50,000 युवाओं को ट्रेनिंग देगी इंडियन रेलवे, नौकरी मिलने में होगी आसानी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 71वें जन्मदिवस पर भारतीय रेलवे ने रेल कौशल विकास योजना आरंभ की। योजना के तहत फिटर, वेल्डर, मशीनिंग और इलेक्ट्रिशियन का मिलेगा प्रशिक्षण, बाद में नौकरी भी दी जाएगी।

By: सुनील शर्मा

Published: 18 Sep 2021, 08:17 AM IST

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 71वें जन्मदिन और विश्वकर्मा पूजा के अवसर पर भारतीय रेलवे ने रेल कौशल विकास योजना का शुभारंभ किया है। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने इस योजना की शुरूआत देश के कुल 75 रेलवे प्रशिक्षण संस्थानों में एक साथ की। इस योजना के तहत शुरूआती दौर में 50 हजार युवाओं को 4 ट्रेड में प्रशिक्षित किया जाएगा। इनमें फिटर, इलेक्ट्रिशियन, वेल्डर और मशीनिंग के ट्रेड शामिल हैं।

रेल कौशल विकास योजना के माध्यम से रेलवे 2024 तक इन युवाओं को तकनीकी रूप से कुशल बनाएगी। इन्हें रेलवे प्रशिक्षण केन्द्रों में प्रशिक्षित किया जाएगा। रेल मंत्री ने योजना की शुरूआत करते हुए कहा कि ये कौशल बेहद प्रासंगिक होंगे। यह कौशल प्रशिक्षण शहरों से अलग दूरदराज के इलाकों में भी उपलब्ध होगा। देश भर से चुने गए प्रतिभागियों को 100 घंटे का प्रशिक्षण मिलेगा।

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी के जन्मदिन पर 2.25 करोड़ को लगी कोरोना वैक्सीन, अक्टूबर में 100 करोड़ का लक्ष्य

ट्रेनिंग में अन्य ट्रेड भी जोड़े जाएंगे
क्षेत्रीय मांगों और जरूरतों के आकलन के आधार पर रेलवे अन्य ट्रेड में भी ट्रेनिंग देगी। आने वाले दिनों में सिग्नलिंग से जुड़े काम, इंस्ट्रूमेंटेशन, कॉन्क्रीट मिक्सिंग-टेस्टिंग, रॉड बेंडिंग, इलेक्ट्रॉनिक कार्ड रिप्लेसमेंट जैसे ट्रेड भी प्रशिक्षण कार्यक्रम में जोड़े जाएंगे। शहरी-ग्रामीण युवाओं को इसका लाभ मिलेगा।

यह भी पढ़ें : पैन कार्ड से आधार लिंक कराने की समय सीमा दोबारा बढ़ी, अब 31 मार्च 2022 होगी अंतिम तारीख

प्रशिक्षण से युवाओं को होंगे ये फायदे
दसवीं पास और 18 से 35 वर्ष के बीच के लोग यह ट्रेनिंग ले सकेंगे। ट्रेनिंग के बाद युवाओं को ट्रेनिंग का सर्टिफिकेट भी मिलेगा, जिससे उन्हें भारतीय रेल की तरफ से निकलने वाली ग्रुप डी की नौकरियां मिलने में आसानी होगी। यह योजना युवाओं की रोजगार क्षमता में सुधार करेगी। साथ ही स्वरोजगार के लिए भी उन्हें कुशल बनाएगी।

एक्स अप्रेंटिस के तहत युवाओं को ट्रेनिंग
अभी रेलवे की तरफ से एक्स अप्रेंटिसशिप के तहत युवाओं को ट्रेनिंग दी जाती है। इसमें उन्हें स्कॉलरशिप भी मिलती है। पहले अप्रेंटिस करने वालों को रेलवे में नौकरी मिल जाती थी, पर अब रेलवे भर्ती बोर्ड की परीक्षा में सफल लोगों को ही नौकरी मिलती है। अप्रेंटिस किए युवाओं को रेलवे की परीक्षा में करीब 30 प्रतिशत की छूट मिलती है।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned