मुश्किल में मुन्नाभाई, जांच के आदेश

नई दिल्ली। मान्यता बीमार है। जरूरी नहीं कि बीमारी दिखे। कोई अंदर से भी बीमार हो...

By:

Published: 16 Jan 2015, 11:55 AM IST

नई दिल्ली। पुणे की यरवदा जेल में सजा काट रहे संजय दत्त को पैरोल मिलने पर सवाल उठाए जा रहे हैं।

महाराष्ट्र के गृहमंत्री आरआर पाटिल का कहना है कि संजय दत्त को पैरोल दिए जाने के कारणों की जांच होगी।

अगर पैरोल देने में नियमों का उल्लंघन हुआ तो कार्रवाई की जाएगी।

दो पार्टियों में नजर आई मान्यता
शनिवार को रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आरपीआई) कार्यकर्ताओं ने संजय दत्त्त को दूसरी बार पैरोल दिए जाने के खिलाफ यरवदा जेल के बाहर प्रदर्शन किया।

प्रदर्शन कर रहे लोगों ने संजय दत्त मुर्दाबाद के नारे लगाए। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि आम आदमी और सेलिब्रिटीज के बीच कानून भेदभाव नहीं कर सकता।

संजय दत्त को पत्नी मान्यता की सेहत खराब होने के आधार पर शुक्रवार को 30 दिन के लिए पैरोल दी गई, जबकि जबकि मान्यता गुरूवार को एक नहीं दो पार्टियों में नजर आई थी।

विरोध करने वाले छोटी सोच के
मामले पर संजय दत्त के दोस्त बंटी वालिया का कहना है कि मान्यता बीमार है। जहां तक उनके पार्टी में जाने का सवाल है तो वो एक पार्टी में नहीं एक कार्यक्रम में गई थी।

वह बीमार है। जरूरी नहीं कि बीमारी दिखे। कोई अंदर से भी बीमार हो सकता है। पता नहीं मान्यता के दोस्त के एक कार्यक्रम में जाने पर क्यों हंगामा हो रहा है। जो लोग ऎसा कर रहे हैं वे बहुत ही छोटी सोच के हैं।

नई साल पर रहेंगे परिवार संग!
यरवदा जेल के अधीक्षक योगेश देसाई का कहना है कि संजय दत्त का व्यवहार बहुत अच्छा है। पैरोल दिए जाने पर देसाई ने कहा कि पैरोल केवल स्थानीय पुलिस की रिपार्ट के अधार पर दी जाती है।

वैसे संजय दत्त आज जेल से बाहर आ सकते हैं संजय दत्त। और हो सकता है वे परिवार संग नई साल का जश्A मनाते भी नजर आएं।
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned