scriptKalamassery Bus Burning Case NIA Special Court In Kerala Convicts 3 Accused After 17 Years | Kalamassery बस जलाने के मामले में NIA कोर्ट का एक्शन, 17 साल बाद सुनाया अहम फैसला | Patrika News

Kalamassery बस जलाने के मामले में NIA कोर्ट का एक्शन, 17 साल बाद सुनाया अहम फैसला

केरल के एर्नाकुल में 17 वर्ष पुराने मामले में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी यानी एनआईए की स्पेशल अदालत ने अहम फैसला सुनाया है। ये मामले कलामासेरी बस जलाने का है। इस केस में कोर्ट ने तीन आरोपियों को दोषी करार दिया है।

नई दिल्ली

Published: July 29, 2022 12:58:10 pm

केरल के एर्नाकुलम में NIA की एक विशेष अदालत ने वर्षु पुराने मामले में अहम फैसला सुनाया है। कोर्ट ने तमिलनाडु सरकार के स्वामित्व वाली एक बस को नुकसान पहुंचाने के लिए भारतीय दंड संहिता और गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम के विभिन्न अपराधों के तहत कलामासेरी बस जलाने के मामले में तीन आरोपियों को दोषी करार दिया है। ये घटना 2005 की है। करीब 17 साल बाद इस मामले में फैसला आया है। हालांकि दोषियों को सजा का ऐलान अभी नहीं किया गया है। कोर्ट इस मामले में 1 अगस्त को सजा सुनाएगी।
Kalamassery Bus Burning Case NIA Special Court In Kerala Convicts 3 Accused After 17 Years
Kalamassery Bus Burning Case NIA Special Court In Kerala Convicts 3 Accused After 17 Years
एर्नाकुलम और सलेम के बीच पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के अध्यक्ष अब्दुल नसर मदनी की रिहाई की मांग के समर्थन में यह घटना हुई थी, जिन्हें 2005 में कोयंबटूर जेल में हिरासत में लिया गया था।

NIA ने फैसले के दौरान दिया ये तर्क
एनआईए की जांच ने लंबी चली अपनी जांच में ये स्थापित किया कि, आरोपी व्यक्तियों ने सितंबर 2005 के पहले सप्ताह में युद्ध छेड़ने, हमला कर आतंक फैलाने और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की। उन्होंने मदनी के निरंतर हिरासत के प्रतिशोध में एक आपराधिक साजिश भी रची थी।

यह भी पढ़ें

किस्मत हो तो ऐसीः 50 लाख का कर्ज चुकाने के लिए घर बेचने जा रहा था शख्स, तभी लगी एक करोड़ की लॉटरी



ये है मामला
एर्नाकुलम में तीनों आरोपी 8 सितंबर, 2005 को अलुवा मस्जिद में एकत्र हुए थे। इसके बाद तमिलनाडु सरकार के स्वामित्व वाली एक बस में आग लगाने के लिए आरोपी माजिद परंबाई और सूफिया के कहने और उकसाने पर इन्होंने अपनी योजना बनाई थी।

पांच साल बाद एनआईए ने दाखिल की चार्जशीट
इस मामले की जांच एनआईए को सौंपी गई। जांच एजेंसी ने करीब पांच साल की जांच के आधार पर वर्ष 2010 में 13 आरोपियों के खिलाफ अपनी चार्जशीट दाखिल की थी।

इन धाराओं में ठहराया गया दोषी
कलामासेरी बस जलाने के मामले में कोर्ट ने वर्ष 2022 में तीनों आरोपियों- नजीर थडियंतविदाथा, साबिर बुहारी और थजुदीन को आईपीसी की धारा 16(1)(बी) की धारा 120बी, 121ए और यूए (पी) अधिनियम की धारा 18 के तहत दोषी ठहराया गया है।

यह भी पढ़ें

सर तन से जुदा' के मैसेज के बाद, एसआईटी की जांच में नया खुलासा, छात्र नें 18 से अधिक लोन एपस से लिया था कर्ज

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Gujarat News: जामनगर के होटल में लगी भयानक आग, स्टाफ सहित 27 लोग थे मौजूद, सभी सुरक्षितत्रिपुरा कांग्रेस विधायक सुदीप रॉय बर्मन पर जानलेवा हमला, गंभीर रूप से हुए घायलबांदा में यमुना नदी में डूबी नाव, 20 के डूबने की आशंकाCM अरविंद केजरीवाल ने किया सवाल- 'मनरेगा, किसान, जवान… किसी के लिए पैसा नहीं, कहां गया केंद्र सरकार का धन'SCO समिट में पीएम मोदी के साथ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की हो सकती है बैठकबिहारः 16 अगस्त को महागठबंधन सरकार का कैबिनेट विस्तार, 24 को फ्लोर टेस्ट, सुशील मोदी के दावे को नीतीश ने बताया बोगसझारखंड BJP ने बिहार के नए उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को गिफ्ट में भेजा पेन, कहा - '10 लाख नौकरी देने वाली फाइल पर इससे करें हस्ताक्षर'Karnataka High Court: एक्सीडेंट में माता-पिता की मौत होने पर विवाहित बेटियां भी मुआवजे की हकदार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.