scriptHaldwani Soldier Chandrashekhar Harbola body Return Haldwani today After 38 years from Siachen | 38 साल पहले शहीद हुए लांसनायक चंद्रशेखर का पार्थिव शरीर आज पहुंचेगा घर, राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कार | Patrika News

38 साल पहले शहीद हुए लांसनायक चंद्रशेखर का पार्थिव शरीर आज पहुंचेगा घर, राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कार

Martyr Chandrashekhar Harbola: 38 साल पहले लापता हुए भारतीय सेना के एक जवान का पार्थिव शरीर बीते रविवार को सियाचीन में मिला। 1984 में भारत-पाकिस्तान झड़प के दौरान पेट्रोलिंग पर गए जवान एक ग्लेशियर की चपेट में आकर शहीद हो गए थे। बर्फ में दबे रहने के कारण शहीद के पार्थिव शरीर को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है।

नई दिल्ली

Published: August 15, 2022 12:49:16 pm

Martyr Chandrashekhar Harbola: आज पूरा देश आजादी का 75वां सालगिरह मना रहा है। आजादी के बाद देश की सुरक्षित रखने में सबसे बड़ा योगदार देश के जवानों का होता है। सीमा पर तैनात जवानों की वजह से ही हम आराम से अपने घरों में सो पाते हैं। सेना के जवान किस विषम परिस्थिति में देश की रक्षा करते हैं, इसका एक जीता-जागता उदाहरण बीते रविवार को सामने आया। रविवार को भारतीय सेना के जवानों ने 38 साल पहले शहीद हुए एक जवान के शव की तलाश की। आज उस जवान का पार्थिव शरीर उनके घर पहुंच रहा है, जहां राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार होगा।

chandrashekhar.jpg
Haldwani Soldier Chandrashekhar Harbola body Return Haldwani today After 38 years from Siachen

दरअसल उत्तराखंड के हल्द्वानी निवासी 19 कुमाऊं रेजीमेंट के लांसनायक चंद्रशेखर हर्बोला का पार्थिव शरीर बीते रविवार को 38 साल बाद सियाचीन में खोजा गया। सियाचीन में बर्फ में दबे होने के कारण उनके पार्थिव शरीर को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। चंद्रशेखर के हाथ में बंधे ब्रेसलेट का सहारा लेकर उनकी पहचान मुक्कमल की गई। जिसपर उनका बैच नंबर और अन्य जरूरी जानकारी दर्ज थीं। बैच नंबर से सैनिक के बारे में पूरी जानकारी मिल जाती है। इसके बाद उनके परिजनों को सूचना दी गई।

 

27 साल की पत्नी शांति की 65 साल की हो चुकी


आज चंद्रशेखर का पार्थिव शरीर लेकर सेना के जवान उनके घर हल्द्वानी पहुंचेंगे। जहां रानी बाग स्थित चित्रशाला घाट पर उनका पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार होगा। 38 साल बाद चंद्रशेखर का पार्थिव शरीर मिलने की जानकारी जब सार्वजनिक की गई तो मीडिया के लोग उनके घर पहुंचे। जहां उनकी 65 साल की पत्नी शांति देवी, 48 साल की बेटी कविता पांडे हाथों में पिता की पुरानी तस्वीर लिए गुमसुम बैठी दिखी। बताया गया कि जब आखिरी बार चंद्रशेखर अपनी पत्नी शांति से मिले थे तब उनकी उम्र 27 साल थी।

पत्नी के आंखों के सुख गए आंसू, भतीजे ने बताई कहानी


चंद्रशेखर की पत्नी के आंखों के आंसू सुख गए थे। बेटी पिता की मौत के समय बहुत छोटी थी। परिवार वालों ने कभी यह सोचा भी नहीं था कि अब उन्हें चंद्रशेखर के पार्थिव शरीर मिलेगा। चंद्रशेखर के भतीजे ने उस घटना का जिक्र किया जिसमें उनके चाचा लापता हो गए थे। उन्होंने बताया कि भारत-पाकिस्तान की झड़प के दौरान मई 1984 में सियाचिन में पेट्रोलिंग के लिए 20 सैनिकों की टुकड़ी भेजी गई थी। जिसमें चाचा चंद्रशेखर हर्बोला भी शामिल थे।

ग्लेशियर की चपेट में आकर लापता हुए थे जवान


पेट्रोलिंग के गए ये सभी सैनिक सियाचिन में ग्लेशियर टूटने की वजह से इसकी चपेट में आ गए थे। जिसके बाद किसी भी सैनिक के बचने की उम्मीद नहीं थी। भारत सरकार और सेना की ओर से सैनिकों को ढूंढने के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया गया। इसमें 15 सैनिकों के शव मिल गए थे लेकिन पांच सैनिकों का पता नहीं चल सका था। एक दिन पहले सियाचीन में भारतीय जवानों को चंद्रेशेखर के साथ-साथ एक और जवान का पार्थिव शरीर मिला। हाथ में बंधे ब्रेसलेट पर अंकित नंबर का सैन्य रिकॉर्ड से मिलान के बाद उनकी पहचान तय की गई। फिर परिजनों को सूचना दी गई।

सियाचीन दुनिया के दुर्गम सैन्य स्थलों में से एक


उल्लेखनीय हो कि सियाचिन दुनिया के दुर्गम सैन्य स्थलों में से एक है। यह बहुत ऊंचाई पर स्थित है, जहां जीवित रहना एक सामान्य मनुष्य के बस की बात नहीं है। भारत के सैनिक आज भी वहां पर अपनी ड्यूटी निभाते हैं। 1984 में देश के सैनिकों ने इस जगह को पूरी तरह से अपने नियंत्रण में लिया था। इस अभियान में कई सैनिकों ने अपनी शहादत दी थी। सेना की नौकरी करने वाले लोगों के सियाचीन का किस्सा जीवन भर सुनाने वाला अनुभव होता है। बावजूद हमारे जवान वहां अपनी ड्यूटी पर तैनात रहते हैं। ऐसे जवानों को पत्रिका परिवार की ओर से शत-शत नमन।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

पाकिस्तानी आकाओं के इशारे पर भारत में आतंक फैलाने की थी साजिश, ग्रेनेड के साथ 3 आतंकी गिरफ्तारIND vs SA, 2nd T20: भारत ने साउथ अफ्रीका को 16 रनों से हराया, सीरीज पर 2-0 से कब्जाअरविंद केजरीवाल का बड़ा दावा- 'गुजरात में बनेगी आप की सरकार', IB रिपोर्ट का दिया हवालासच बोलने की सजा भुगतनी पड़ी... बिहार के कृषि मंत्री के इस्तीफे पर BJP ने नीतीश पर किया हमलाअमित शाह के जम्मू दौरे से पहले पुलवामा में आतंकी हमला, पुलिस का एक जवान शहीद, CRPF जवान जख्मीIND vs SA: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान, सभी सीनियर खिलाड़ियों को मिला आरामIAF की ताकत में होगा इजाफा, कल सेना में शामिल होगा स्वदेशी हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर, जानें इसकी खासियतIND vs SA 2nd T20: 2 गेंदबाज जो साउथ अफ्रीका को हराने में टीम इंडिया की मदद करेंगे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.