scriptgovernment not considering on covid-19 booster shots yet | नीति आयोग का दावा, कोविड-19 की बूस्टर खुराक पर फिलहाल विचार नहीं कर रही सरकार | Patrika News

नीति आयोग का दावा, कोविड-19 की बूस्टर खुराक पर फिलहाल विचार नहीं कर रही सरकार

नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने दावा किया है कि फिलहाल सरकार कोविड-19 (Covid-19) वैक्सीन के लिए बूस्टर खुराक के बारे में विचार नहीं कर रही है। फिलहाल सरकार का टीकाकरण पर ध्यान केंद्रित कर रही है।

नई दिल्ली

Published: August 22, 2021 02:29:28 pm

नई दिल्ली। नीति आयोग (Niti aayog) ने कोरोना वैक्सीन के लिए बूस्टर खुराक (covid-19 booster shots) को लेकर बड़ा खुलासा किया है। शनिवार को नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वीके पॉल ने बताया कि केंद्र सरकार अभी तक कोविड-19 वैक्सीन के लिए बूस्टर खुराक के बारे में विचार नहीं कर रही है। फिलहाल सरकार ज्यादा से ज्यादा टीकाकरण पर ध्यान केंद्रित कर रही है। उन्होंने नेशनल टेक्नीकल एडवायजरी ग्रुप ऑन इम्यूनाइजेशन के हवाले से कहा कि इस सिलसिले में ऐसी सिफारिश जारी नहीं की गई है.
कोरोना संक्रमण का बूस्टर डोज
कोरोना संक्रमण का बूस्टर डोज
वीके पाल ने दी जानकारी

वीके पॉल का कहना है कि 'बूस्टर खुराक का समय और जरूरत के पीछे विज्ञान अभी भी विकसित हो रहा है। कई वैक्सीन का कई शेड्यूल हो सकता है। इसको बारीकी से देखा और रिसर्च किया जा रहा है। उन्होंने आगे बताया कि अब तक प्रमुख चिंता भारत में वैक्सीन की दो डोज के साथ व्यस्क आबादी का टीकाकरण है।
चंद देशों में दी जा रही बूस्टर खुराक

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के चेयरमैन साइरस पूनावाला की प्रतिक्रिया में पॉल ने बताया कि दुनियाभर में चंद देशों ने बूस्टर खुराक के साथ टीकाकरण शुरू किया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का हवाला देते हुए उनका ये भी कहना था कि उसने अभी तक इस विषय पर कोई सिफारिश जारी नहीं की है।

गौरतलब है कि साइरस पूनावाला ने दूसरे डोज के छह महीने बाद कोविशील्ड की तीसरी या बूस्टर खुराक की जरूरत पर जोर दिया था। इस पर पॉल ने कहा कि हम लगातार इस क्षेत्र में उभरते हुए डेटा को देख रहे हैं और इस सिलसिले में नेशनल टेक्नीकल एडवायजरी ग्रुप ऑन इम्यूनाइजेशन की तरफ से हमें मार्गदर्शन मिलेगा। उन्होंने बताया कि एडवायजरी ग्रुप की तरफ से कोविशील्ड की दो डोज के बीच गैप घटाने पर सलाह नहीं आई है। उन्होंने दावा किया कि कोविशील्ड की दो डोज के बीच मौजूदा गैप का समय विज्ञान पर आधारित है और उस बारे में कोई मुद्दा नहीं है। इसलिए, सरकार दोनों डोज के बीच गैप कम करने के बारे में नहीं सोच रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.