Earthquake In Gujarat: कच्छ में भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 4.1 मापी गई तीव्रता

Earthquake In Gujarat दो दिन में दूसरी बार गुजरात में महसूस किए गए भूकंप के झटके, कच्छ में शनिवार को आए भूकंप की 4.1 तीव्रता मापी गई

By: धीरज शर्मा

Updated: 21 Aug 2021, 02:51 PM IST

नई दिल्ली। गुजरात ( Earthquake In Gujarat ) में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। शनिवार को कच्छ ( Kutch ) जिले में 4.1 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए है। भूकंपीय अनुसंधान संस्थान ने बताया कि इसका केंद्र धोलावीरा के पास स्थित था।

बताया जा रहा है कि भूकंप के झटके महसूस होने के बाद लोग अपने-अपने घरों से बाहर निकल आए। हालांकि किसी भी तरह के जान-माल के नुकसान की जानकारी नहीं मिली है।

यह भी पढ़ेंः मेघालय, लद्दाख और राजस्थान में भूकंप के झटकों से कांपी धरती, दहशत में आए लोग

गांधीनगर स्थित संस्थान ने कहा कि शनिवार को 12 बजकर आठ मिनट पर 4.1 तीव्रता का भूकंप आया जिसका केंद्र कच्छ के धोलावीरा से 23 किलोमीटर पूर्व-दक्षिणपूर्व में था। यह 6.1 किलीमटर की गहराई में दर्ज किया गया। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक भूकंप के झटके गुजरात में राजकोट से 151 किमी उत्तर-उत्तर-पश्चिम में महसूस किए गए हैं।

भूकंप के झटके महसूस होते ही लोग घरों और दफ्तरों से बाहर निकल आए। जिला प्रशासन के अधिकारियों ने बताया कि मध्यम तीव्रता के भूकंप के चलते जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है।

गुरुवार को जामनगर में महसूस किए गए थे झटके
गुजरात में 48 घंटे में दूसरी बार भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। गुरुवार को जामनगर में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। इस दौरान रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 4.2 मापी गई थी। इससे पहले गुजरात में 4 अगस्त को भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। इसका केंद्र रापर के पास था।

गुजरात के अलावा गुरुवार की सुबह-सुबह मेरठ और कश्मीर में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। दोनों ही जगह भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए।

भूकंप की जानकारी देने वाले नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी के मुताबिक, कटरा में 3.6 तीव्रता का भूकंप आया, जबकि मेरठ में इसकी तीव्रता 2.7 थी।

यह भी पढ़ेंः हैती में शक्तिशाली भूकंप ने मचाई बड़ी तबाही, अब तक 1297 लोगों की मौत

इन बातों का जरूर रखें ध्यान
भूकंप आने के बाद लोगों को डरने की बजाय सावधानी और संयम बरतना चाहिए।
- सबसे पहले घर से बाहर निकलकर खुली जगह पर पहुंचने की कोशिश करें
- इमारत में कई मंजिल हैं या फिर गली सकरी है, तो बाहर निकलने से बेहतर घर पर सुरक्षित जगह खोजें
- घर में किसी कोने में या किसी मजबूत फर्नीचर के नीचे बैठकर सिर और अन्य संवेदनशील अंगों को बचाने की कोशिश करें।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned