scriptIf child marriage and dowry happens in any ward of the Gram Panchayat, government can take action to remove chief will be removed | बिहार सरकार ने किया बड़ा फैसला, बाल विवाह हुआ तो पद से हटाए जाएंगे इलाके के मुखिया | Patrika News

बिहार सरकार ने किया बड़ा फैसला, बाल विवाह हुआ तो पद से हटाए जाएंगे इलाके के मुखिया

बाल विवाह और दहेज प्रथा को लेकर बिहार सरकार काफी सतर्क है। इसे लेकर राज्य में लगातार कई तरह के कदम उठाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में नीतीश सरकार द्वारा पंचायतों के मुखिया को बड़ी डिम्मेदारी सौंपते हुए उन्हें निर्देश दिए गए हैं।

नई दिल्ली

Published: July 28, 2022 06:17:50 pm

बिहार में नीतीश सरकार ने मुखिया और जनप्रतिनिधियों को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। नीतीश सरकार राज्य में बाल विवाह और दहेज प्रथा पर प्रतिबंधता को इफेक्टिव बनाने के लिए पंचायतों के मुखिया की भागीदारी और भूमिका तय करेगी। इसको लेकर पंचायतीराज विभाग ने गुरुवार को सभी जिलाधिकारियों को दिशा निर्देश जारी किया है। बाल विवाह, दहेज प्रथा को लेकर बिहार सरकार काफी सतर्क है। इसको लेकर राज्य सरकार लगातार सकारात्मक माहौल तैयार करने में जुटी हुई है।
बिहार सरकार ने किया बड़ा फैसला, बाल विवाह हुआ तो पद से हटाए जाएंगे इलाके के मुखिया
बिहार सरकार ने किया बड़ा फैसला, बाल विवाह हुआ तो पद से हटाए जाएंगे इलाके के मुखिया
बिहार सरकार के पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा, "बाल विवाह और दहेज प्रथा गंभीर सामाजिक बुराई हैं, जिन्हें दूर किए बिना सशक्त समाज की परिकल्पना नहीं की जा सकती है। बाल विवाह मानवीय अधिकारों का उल्लंघन है। हर एक बच्चे को पूरी तरह से विकसित होने का अधिकार है जो बाल विवाह की वजह से नहीं हो पाता है।"
उन्होंने आगे कहा कि कम उम्र में शादी होने से संविधान में दिए गए शिक्षा के मौलिक अधिकारो का भी हनन होता है। कम उम्र में विवाह होने से बहुत सारे बच्चे अनपढ़ और अकुशल रह जाते हैं जिनसे उनके सामने अच्छे रोजगार पाने और आर्थिक रूप से स्वतंत्र होने की संभावना बेहद कम ही रह जाती है। इसलिए बाल विवाह को रोकने और दहेज प्रथा को खत्म करने को लेकर पंचायत और उनके प्रतिनिधियों को सरकार ने आवश्यक निर्देश दिए हैं।
मुख्यमंत्री द्वारा बाल विवाह और दहेज प्रथा को गंभीरता से लेते हुए 2021-2022 में राज्यव्यापी समाज सुधार अभियान शुरू किया गया है। इसके तहत बिहार के जिलों को बिहार पंचायत राज अधिनियम, 2006 की धारा 22 और धारा 47 (20) के अंतर्गत ग्राम पंचायत और पंचायत समिति को महिला एवं बाल कार्यक्रमों में सहभागिता करने का दायित्व सौंपा गया है।

सरकार द्वारा बाल विवाह को रोकने और दहेज प्रथा को खत्म करने को लेकर दिए गए निर्देश :-

 


1. बाल विवाह से संबंधित मामला सामने आने पर मुखिया द्वारा इसकी सूचना ब्लॉक इंफॉर्मेशन डेवलपमेंट ऑफिसर (सहायक बाल विवाह प्रोहिबिटेड ऑफिसर) तथा सरकल ऑफिसर (बाल विवाह निषेध पदाधिकारी) को देते हुए बाल विवाह को रूकवाने का काम करेंगे।

2. दहेज लेन-देन से संबंधित मामला सामने आने पर डिस्ट्रिक्ट वेलफेयर ऑफिसर (दहेज प्रोहिबिटेड ऑफिसर) को सूचित करते हुए कार्रवाई से अवगत कराएंगे।

3. बिहार विवाह रजिस्ट्रेशन मैनुअल, 2006 में मुखिया को शादी के रजिस्ट्रेशन का दायित्व दिया गया है। शादी के रजिस्ट्रेशन के लिए विवाहों का वैध होना अनिवार्य है। पंचायत क्षेत्र अंदर हर वैध विवाह का रजिस्ट्रेशन करना मुखिया और पंचायत सेक्रेटरी के लिए अनिवार्य होगा। विवाहों को रजिस्ट्रेशन करने से बाल विवाह के मामलों में अंकुश लगाया जा सकता है।

4. हर एक ग्राम सभा और वार्ड सभा की बैठक के एजेंडे में बाल विवाह रोक और दहेज प्रथा पर रोक का बिन्दु अवश्य सम्मिलित किया जाएगा और बैठकों में बाल विवाह एवं दहेज से होने वाली हानियों और दुष्प्रभावों की चर्चा की जाएगी ताकि आमजन इन विषय पर संवेदनशील बने रह सकें। पंचायत समिति एवं जिला परिषद की सामान्य बैठकों में भी इन विषयों पर चर्चा की जाएगी और अभियान को सफल बनाने के लिए रणनीति बनाई जाएगी।

5. ग्राम पंचायत, पंचायत समिति, जिला परिषद की सामाजिक न्याय समिते भी बाल विवाह पर रोक और दहेज प्रथा को रोकने के लिए अपनी बैठकों में चर्चा करेगी और अभियान को सफल बनाने में ग्राम पंचायत को अपनी रिक्मेंडेशन देगी।

6. बाल विवाह होने की संभावना की सूचना प्राप्त होते ही वॉर्ड सदस्य/मुखिया संबंधित परिवार के घर पहुंचकर अभिभावकों को समझाएंगे और ऐसा न करने की सलाह देंगे। नहीं मानने पर स्थानीय थाना और बाल विवाह प्रोहिबिटेड ऑफिसर (ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर/सरकल ऑफिसर) को तुरंत सूचना देंगे और शादी रुकवाने में उनका सहयोग करेंगे।

7. ऐसे अवसर या कार्याधिकार क्षेत्र को कोई स्थान विशेष जहां बाल विवाह होने की करने की सूचना मिलने पर मुखिया जिला पदाधिकारी/बाल विवाह प्रोहिबिटेड ऑफिसर के सहयोग से इसे रोकने का काम करेगें।

8. ग्राम पंचायत के किसी वॉर्ड में बाल विवाह का मामला सामने आने की स्थिति में संबंधित वॉर्ड सदस्य और मुखिया जिम्मेवार माने जाएंगे। अपने कर्तव्यों का पालन न करने के आरोप में मुखिया को पद से हटाने की कार्रवाई भी सरकार द्वारा की जा सकती है।

9. सामाजिक मुद्दों पर मुखिया और अन्य पंचायत प्रतिनिधियों के स्तर पर की गई कार्रवाई/पहल को उनके द्वार किए गए कामों में शामिल किया जाएगा और राज्य/जिला स्तर पर कार्यक्रम आयोजित कर ऐसे प्रतिनिधियों को सम्मानित भी किया जाएगा।

यह भी पढ़ें

बिहार में देश विरोधी आतंकी गतिविधियां बढ़ने के बीच, उपेंद्र कुशवाहा ने NDA में तनाव के लिए बीजेपी को ठहराया जिम्मेदार

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार में टूट के कगार पर भाजपा-जदयू गठबंधन! JDU की आज CM नीतीश के घर पर निर्णायक बैठकChinese Mobile Ban: भारत लगाने जा रहा है 12 हजार से कम कीमत के चीनी मोबाइल की बिक्री पर बैनWeather Update: ओडिशा, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ में भारी बारिश का अलर्ट, जानिए अन्य राज्यों का मौसमCWG 2022: शूटिंग के बिना भारत ने जीते 61 मेडल, चौथे नंबर पर खत्म किया कॉमनवेल्थ का सफरतेलंगाना: पंखे से लटकती मिली भाजपा नेता की लाश, पुलिस को आत्महत्या का शक, जांच जारीGoogle ने दिल्ली हाई कोर्ट को दी जानकारी, हटाए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और उनकी बेटी के खिलाफ पोस्ट वेब लिंक'इनकी पुरानी आदत है पूरे सिस्टम पर हमला करने की', कपिल सिब्बल के बयान पर बोले कानून मंत्री किरेण रिजिजूअरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.