scriptGuru Nanak Jayanti 2021 10 big things related to his life and educatio | Guru Nanak Jayanti 2021: गुरु नानक जयंती आज, जानिए उनके जीवन और शिक्षा से जुड़ी 10 बड़ी बातें | Patrika News

Guru Nanak Jayanti 2021: गुरु नानक जयंती आज, जानिए उनके जीवन और शिक्षा से जुड़ी 10 बड़ी बातें

सिख धर्म की बुनियाद रखने वाले गुरु नानक देव जी की जयंती ‘प्रकाश उत्‍सव’ के रूप में मनाई जाती है। इस साल यह पर्व 19 नवंबर, 2021 के दिन मनाया जा रहा है। यह उनकी 552वीं जयंती है। उनके अनुयायी इन्हें नानक और नानक देव, बाबा नानक और नानक शाह जी जैसे नामों से संबोधित करते हैं।

नई दिल्ली

Published: November 19, 2021 11:17:09 am

Guru Nanak Jayanti 2021: सिख धर्म की बुनियाद रखने वाले गुरु नानक देव जी की जयंती ‘प्रकाश उत्‍सव’ के रूप में मनाई जाती है। इस साल यह पर्व 19 नवंबर, 2021 के दिन मनाया जा रहा है। यह उनकी 552वीं जयंती है। उनके अनुयायी इन्हें नानक और नानक देव, बाबा नानक और नानक शाह जी जैसे नामों से संबोधित करते हैं। गुरु नानक देव सिख समुदाय के पहले गुरु थे। ये सिख धर्म के सबसे बड़े त्योहारों में से एक है। इस दिन सुबह प्रभात फेरियां निकाली जाती हैं और गुरू द्वारों में सबद कीर्तन का आयोजन होता है। आइए जानते हैं गुरू नानक देव जी द्वारा दिए गए जीवन के संदेशों और शिक्षाओं के बारे में...

Guru Nanak Jayanti 2021
Guru Nanak Jayanti 2021

13 साल की उम्र में हुआ था उपनयन संस्कार
गुरु नानक देव जी का जन्म कार्तिक मास की पूर्णिमा के दिन 1469 को राएभोए के तलवंडी नामक स्थान में, कल्याणचंद (मेहता कालू) नाम के एक किसान के घर हुआ। उनकी माता का नाम तृप्ता था। तलवंडी को ही अब नानक के नाम पर ननकाना साहब कहा जाता है, जो पाकिस्तान में है। 13 साल की उम्र में उनका उपनयन संस्कार हुआ। माना जाता है कि 16 वर्ष की आयु में उनका विवाह सुलखनी से हुआ। 1494 में श्रीचंद और लक्ष्मीचंद नाम के दो पुत्र भी इन्हें हुए। श्रीचंद साहिब जी ने ही उदासीन अखाड़े की स्थापना की थी। सिख धर्म के प्रथम गुरु गुरुनानक देवी जी के चार शिष्य थे। यह चारों ही हमेशा बाबाजी के साथ रहा करते थे।


गुरू नानक देव का जीवन और शिक्षाएं
गुरू नानक देव का जीवन और शिक्षाएं न केवल धर्म विशेष के लिए बल्की पूरी मानव जाति को सही दिशा दिखाती हैं। इसलिए ही उनके जन्म दिवस को प्रकाश पर्व के नाम से जाना जाता है। गुरू नानक देव जी का जन्म कार्तिक पूर्णिमा के दिन 1469 ई. में हुआ था। उनका जन्म स्थान वर्तमान में पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में तलवंडी नामक स्थान पर हुआ था। जहां पर आज ननकाना साहिब नाम का गुरू द्वारा है। गुरू नानक देव ने मूर्ति पूजा का विरोध करते हुए, एक निराकार ईश्वर की उपासना का संदेश दिया था। उन्होंने तात्कालिक समाज की बुराईयों और कुरीतियों को दूर करने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया।

यह भी पढ़ें

Aadhaar Card : UIDAI ये सर्विस दे रहा है बिल्कुल फ्री, पैसे मांगने पर यहां करें शिकायत



नानकदेवजी के 10 सिद्धांत:—
1. परम-पिता परमेश्वर एक है।
2. हमेशा एक ईश्वर की साधना में मन लगाओ।
3. दुनिया की हर जगह और हर प्राणी में ईश्वर मौजूद हैं।
4. ईश्वर की भक्ति में लीन लोगों को किसी का डर नहीं सताता।
5. ईमानदारी और मेहनत से पेट भरना चाहिए।
6. बुरा कार्य करने के बारे में न सोचें और न ही किसी को सताएं।
7. हमेशा खुश रहना चाहिए, ईश्वर से सदा अपने लिए क्षमा याचना करें।
8. मेहनत और ईमानदारी की कमाई में से जरूरत मंद की सहायता करें।
9. सभी को समान नज़रिए से देखें, स्त्री-पुरुष समान हैं।
10. भोजन शरीर को जीवित रखने के लिए आवश्यक है। परंतु लोभ-लालच के लिए संग्रह करने की आदत बुरी है।

यह भी पढ़ें

Petrol Diesel Price Today: पेट्रोल डीजल की कीमतों में आज फिर मिली राहत, जानिए आपके शहर में कितने का मिल रहा तेल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकातत्काल पैसों की जरुरत है? तो जानिए वो 25 बैंक जो दे रहे हैं सबसे सस्ता Personal LoanPriyanka Chopra Surrogacy baby: तस्लीमा ने वेश्यावृत्ति, बुरका से की सरोगेसी की तुलनाराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 23 January 2022: सिंह राशि वालों के मन में प्रसन्नता रहेगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के विजेताओं से पीएम मोदी ने किया संवाद, 'वोकल फॉर लोकल' के लिए मांगी बच्चों की मददब्रेंडन टेलर का खुलासा, इंडियन बिजनेसमैन ने किया ब्लैकमेल; लेनी पड़ी ड्रग्ससंसद में फिर फूटा कोरोना बम, बजट सत्र से पहले सभापति नायडू समेत अब तक 875 कर्मचारी संक्रमितकर्नाटक में कोविड के 50 हजार नए मामले आने के बाद भी सरकार ने हटाया वीकेंड कर्फ्यू, जानिए क्या बोले सीएमRepublic Day 2022 parade guidelines: बिना टीकाकरण और 15 साल से छोटे बच्चों को परेड में नहीं मिलेगी इजाजतMPPSC Recruitment : चिकित्सा के क्षेत्र में कई पदों पर निकलीं भर्तियां, ऐसे करें आवेदनभारत दुनिया को खिला रहा ककड़ी-खीरा, बना सबसे बड़ा निर्यातक, किया इतने करोड़ का निर्याततीसरी लहर का सबसे डरावना ट्रेंड, बर्बाद कर रही फेफड़े, 40 फीसदी तक संक्रमण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.