scriptलोकसभा चुनाव 2024 में की गड़बड़ी तो 100 मिनट में होगी कानूनी कार्रवाई, चुनाव की तारीख से पहले मुख्य निर्वाचन आयुक्त का बड़ा ऐलान | Lok Sabha elections 2024 Chief Election Commissioner Big Announcement 100 minutes Action On Voting irregularities | Patrika News

लोकसभा चुनाव 2024 में की गड़बड़ी तो 100 मिनट में होगी कानूनी कार्रवाई, चुनाव की तारीख से पहले मुख्य निर्वाचन आयुक्त का बड़ा ऐलान

locationनई दिल्लीPublished: Feb 22, 2024 08:31:13 am

Submitted by:

Anand Mani Tripathi

Lok Sabha elections 2024 : निर्वाचन आयोग (Election Commission) के मुख्य चुनाव आयुक्त (CEC) राजीव कुमार ने मतदान (Voting) में गड़बड़ी की किसी भी शिकायत पर 100 मिनट में कार्रवाई किए जाने ऐलान किया है।

 Lok Sabha elections 2024 Chief Election Commissioner Big Announcement 100 minutes Action On Voting irregularities

Lok Sabha Elections 2024 : लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर निर्वाचन आयोग (Election Commission) ने बड़ा एलान किया है। मुख्य चुनाव आयुक्त (CEC) राजीव कुमार ने आगामी लोकसभा चुनाव के दौरान मतदान में गड़बड़ी की किसी भी शिकायत पर 100 मिनट में कार्रवाई किए जाने ऐलान किया है। वह बिहार की राजधानी पटना में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने बताया कि लोकसभा चुनाव 2024 में निष्पक्ष मतदान सुनिश्चित करने के लिए सभी प्रशासनिक तैयारियां कर ली गई हैं। निष्पक्ष मतदान कराने के लिए नागरिक सहयोगी की भी अपील की।

सीईसी राजीव कुमार ने कहा कि कहीं से भी अनुचित मतदान के संबंध में किसी भी शिकायत पर हम 100 मिनट में कार्रवाई करेंगे। मतदान के दौरान कोई अनियमितता देखता है तो वह चुनाव आयोग से शिकायत कर सकता है। शिकायत करने वाले लोग मतदान में अनियमितताओं के बारे में फोटो, वीडियो रिकॉर्डिंग या कोई अन्य विवरण भेज सकते हैं। वह चाहेंगे तो उनके नाम गोपनीय रखे जाएंगे।

 

सीईसी ने बताया कि बिहार में कुल मतदाताओं की संख्या 7.64 करोड़ है और उनमें से 9.26 लाख पहली बार मतदान करेंगे। महिला मतदाताओं की संख्या 3.64 करोड़ है और 21,680 मतदाता 100 साल उम्र की हैं। अति वरिष्ठ नागरिकों की संख्या 14.50 लाख और शारीरिक रूप से अक्षम मतदाताओं की संख्या 14.59 लाख है। 40 हजार वोटों पर वेबकास्टिंग की व्यवस्था की जाएगी। बिहार में लोकसभा चुनाव के दौरान महिला प्रबंधित बूथों की संख्या 243 जबकि मॉडल मतदान केंद्रों की संख्या 2,785 होगी।

 

सीईसी ने बताया कि चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों को टेलीविजन चैनलों और समाचार पत्रों में अपना आपराधिक इतिहास का विज्ञापन देना होगा। इससे मतदाताओं को बेहतर उम्मीदवार चुनने में मदद मिलेगी। चुनावी बांड को अवैध घोषित करने के मद्देनजर चुनाव आयोग द्वारा उठाए जाने वाले संभावित कदमों के बारे में पूछे जाने पर कोई टिप्पणी नहीं की।

ट्रेंडिंग वीडियो