scriptDress Code: Ban On Open Hair And Selfie In Bhagalpur SM College | बिहार: भागलपुर कॉलेज में खुले बाल रखने और सेल्फी पर बैन, छात्राओं ने बताया तालिबानी शरिया कानून | Patrika News

बिहार: भागलपुर कॉलेज में खुले बाल रखने और सेल्फी पर बैन, छात्राओं ने बताया तालिबानी शरिया कानून

भागलपुर के प्रतिष्ठित और एकमात्र महिला कॉलेज 'सुंदरवती महिला महाविद्यालय' (एसएम कॉलेज) में विद्यार्थियों के लिए नया ड्रेस कोड लागू किया गया है। इसमें लड़कियों के खुले बाल रखकर कॉलेज आने व परिसर में सेल्फी लेन पर बैन लगाया गया है।

नई दिल्ली

Updated: August 22, 2021 05:50:32 pm

पटना। स्कूल-कॉलेज या फिर किसी भी संस्थान में एक खास ड्रेस कोड होता है, जिसका अनुपालन करना हमारा कर्तव्य है। लेकिन कभी-कभी ड्रेस कोड के नाम पर ऐसी फूहड़ता भरी फरमान जारी कर दिया जाता है, जिसपर विवाद खड़ा हो जाता है। ऐसा ही अब एक मामला बिहार के भागलपुर से सामने आया है।

sm_college.jpg
Dress Code: Ban On Open Hair And Selfie In Bhagalpur SM College

दरअसल, बिहार के भागलपुर स्थित महिला कॉलेज में विद्यार्थियों के लिए नया ड्रेस कोड लागू किया गया है। इसको लेकर एक नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया गया है। इसको लेकर छात्रों ने भारी विरोध भी किया है। इस नोटेफिकेशन के अनुसार, भागलपुर के प्रतिष्ठित और एकमात्र महिला कॉलेज 'सुंदरवती महिला महाविद्यालय' (एसएम कॉलेज) की कमेटी ने नए ड्रेस कोड को लेकर निर्णय लिया है, जिसका पालन करना अनिवार्य है। इस नोटिफिकेशन को पर छात्रों ने आपत्ति जताते हुए विरोध जताया और इसे तालिबान का शरिया कानून करार दिया।

नए ड्रेस कोड में छात्राओं को सख्त हिदायत

बता दें कि यूनिवर्सिटी के प्राचार्य डॉ. रमन सिन्हा की ओर से यह नोटिफिकेशन जारी किया गया है। इस नोटिफिकेशन में सत्र 2021-23 की छात्राओं के लिए ड्रेस कोड बताया गया है, जिसमें कई तरह के सख्त हिदायत शामिल है।

यह भी पढ़ें
-

इस देश के स्कूल के नियम है बड़े कठोर, ड्रेस कोड से लेकर बच्चों के अंडरवियर के रंग तक तय करता हैं स्कूल

इसमें कहा गया है कि लड़कियों के खुले बाल रखकर कॉलेज आने पर प्रतिबंध है। वहीं कॉलेज परिसर में छात्राओं के सेल्फी लेने पर भी बैन है। नोटिफिकेशन में कहा गया है कि छात्राएं एक या दो चोटी बांधकर ही कॉलेज आएं, यदि किसी के बाल खुले रहे तो उसे प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

जनकारी के अनुसार, प्रिंसिपल ने नया ड्रेस कोड तय करने के लिए एक कमेटी का गठन किया था। इस कमेटी ने नए सत्र 2021-23 के लिए नया ड्रेस कोड को लेकर रॉयल ब्लू कुर्ती, सफेद सलवार, सफेद दुपट्टा, सफेद मौजे, काले जूते और बालों में दो या एक चोटी की बात कही है। वहीं, सर्दी के मौसम में रॉयल ब्लू ब्लेजर और कार्डिगन तय किया गया है। इस नए ड्रेस कोड को लेकर जहां कुछ छात्राओं ने विरोध किया है तो कुछ ने स्वागत भी किया है। बता दें कि एसएम इंटर कॉलेज में तीनों संकायों (साइंस, कॉमर्स या आर्ट्स) में बारहवीं की करीब 1500 छात्राएं हैं।

छात्राओं ने ड्रेस कोड को बताया तालिबानी शरिया कानून

एसएम कॉलेज के प्राचार्य प्रो. रमन सिन्हा ने कहा कि नया ड्रेस कोड को लागू कर दिया गया है और फिलहाल इसे नहीं बदला जाएगा। छात्राओं को नियम मानने ही होंगे। एक सवाल के जवाब में उन्होंने यहा तक कहा कि मीडिया चाहे तो इसपर वे कुछ भी तर्क देकर लिख सकते हैं।

यह भी पढ़ें
-

इस परीक्षा के ड्रेस कोड में हुआ बदलाव, एडमिट कार्ड जारी करने से पहले छात्रों को अब लेनी होगी यह अनुमति

नए ड्रेस कोड को लेकर न सिर्फ एसएम इंटर कॉलेज बल्कि विश्वविद्यालय से संबंध अन्य कॉलेजों में भी छात्राओं ने विरोध शुरू कर दिया है। छात्राओं ने इस नए ड्रेस कोड को तालिबानी शरिया कानून बताया है। छात्राओं का कहना है कि यह कॉलेज प्रशासन की घटिया मानसिकता को दर्शाता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीइस एक्ट्रेस को किस करने पर घबरा जाते थे इमरान हाशमी, सीन के बात पूछते थे ये सवालजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहदुल्हन के लिबाज के साथ इलियाना डिक्रूज ने पहनी ऐसी चीज, जिसे देख सब हो गए हैरानकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.