scriptIS Covid Booster Dose Stop the mutation of Corona Virus | Covid Vaccine की बूस्टर डोज से क्या रुक जाएगा संक्रमण? जानिए सरकार के फैसले पर क्या बोले एक्सपर्ट | Patrika News

Covid Vaccine की बूस्टर डोज से क्या रुक जाएगा संक्रमण? जानिए सरकार के फैसले पर क्या बोले एक्सपर्ट

भारत में अगले साल 10 जनवरी से कोरोना की वैक्सीन की एक और खुराक या बूस्टर डोज दी जाएगी. कोरोना वैक्सीन से लड़ने के लिए वैक्सीन की यह बूस्टर डोज हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को दी जाएगी. मोदी सरकार के इस फैसले पर अब की हेल्थ एक्सपर्ट सवाल उठा रहे हैं और इसे गैरजरूरी फैसला करार दे रहे हैं.

नई दिल्ली

Updated: December 28, 2021 07:33:23 am

Expert on Covid Vaccine Booster Dose: भारत में अगले साल 10 जनवरी से कोरोना की वैक्सीन की एक और खुराक या बूस्टर डोज दी जाएगी. कोरोना के इस डोज को प्री-कॉशन डोज भी कहा जा रहा है. इस डोज के मदद से शरीर में एंटीबॉडी बनी रहे इसके लिए वैक्सीन की बूस्टर डोज दी जाएगी. कोरोना वैक्सीन से लड़ने के लिए वैक्सीन की यह बूस्टर डोज हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को दी जाएगी. मोदी सरकार के इस फैसले पर अब की हेल्थ एक्सपर्ट सवाल उठा रहे हैं और इसे गैरजरूरी फैसला करार दे रहे हैं.
corona_vaccine-amp
क्यों सवाल उठा रहे हैं हेल्थ एक्सपर्ट
मोदी सरकार के बूस्टर डोज के फैसले पर सवाल उठाते हुए कई हेल्थ एक्सपर्ट ने बताया कि जिन देशों में कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज दी गई है वहां भी कोरोना के केस बढ़ रहे हैं. इसके अलावा उन देशों में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन का खतरा भी बढ़ रहा है और उसके मामले भी मिल रहे हैं. इंडियन पब्लिक हेल्थ एसोसिएशन के अध्यक्ष और दिल्ली के एम्स में कम्युनिटी मेडिसिन डिपार्टमेंट के डॉ. संजय राय ने सरकार के कोरोना वैक्सीन की एक और डोज देने के फैसले को गैर जिम्मेदार बताया. उन्होंने कहा दवा औऱ वैक्सीन के ऊपर फैसले साइंटिफिक एविडेंस के अनुसार ही होने चाहिए. बूस्टर डोज से शरीर में एंटीबॉडी बढ़ेगी ऐसे कोई साक्ष्य नहीं हैं.
यह भी पढ़ें
मणिपुर और गोवा में भी ओमिक्रोन की दस्तक, देश के 21 राज्यों तक पहुंच चुका है कोरोना का नया वेरिएंट

दोनों डोज के बाद भी संक्रमित हुए लोग
डॉ संजय राय ने कहा कि भारत में कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज लेने वाले लोग भी कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित हुए हैं. शुक्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओमिक्रोन पर आई एक एनालिसिस रिपोर्ट में पाया गया कि दोनों डोज और यहां तक कि बूस्टर डोज लगने के बाद भी लोग कोरोना के नए वेरिएंट से संक्रमित हुए हैं. ओमिक्रोन संक्रमित मरीजों में से 183 मरीजों का स्वास्थ्य मंत्रालय ने विश्लेषण किया है, जिसमें सामने आया है कि 91% मरीजों को वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी थीं. वहीं 70% संक्रमित मरीजों को कोई लक्षण नहीं था. वायरस का तेजी से म्यूटेशन हो रहा है और जिस तेजी से इसका म्यूटेशन हो रहा है उसपर बूस्टर डोज की एक और खुराक कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Cases In India: देश में 24 घंटे में कोरोना के 2.68 लाख से ज्यादा केस आए सामने, जानिए क्या है मौत का आंकड़ाJob Reservation: हरियाणा के युवाओं को निजी क्षेत्र की नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण आज से लागूUP Election: चार दिन में बदल गया यूपी का चुनावी समीकरण, वर्षों बाद 'मंडल' बनाम 'कमंडल'अलवर दुष्कर्म मामलाः प्रियंका गांधी ने की पीड़िता के पिता से बात, हर संभव मदद का भरोसाArmy Day 2022: क्‍यों मनाया जाता है सेना दिवस, जानिए महत्व और इतिहास से जुड़े रोचक तथ्यभीम आर्मी प्रमुख चन्द्र शेखर ने अखिलेश यादव पर बोला हमला, मुलाकात के बाद आजाद निराशछत्तीसगढ़ में तेजी से बढ़ रहे कोरोना से मौत के आंकड़े, 24 घंटे में 5 मरीजों की मौत, 6153 नए संक्रमित मिले, सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट दुर्ग मेंयूपी विधानसभा चुनाव 2022 पहले चरण का नामांकन शुरू कैराना से खुला खाता, भाजपा के लिए सीटें बचाना है चुनौती
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.