scriptHaryana Board Exam Not Conducted For 5 and 8 Class: CM Khattar | हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, राज्य में नहीं होगी 5वीं और 8वीं की बोर्ड एग्जाम | Patrika News

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, राज्य में नहीं होगी 5वीं और 8वीं की बोर्ड एग्जाम

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला सामने आया है। मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने कहा है कि प्रदेश में 5वीं और 8वीं क्लास की बोर्ड एग्जाम आयोजित नहीं की जाएंगी। इससे पहले हरियाणा सरकार ने इस साल पांचवीं और आठवीं की परीक्षाओं को बोर्ड की परीक्षा में बदलने का एलान किया था।

 

नई दिल्ली

Published: February 21, 2022 05:54:28 pm

हरियाणा सरकार ने पांचवीं और आठवीं की बोर्ड परीक्षा को लेकर बड़ा फैसला लिया है। राज्य में अब आठवीं की बोर्ड परीक्षा नहीं होगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि इस साल पांचवीं और आठवीं की बोर्ड की परीक्षाओं को नहीं लिया जाएगा। ऐसे में 5वीं और 8वीं की परीक्षाएं इस बार भी पूर्व पैटर्न पर होंगी। इससे पहले हरियाणा सरकार ने इस साल पांचवीं और आठवीं की परीक्षाओं को बोर्ड की परीक्षा में बदलने का एलान किया था, लेकिन विरोध के चलते अब सरकार ने यूटर्न ले लिया है। दरअसल सरकार के इस फैसले का प्राइवेट स्कूलों और पेरेंट्स की ओर से विरोध किया जा रहा था। वहीं इस फैसले के खिलाफ निजी स्कूलों ने कोर्ट में जाने का दावा भी किया था।
Haryana Board Exam Not Conducted For 5 and 8 Class: CM Khattar
Haryana Board Exam Not Conducted For 5 and 8 Class: CM Khattar

हरियाणा सरकार की तरफ से बीते दिनों एक आदेश जारी किया गया था। इस आदेश के मुताबिक इस वर्ष 5वीं और 8वीं की बोर्ड परीक्षाएं कराने को कहा गया था। हालांकि, सरकार के इस फैसले को लेकर अभिभावक विरोध में उतर आए थे। यही वजह है कि बढ़ते विरोध के चलते सरकार बैकफुट पर आ गई है।

यह भी पढ़ें

हरियाणा सरकार को हाईकोर्ट से झटका, निजी क्षेत्र की नौकरी में 75% आरक्षण पर लगाई रोक




क्या बोले मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर

अपने फैसले पर यूटर्न लेने के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि, हम अपने फैसले को अभी के लिए टाल रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि, एक साल के लिए 5th, 8th कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं नहीं होंगी। CBSE और हरियाणा बोर्ड दोनों की परीक्षाएं टाली गई हैं। इस साल 5वीं और 8वीं क्लास के लिए बोर्ड के एग्जाम नहीं होंगे।

ये था अभिभावकों का कहना

हरियाणा सरकार के बोर्ड एग्जाम के एलान के बाद अभिभावकों ने विरोध शुरू कर दिया था। अभिभावकों का कहना था कि 650 दिनों तक स्कूल बंद होने के बाद,बच्चों की पढ़ाई में काफी असर पड़ा है।

परीक्षाओं में एक महीने से थोड़ा ज्यादा समय बचा है, ऐसे में इतने कम वक्त में बच्चों की ओर से पूरा कोर्स पढ़ पाना संभव नहीं है। इसलिए बोर्ड परीक्षाओं को रद्द किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें

हरियाणा में अभी नहीं खुलेंगे स्कूल, जानिए शिक्षा मंत्री ने क्या कहा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.