scriptGovt Panel finds defect in battery cells in almost all EV Fires | इलेक्ट्रिक स्कूटरों में क्यों लग रही है आग, केंद्रीय जांच समिति की रिपोर्ट में सामने आई वजह | Patrika News

इलेक्ट्रिक स्कूटरों में क्यों लग रही है आग, केंद्रीय जांच समिति की रिपोर्ट में सामने आई वजह

EV Fires: देश भर में इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने की घटनाएं सामने आई है। इन घटनाओं पर सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने भी चिंता जाहिर की है। इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने की घटनाओं पर अब सरकारी समिति की रिपोर्ट सामने आई है जिसमें आग लगने के पीछे का मूल कारण बताया गया है।

Updated: May 07, 2022 12:04:57 pm

Govt Panel Electric Vehicle: देश में इलेक्ट्रिक वाहनों आग लगने की घटनाओं ने इसकी सुरक्षा पर कई सवाल खड़े कर दिए हैं। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भी इसपर चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा कि अभी देश में इलेक्ट्रिक वाहन उद्योग की शुरुआत है और इस तरह की घटनाएं उद्योग में बाधा डाल सकती हैं। सरकार ऐसी कोई लापरवाही नहीं चाहती है क्योंकि हर एक मानव जीवन की सुरक्षा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों में लगने वाली आग की घटनाओं को देखते हुए एक जांच समिति गठित की गई थी जिसकी रिपोर्ट में आग लगने के कारणों का खुलासा हुआ है।
Govt Panel finds defect in battery cells in almost all EV Fires
Govt Panel finds defect in battery cells in almost all EV Fires
क्या है आग लगने के पीछे का मूल कारण?
इस समिति का गठन पिछले महीने ओकिनावा ऑटोटेक, बूम मोटर, प्योर ईवी, जितेंद्र ईवी और ओला इलेक्ट्रिक से संबंधित ई-स्कूटर में ईवी आग और बैटरी विस्फोट के मद्देनजर किया गया था। समिति ने अपनी जांच में इलेक्ट्रिक वाहनों की लगभग सभी बैटरी सेल व डिजाइन में खामियां पाई हैं। इस खामी के कारण ही इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने की घटनाएं सामने आई हैं। तेलंगाना में हुए जानलेवा इलेक्ट्रिक वाहन में लगी आग का कारण भी बैटरी में समस्या को बताया गया है। इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने की घटनाओं को देखते हुए एक्स्पर्ट्स अब अपने वाहनों में बैटरी से जुड़े मुद्दों को हल करने के लिए ईवी निर्माताओं के साथ व्यक्तिगत रूप से काम करेंगे।

बता दें कि तेलंगाना में इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर की बैटरी फटने से 80 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और दो अन्य घायल हुए थे।

यह भी पढ़ें

Electric Scooty catch fire: अजमेर, भोपाल, बोकारो...पिछले 72 घंटों में कई इलेक्ट्रिक स्कूटरों में लगी आग

Ola इलेक्ट्रिक विश्व स्तरीय एजेंसियों से करवाएगी जांच
वहीं, Ola इलेक्ट्रिक ने अपने एक बयान में एक न्यूज एजेंसी से कहा, 'हमने अपनी जांच के अलावा विश्व स्तरीय एजेंसियों को मूल कारण पर आंतरिक मूल्यांकन करने के लिए कहा है।'

कंपनी ने ये भी जानकारी दी कि ऑल इलेक्ट्रिक ने पहले ही स्वेच्छा से 1441 वाहनों को वापस ले चुकी है ताकि इन सभी की पहले ही पूरी जांच की जा सके।
यह भी पढ़ें

Electric vehicles के इंश्योरेंस को लेकर हाईकोर्ट ने मांगा जवाब! दुर्घटना में कौन होगा जिम्मेदार?

इलेक्ट्रिक वाहनों ंमें आग लगने की कई घटनाएं आई सामने
बता दें कि इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर से जुड़ी कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में एक बैटरी चार्ज करते समय विस्फोट हो गया जिसमें 40 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई। इस घटना में तीन अन्य लोग भी घायल हुए थे।

कुल मिलाकर देखें तो देश में अब तक इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर की दो से अधिक घटनाओं के अलावा एक ओला, तीन ओकिनावा और 20 जितेंद्र ईवी स्कूटर में बैटरी फटने से आग लग चुकी है। ऐसे में इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर लोगों में सुरक्षा से जुड़े सवाल उठने लगे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीउदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांडः कानपुर से आतंकी कनेक्शन, एनआईए की टीम जल्द जा कर करेगी छानबीनAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.