाब | Patrika News

दिल्ली हाई कोर्ट ने वंदे मातरम को राष्ट्रगान की तरह सम्मान देने वाली याचिका पर की सुनवाई, केंद्र से मांगा जवाब

दिल्ली हाई कोर्ट में बुधवार को एक अहम मामले पर सुनवाई। दरअसल वंदे मातरम को जन गन मन की तरह राष्ट्रगान का सम्मान देने के लिए एक याचिका दायर की गई थी। इसी याचिका पर दिल्ली की उच्च अदालत ने सुनवाई की। इसको लेकर हाईकोर्ट ने केंद्र से जवाब भी मांगा है।

नई दिल्ली

Published: May 25, 2022 01:32:01 pm

दिल्ली हाईकोर्ट ने 'वंदे मातरम' को राष्ट्रगान 'जन-गण-मन' के समान दर्जा देने की मांग वाली याचिका पर बुधवार को अहम सुनवाई की। इस दौरान उच्च न्यायालय ने केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है। इस नोटिस के जरिए हाई कोर्ट ने केंद्र से जवाब मांगा है। बता दें कि, एक्टिंग चीफ जस्टिस विपिन संघी और जस्टिस सचिन दत्ता ने याचिकाकर्ता एडवोकेट अश्विनी उपाध्याय की मांग पर विचार करते हुए आदेश दिया है। हालांकि दिल्ली हाईकोर्ट ने उपाध्याय को याचिका दाखिल करने पर पहले मीडिया में जाने पर नाराजगी भी जताई है।


Delhi HC Seeks Response From Center On Petition Honor Vande Mataram As National Anthem
Delhi HC Seeks Response From Center On Petition Honor Vande Mataram As National Anthem
6 हफ्तों में केंद्र को देना होगा जवाब
राष्ट्र गान की तरह वंदे मातरम को भी समान सम्मान देने की मांग वाली याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। कोर्ट ने केंद्र को 6 हफ्ते में जवाब दाखिल करने के लिए कहा है। केंद्र को ये नोटिस बीजेपी नेता अश्विनी उपाध्याय की याचिका पर जारी किया गया है।

इसके साथ ही कोर्ट ने उपाध्याय को लेकर नाराजगी भी जाहिर की है। कोर्ट ने कहा कि जब कोई याचिकाकर्ता अदालत आने से पहले ही इस मामले को मीडिया में ले जाए तो ये गलत है। कोर्ट ने कहा कि, इसका मतलब यह माना जाता है कि यह एक पब्लिसिटी स्टंट है।

यह भी पढ़ें

कुतुब मीनार केसः साकेत कोर्ट में दोनों पक्षों की दलीलें पूरी, 9 जून को अदालत सुनाएगी फैसला



आगे ऐसा ना करने का आदेश
यही नहीं दिल्ली हाईकोर्ट ने अश्वनी कुमार उपाध्याय को ऐसा ना करने का निर्देश दिया। कोर्ट ने कहा कि, आपको ऐसी क्या जरूरत है कि आप सबको ये बात बताएं। हालांकि उपाध्याय ने कहा कि वो आगे ध्यान रखेंगे।

टीवी, रॉकबैंड में गलत तरीके से हो रहा इस्तेमाल
उपाध्याय ने कहा कि हमारे पूर्वजों ने कहा है कि यह राष्ट्रीय गान के बराबर होगा, लेकिन इसे लेकर कोई दिशा-निर्देश नहीं है। उपाध्याय ने कहा कि, वंदे मातरम् का टीवी धारावाहिकों और पार्टियों गलत इस्तेमाल किया गया है। धारावाहिकों, फिल्मों और यहां तक कि रॉक बैंड में भी वंदे मातरम बहुत ही असभ्य तरीके से गाया जा रहा है।

गीत पर आधारित स्वतंत्रता-संग्राम
उपाध्याय ने कहा कि, हमारा स्वतंत्रता-संग्राम इस गीत पर आधारित था। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के पहले पांच सत्रों में और हमारे प्रथम ध्वज में वंदे मातरम ही था।

यह भी पढ़ें

दिल्ली-एनसीआर में घर खरीदना हुआ महंगा, 11 प्रतिशत तक बढ़े दाम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: देवेंद्र फडणवीस किसने कहने पर महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम बनने के लिए हुए तैयार, सामने आई यह बड़ी जानकारीUdaipur murder case: गुस्साए वकीलों ने कन्हैया के हत्यारों के जड़े थप्पड़, देखें वीडियोMaharashtra: गृहमंत्री शाह ने महाराष्ट्र के उमेश कोल्हे हत्याकांड की जांच NIA को सौंपी, नुपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने के बाद हुआ था मर्डरनूपुर शर्मा विवाद पर हंगामे के बाद ओडिशा विधानसभा स्थगिततालिबान राज में हर दिन 1 या 2 अफगान महिलाएं कर रहीं आत्महत्या, पूर्व डिप्टी स्पीकर का दावासरकार ने FCRA को बनाया और सख्त, 2011 के नियमों में किये 7 बड़े बदलावकेरल में दिल दहलाने वाली घटना, दो बच्चों समेत परिवार के पांच लोग फंदे पर लटके मिलेAmravati Killing: मृतक उमेश कोल्हे के भाई महेश ने बताई घटना वाले दिन की पूरी सच्चाई, नुपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने के बाद हुई थी हत्या
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.