महबूबा ने केन्द्र सरकार पर लगाया नजरबंद करने का आरोप, कहा- सरकार को हमारी नहीं अफगानियों की चिंता है

महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट करते हुए कहा कि भारत सरकार अफगानिस्तान के लोगों के अधिकारों की चिंता कर रही हैं परन्तु कश्मीरियों को उनके अधिकारों से वंचित किया जा रहा है।

By: सुनील शर्मा

Published: 07 Sep 2021, 03:17 PM IST

नई दिल्ली। पीडीपी चीफ तथा जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है उन्हें फिर से नजरबंद कर दिया गया है। मुफ्ती ने कहा कि कश्मीर में सामान्य हालात होने का दावा गलत है और यहां पर कश्मीरियों को उनके मौलिक अधिकारों से वंचित किया जा रहा है।

महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट करते हुए कहा कि भारत सरकार अफगानिस्तान के लोगों के अधिकारों की चिंता कर रही हैं परन्तु कश्मीरियों को उनके अधिकारों से वंचित किया जा रहा है। प्रशासन ने कहा कि स्थिति उपयुक्त नहीं है इसलिए मुझे आज अपने घर में नजरबंद कर दिया गया है। इससे पता चलता है कि कश्मीर में सब कुछ सही होने का केन्द्र सरकार का दावा कितना सही है।

यह भी पढ़ें : Jammu Kashmir: कश्मीरी पंडितों के लिए लॉन्च हुई वेबसाइट, विस्थापितों को जमीन दिलाने में मिलेगी मदद

महबूबा मुफ्ती ने अपने ट्वीट में दो फोटोज भी साथ में शेयर की है। एक फोटो में घर के गेट पर ताला लगा हुआ है जबकि दूसरी फोटो में गेट के आगे पुलिस की गाड़ी खड़ी है।

जहां एक तरफ महबूबा मुफ्ती सरकार पर हालात बिगड़ने का आरोप लगा रही है वहीं दूसरी ओर जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा है कि राज्य में से अधिकांश प्रतिबंध हटा दिए गए हैं। इंटरनेट भी शुरू हो गया है और कश्मीर में हालात सामान्य हो चुके हैं हालांकि अभी भी स्थिति पर नजर रखी जा रही है।

यह भी पढ़ें : पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले AAP में भी कलह, भगवंत मान को CM उम्मीदवार बनाने की मांग

उल्लेखनीय है कि कश्मीर में अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी की मृत्यु के बाद घाटी में माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया गया था। यही नहीं, गिलानी के शव पर पाकिस्तानी झंड़ा भी डाला गया और भारत विरोधी नारे लगाए गए। इसके बाद से कश्मीर में माहौल शांत बनाए रखने के लिए वहां पर इंटरनेट बंद कर दिया गया था।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned