प्रेम की खातिर नहीं की शादी, लेकिन जीवन भर निभाया साथ - अब एक ही चिता पर अंतिम संस्कार

मध्यप्रदेश के श्योपुर जिले में 14 फरवरी के ठीक पहले एक वयोवृद्ध दंपति की प्रेम कहानी सब की आंखों को नम कर गई। 

मध्यप्रदेश के श्योपुर जिले में 14 फरवरी 'प्रेम दिवस' के पहले एक वयोवृद्ध दंपति की प्रेम कहानी सब की आंखों को नम कर गई। हीरापुर निवासी इस नि:संतान दंपति का 75 सालों का एक-दूसरे का साथ गुरुवार को एक घंटे के अंतराल में छूट गया। दु:खी परिवारजनों ने दोनों का एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया। 

75 साल पहले हुई थी शादी
पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि खेमता पटेल (95) का विवाह 75 साल पहले जयंती (90) से हुआ था। दोनों की कोई संतान नहीं थी। जयंती ने बच्चे नहीं होने पर खेमता से कई बार दूसरी शादी करने को कहा, लेकिन उन्होंने हमेशा यह कहते हुए इंकार कर दिया कि इससे उनका अपनी पत्नी के प्रति प्यार बंट जाएगा। खेमता ने इसी जिद के कारण दूसरा ब्याह नहीं रचाया। 


पत्नी की मौत पर विलाप करते हुए तोड़ा दम
गुरूवार को जयंती की अचानक तबियत खराब होने से उसने दम तोड़ दिया। इसके बाद उसके लिए विलाप करते-करते खेमता ने भी अचानक दम तोड़ दिया। दोनों की मौत से दु:खी ग्रामीणों ने इसके बाद दोनों का दूल्हा-दुल्हन की तरह श्रृंगार किया और दोनों का शाम को एक ही चिता पर अंतिम संस्कार कर दिया। 


(DEMO PIC)

valentine day
nakul Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned