scriptGST rule change from January 1 Check what gets costlier | एक जनवरी से बदलने जा रहे जीएसटी के ये नियम, अब ऑनलाइन खाना और कपड़े खरीदना पड़ेगा महंगा | Patrika News

एक जनवरी से बदलने जा रहे जीएसटी के ये नियम, अब ऑनलाइन खाना और कपड़े खरीदना पड़ेगा महंगा

अगर आपका प्लान नए कपड़े और जूते खरीदने का है तो यह काम 1 जनवरी, 2022 से पहले ही कर लेंगे तो फायदे में रहेंगे। दरअसल, फुटवियर और टेक्सटाइल प्रोडक्ट्स के लिए जीएसटी की दर को बढ़ा दिया है। पहले यह दर 5 फीसदी थी अब 12 फीसदी होगी।

नई दिल्ली

Updated: December 31, 2021 12:08:32 pm

1 जनवरी से गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) में कई नियम परिवर्तन विभिन्न प्रोडक्ट्स और सर्विसेज पर लागू होने जा रहे हैं। ये बदलाव ई-कॉमर्स, ऑनलाइन फूड डिलीवरी और टैक्सी सेवाओं से लेकर कपड़ा और फुटवियर पर लागू होंगे। हालांकि इनमें से कुछ बदलावों से उपभोक्ता खर्च पर असर पड़ने की उम्मीद नहीं है। लेकिन कुछ की कीमतों में बदलाव से सामानों की कीमतों पर असर पड़ेगा।
gst-amp.jpg
GST(Representative Image)
ऑनलाइन खाना मंगाने पर 5 फीसदी टैक्स:
प्रक्रियागत बदलावों के तहत स्विगी और जोमेटो जैसी ई-कॉमर्स कंपनियां भी अपनी सेवाओं पर जीएसटी वसूल करेंगी। कंपनियों को इन सेवाओं के बदले जीएसटी वसूलकर सरकार के पास जमा कराना होगा। इसके लिए उन्हें सेवाओं का बिल जारी करना होगा। इससे उपभोक्ताओं पर कोई अतिरिक्त भार नहीं आएगा क्योंकि रेस्टोरेंट्स पहले से ही जीएसटी वसूल रहे हैं।

बदलाव सिर्फ इतना है कि टैक्स जमा करवाना और बिल जारी करने की जिम्मेदारी अब फूड डिलीवरी मंचों पर आ गई है। यह कदम इसलिए उठाया गया क्योंकि सरकार का ऐसा अनुमान है कि फूड डिलीवरी मंचों की ओर से कथित तौर पर पूरी जानकारी नहीं देने से बीते दो वर्ष में सरकारी खजाने को करीब 2,000 रुपये की चपत लगी है। इन मंचों को जीएसटी जमा करवाने के लिए उत्तरदायी बनाने से कर चोरी पर रोक लगेगी।

जीएसटी रिफंड का दावा करने के लिए आधार ऑथेंटिकेशन अनिवार्य:
टैक्स चोरी रोकने के लिए नए साल में कुछ और कदम उठाए जाएंगे। इनमें जीएसटी रिफंड पाने के लिए आधार ऑथेंटिकेशन अनिवार्य करना, जिन व्यवसायों ने टैक्स अदा नहीं किए हैं उनकी जीएसटीआर-1 फाइलिंग सुविधा पर रोक लगाना आदि शामिल है।

महंगे होंगे जूते और कपड़े:
सरकार ने जूते और टेक्सटाइल जैसे तैयार माल पर जीएसटी दरों को 5 से बढ़ाकर 12 फीसदी कर दिया है। 1 जनवरी 2022 से ये प्रोडक्ट्स महंगे हो जाएंगे। 1,000 रुपये तक के कपड़ों पर जीएसटी पहले के 5 फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी कर दिया गया है। इसके अलावा, बुने हुए कपड़े, सिंथेटिक यार्न, कंबल, टेंट के साथ-साथ टेबलक्लॉथ जैसे सामान सहित वस्त्रों पर जीएसटी दर में भी बढ़ोतरी की गई है। फुटवियर पर भी डायरेक्ट टैक्स 5 फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी कर दिया गया है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने 18 नवंबर 2021 को इन बदलावों को अधिसूचित किया था।

कैब और ऑटो की सवारी:
ओला और उबर के जरिए ऑटो या कैब की बुकिंग भी 1 जनवरी से महंगी हो जाएगी। सरकार ने राइड हेलिंग सेवाओं को जीएसटी के दायरे में लाने का फैसला किया है। उबेर के एक प्रवक्ता ने कहा कि कर ड्राइवरों की कमाई को प्रभावित करेगा।
यह भी पढ़ें:आयकर विभाग ने टैक्सपेयर्स को दी राहत, अब 28 फरवरी तक कर सकेंगे ई–वेरिफिकेशन

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कततत्काल पैसों की जरुरत है? तो जानिए वो 25 बैंक जो दे रहे हैं सबसे सस्ता Personal LoanNew Maruti Alto का इंटीरियर होगा बेहद ख़ास, एडवांस फीचर्स और शानदार माइलेज के साथ होगी लॉन्चVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!प्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टइन 4 राशि की लड़कियां अपने पति की किस्मत जगाने वाली मानी जाती हैंToyoto Innova से लेकर Maruti Brezza तक, CNG अवतार में आ रही है ये 7 मशहूर गाड़ियां, जानिए कब होंगी लॉन्च

बड़ी खबरें

गोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफासुरक्षा एजेंसियों की भुज में बड़ी कार्यवाही, 18 लाख के नकली नोटों के साथ डेढ़ किलो सोने के बिस्किट किए बरामदUP Assembly Elections 2022 : टिकट कटा तो बदली निष्ठा, कोई खोल रहा अपने नेता की पोल तो कोई दे रहा मरने की धमकीUP Assembly Elections 2022 : बसपा की दूसरी लिस्ट में 3 महिलाएं, 22 मुस्लिम चेहरें शामिल, देखिए पूरी लिस्टपीएम मोदी ने की जिला अधिकारियों से बात, बोले- आजादी के 75 साल बाद भी कई जिले रह गए पीछे, अब हो रहा अच्छा कामबड़ी खबर : स्कूल खोलने को लेकर कैबिनेट में होगी चर्चासुपरटेक ट्विन टावर : सुप्रीम कोर्ट ने दिए फ्लैट खरीददारों को दी राहतसीएम हेल्पलाइन बनी ब्लैकमेलिंग का धंधा - लेकिन अब जाना पड़ेगा जेल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.