scriptKarnataka High Court ordered allegation of impotence is mental torture | कर्नाटक हाइकोर्ट का आदेश, नपुंसकता का आरोप मानसिक प्रताड़ना, इसके आधार पर पत्नी से तलाक ले सकता है पति | Patrika News

कर्नाटक हाइकोर्ट का आदेश, नपुंसकता का आरोप मानसिक प्रताड़ना, इसके आधार पर पत्नी से तलाक ले सकता है पति

Karnataka High Court: कर्नाटक हाइकोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए आदेश दिया है कि यदि पत्नी बिना सबूत के पति पर नपुंसकता का आरोप लगाती है तो यह मानसिक प्रताड़ना की श्रेणी में आएगा। इसके आधार पर पति, पत्नी से तलाक भी ले सकता है।

 

Published: June 17, 2022 12:09:13 pm

Karnataka High Court: कर्नाटक हाइकोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए अहम आदेश दिया है, जिसके बाद नपुंसकता का झूठा आरोप मानसिक प्रताड़ना के तहत आएगा। कर्नाटक हाइकोर्ट में जस्टिस सुनील दत्त यादव की अगुवाई वाली खड़पीठ ने एक मामले की सुनवाई करते हुए आदेश दिया है कि अगर पत्नी बिना किसी सबूत के पति पर नपुंसकता का आरोप लगाती है तो यह मानसिक प्रताड़ना की श्रेणी में आएगा, जिसके आधार पर पति पत्नी से तलाक भी ले सकता है।
karnataka-high-court-ordered-allegation-of-impotence-is-mental-torture.jpg
कर्नाटक हाइकोर्ट का आदेश, नपुंसकता का आरोप मानसिक प्रताड़ना, इसके आधार पर पत्नी से तलाक ले सकता है पति
आपको बता दें कि कर्नाटक हाइकोर्ट में एक व्यक्ति ने धारवाड़ फैमिली कोर्ट में तलाक की मांग करते हुए याचिका दायर किया था, जिसमें उसने आरोप लगाया था कि उसकी पत्नी रिश्तेदारों के सामने नपुंसकता का आरोप लगाती है। इसके कारण उसने बताया कि वह बहुत आहत है, जिसके कारण तलाक चहता है। धारवाड़ फैमिली कोर्ट ने उस व्यक्ति की तलाक की याचिका को खारिज कर दिया था, जिसके बाद वह इस फैसले के खिलाफ वह कर्नाटक हाइकोर्ट गया था।

कर्नाटक हाइकोर्ट ने मासिक गुजारा भत्ता देने का दिया आदेश

कर्नाटक हाइकोर्ट में जस्टिस सुनील दत्त यादव की अगुवाई वाली खड़पीठ ने इस मामले की सुनवाई करते हुए आदेश दिया कि किसी सबूत के बिना पत्नी पति पर नपुंसकता का आरोप लगाती है तो यह मानसिक प्रताड़ना की श्रेणी में आएगा। कोर्ट ने कहा कि पत्नी ने आरोप लगाया है कि शादी के दायित्वों को पूरा नहीं कर पा रहा है। वह यौन गतिविधियों के करने में असमर्थ हैं, लेकिन वह इन आरोपो को साबित नहीं कर पाई। कोर्ट ने कहा कि इस आरोप ने पति की गरिमा को ठेस पहुंचाई है। इसके बाद कोर्ट ने याचिकाकर्ता की पत्नी को आदेश दिया कि जब तक वह दूसरी शादी नहीं कर लेता है तब तक उसे आपको 8 हजार रुपए गुजारा भत्ता उसे देना है।

2013 में हुई थी शादी

याचिकाकर्ता पति ने कोर्ट को बताया कि उसकी शादी 2013 में हुई थी। उसने कोर्ट में दावा किया कि शुरुआत में सब कुछ ठीक था, लेकिन कुछ दिन बाद पत्नी का व्यवहार उसके साथ बदल गया। उसके बाद वह रिश्तेदारों के सामने यौन संबंध ना बना पाने का आरोप लगाने लगी।

पति ने कराया मेडिकल टेस्ट

इस मामले में याचिकाकर्ता पति मेडिकल टेस्ट कराया, लेकिन उसके बाद भी पत्नी आरोप साबित कर पाने में नाकाम रही। इसके बाद अदालत ने इसे झूठा आरोप बताया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra: महाराष्ट्र में स्टील कारोबारी पर इनकम टैक्स का छापा, करोड़ों रुपये कैश सहित बेनामी संपत्ति जब्तJammu-Kashmir: उरी जैसे हमले की बड़ी साजिश हुई फेल, Pargal आर्मी कैंप में घुस रहे 3 आतंकी ढेरजगदीप धनखड़ आज लेंगे 14वें उपराष्ट्रपति पद की शपथ, दोपहर 12:30 बजे राष्ट्रपति भवन में होगा समारोहकाले कारनामों को छिपाने के लिए 'काला जादू' जैसे अंधविश्वासी शब्दों का इस्तेमाल करें बंद, राहुल गांधी ने PM मोदी पर साधा निशानाMaharashtra: महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद अब विभाग बंटवारे का इंतजार, गृह और वित्त मंत्रालय पर मंथन जारीचुनाव में मुफ्त की योजनाओं पर सुप्रीम कोर्ट में आज होगी सुनवाईRaksha Bandhan 2022: भाइयों के खुशहाल जीवन और समृद्धि के लिए उनकी राशि अनुसार बांधें इस रंग की राखीबिहार सीएम की शपथ लेने के साथ अपने ही रिकॉर्ड तोड़ने से चूके Nitish Kumar, 24 अगस्त को साबित करेंगे बहुमत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.