scriptFarmer Protest Before SKM Meeting Rakesh Tikait says our demand for msp is from Central Govt we need state wise Compensation | Farmer Protest: किसान आंदोलन पर फैसला आज! जानिए SKM की बैठक से पहले क्या बोले राकेश टिकैत | Patrika News

Farmer Protest: किसान आंदोलन पर फैसला आज! जानिए SKM की बैठक से पहले क्या बोले राकेश टिकैत

Farmer Protest तीनों कृषि कानून वापसी बिल पास होने के बाद भी किसान आंदोलन अब तक खत्म नहीं हुआ है। इसको लेकर शनिवार को संयुक्त किसान मोर्चा की अहम बैठक हो रही है, लेकिन बैठक से किसान नेता राकेश टिकैत का बड़ा बयान सामने आया है। टिकैत ने किसान आंदोलन को लेकर एसकेएम के इरादे साफ कर दिए हैं

नई दिल्ली

Published: December 04, 2021 12:03:50 pm

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में बीते 13 महीनों से चल रहे किसान आंदोलन ( Kisan Andolan ) को लेकर शनिवार को अहम फैसला आ सकता है। दरअसल संयुक्त किसान मोर्चा इस संबंध में बड़ी बैठक कर रहा है। इस बैठक में आगे की रणनीति से लेकर प्रदर्शन ( Farmer Protest ) खत्म करने तक पर फैसला लिया जा सकता है। ये बैठक सिंघू बॉर्डर ( Singhu Border ) पर हो रही है। पहले बैठक का वक्त 11 बजे रखा गया था, लेकिन कुछ कारणों से इसे आगे बढ़ाकर 12 बजे तय किया गया।
664.jpg
खास बात यह है कि इस बैठक से ठीक पहले किसान नेता राकेश टिकैत ने अपने इरादे साफ कर दिए हैं। तीनों कृषि कानून वापस लिए जाने के बाद भी अब तक किसान आंदोलन को लेकर कोई निर्णय नहीं लिए जाने को लेकर उन्होंने कहा कि अभी तो बात शुरू हुई है, देखते हैं आगे क्या निर्णय निकलेगा। जब तक मांगे पूरी नहीं होती हैं आंदोलन जारी रहेगा।
यह भी पढ़ेंः Delh Air Pollution: दिल्ली में गहरा रहा सांसों का संकट, कई इलाकों में दमघोंटू हवा, जानिए कहां पहुंचा AQI

किसान संघ की बैठक में भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि MSP की हमारी मांग भारत सरकार से है।
इसको लेकर बातचीत अभी शुरू हुई है, देखते हैं इसका क्या निष्कर्ष निकलेगा। अभी कोई रणनीति नहीं बनाई है, हम अपने मुद्दों और आंदोलन को लेकर बैठक में चर्चा कर रहे हैं।

हरियाणा सरकार से बेनतीजा रही बातचीत
टिकैत ने कहा कि एक दिन पहले हरियाणा की खट्टर सरकार से भी अपनी मांगों को लेकर बातचीत की, हालांकि ये बातचीत बेनतीजा रही। लेकिन एक बात पर दोनों की बीच सहमति बनी है और वो है किसानों के खिलाफ दर्ज मामले वापस लेना। हरियाणा सरकार ने इसके लिए सहमति जताई है।
लेकिन हमें पंजाब सरकार की तरह किसानों की मौत और रोजगार के लिए राज्यवार मुआवजा भी चाहिए। जिस पर अभी सहमति नहीं बनी है।

यह भी पढ़ेँः Delhi Air Pollution: SC की फटकार के बाद केंद्र सरकार का बड़ा एक्शन, टास्क फोर्स और फ्लाइंग स्क्वाड का किया गठन
बैठक में इन मांगों पर चर्चा
संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक किसानों की जिन लंबित पड़ी मांगों पर भी विचार हो रहा है, उनमें फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर कानूनी गारंटी, किसानों के खिलाफ मामले वापस लेना, आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों के परिजनों को मुआवजा देना शामिल हैं।
SKM कोर कमेटी के सदस्य दर्शन पाल के मुताबिक अब तक इन मांगों में से किसी पर भी केंद्र सरकार की ओर से औपचारिक आश्वासन नहीं मिला है। यही वजह है कि किसान आंदोलन फिलहल खत्म नहीं हुआ है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Azadi Ka Amrit Mahotsav में बोले पीएम मोदी- ये ज्ञान, शोध और इनोवेशन का वक्तपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलNEET UG PG Counselling 2021: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नीट में OBC आरक्षण देने का फैसला सही, सामाजिक न्‍याय के लिए आरक्षण जरूरीटोंगा ज्वालामुखी विस्फोट का भारत पर भी पड़ सकता है प्रभाव! जानिए सबसे पहले कहां दिखा असरCorona cases in India: कोरोना ने तोड़ा 8 महीने का रिकॉर्ड; 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा कोरोना के नए केस, मौत का आंकड़ा 450 के पारUP Assembly Elections 2022 : निर्भया केस की वकील सीमा समृद्धि कुशवाहा बसपा में हुईं शामिल, मायावती को सीएम बनाने का लिया संकल्पBJP से टिकट कटते ही पर्रिकर के बेटे को केजरीवाल का न्यौता, कहा- पार्टी में आपका स्वागत हैUttarakhand Election 2022: बीजेपी ने जारी की लिस्ट, त्रिवेंद्र रावत का नाम नहीं, हरक के करीबी को मौका
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.