मैं जीवनभर तुम्हारा ख्याल रखूंगा...

पटना। गुजरात में रह चुकी मुन्ना की पत्नी को मोदी ने हिम्मत बंधाते हुए कहा कि मैं जीवनभर....

By:

Published: 16 Jan 2015, 11:55 AM IST

पटना। बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी का हुंकार रैली में मारे गए लोगों के परिजनों से मिलना जेडीयू को रास नहीं आ रहा है।

जेडीयू का कहना है कि मोदी के इस तरह की यात्रा करने से प्रदेश के लोगों में गलत संदेश जाएगा। परस्पर भाईचारे और सदभाव पर गलत असर पड़ेगा। जेडीयू नेता केसी त्यागी ने तो मोदी को क्रूर शासक तक बता दिया।

उधर, जेडीयू को जवाब देते हुए बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि मोदी का यह दौरा किसी राजनीति से प्रेरित नहीं है। वे तो सिर्फ ब्लास्ट में मारे गए लोगों के परिजनों को सांत्वना देने आए हैं।

बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने तो मोदी की इस यात्रा को लेकर जेडीयू सरकार पर यह कहकर हमला बोला कि यह सरकार मोदी के प्रोटोकोल का ध्यान नहीं रख रही है, मोदी की सुरक्षा को लेकर लापरवाही बरती गई है।

गोपालगंज नहीं जा सके,फोन पर बात

मौसम खराब होने से मोदी गोपालगंज नहीं जा सके हैं। कोहरा होने के कारण हेलीकॉप्टर नहीं उतर सका। मोदी ने फोन पर ही गोपाल गंज के मुन्ना श्रीवास्तव की पत्नी से फोन पर ही बात की तथा सांत्वना दी। गुजरात में रह चुकी मुन्ना की पत्नी ने मोदी से गुजराती भाषा में बात की। मोदी ने उन्हें हिम्मत बंधाते हुए कहा कि मैं तुम्हें बेटी की तरह मानता हूं, मैं जीवनभर तुम्हारा ख्याल रखूंगा। मालूम हो कि मुन्ना के परिजनों से मोदी को मिलकर मुलाकात करनी थी। मोदी गोपालगंज से सुपौल के लिए रवाना हुए लेकिन वहां भी मौसम खराब होने से आगे बढ़ पाना संभव नहीं हो पाया। बेगूसराय जाने का तय कार्यक्रम भी प्रभावित हो सकता है। मोदी का हेलीकाप्टर वापस पटना पहुंचा।

कैमूर में विश्वास के परिजनों से मिले

इससे पहले मोदी करीब 11 बजे हेलीकॉप्टर से कैमूर पहुंचे। वे यहां विश्वास कुमार के परिजनों से मिले तथा उन्हें भी बीजेपी की तरफ से 5 लाख रूपए की सहायता राशि का चेक भेंट किया। विकास की भी हुंकार रैली में हुए ब्लास्ट की चपेट में आने से मौत हो गई थी।

गौरीचक में राजनारायण के परिवार को ढांढस

इससे पहले करीब 10 बजे गौरीचक पहुंचे तथा हुंकार रैली में ब्लास्ट के दौरान मृतक राजनारायण के परिजनों से मुलाकात की तथा उन्हें सांत्वना दी। मोदी ने राजनारायण के परिजनों को हिम्मत बंधाते हुए कहा कि हम आपके साथ हैं। मोदी के साथ रविशंकर प्रसाद, सुशील कुमार मोदी और अश्विन चौबे भी साथ रहे। मोदी ने मृतक को बीजेपी की तरफ से सहायता राशि के रूप में पांच लाख रूपए का चेक प्रदान किया।

सिंह के परिजनों ने मोदी को बताया कि उनके पिता उनका भाषण सुनने के लिए काफी उत्साहित थे और खेत का काम छोड़ कर और नदी को तैरकर गांधी मैदान गए थे। सिंह ने जाने से पूर्व कहा था कि खेती का काम तो बाद में भी हो जाएगा लेकिन भाषण सुनने का मौका उन्हें फिर मिलेगा या नहीं। वह समय पर नहीं पहुंचेंगे तो मोदी का भाषण नहीं सुन पाएंगे।

सिंह के पुत्र ने उसे सरकारी नौकरी देने की मांग करते हुए कहा कि वह बेरोजगार है और उसके पिता ही पूरे परिवार का भरण पोषण करते थे। वहां उपस्थित बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने आश्वासन दिया कि पार्टी की ओर से पूरी मदद दी जाएगी और जो भी संभव है वह किया जाएगा। इसके बाद नरेन्द्र मोदी जब सिंह के घर से बाहर आए तब ग्रामीणों ने मोदी के पक्ष में नारे लगाए। उत्साहित ग्रामीण "देश का प्रधानमंत्री कैसा हो,नरेन्द्र मोदी जैसा हो.." के नारे लगा रहे थे। मोदी ने भी हाथ जोड़कर उनका अभिवादन किया।


मौसम ने नहीं दिया साथ

मालूम हो कि शुक्रवार देर रात बिहार की राजधानी पटना पहुंच गए थे। वे 27 अक्टूबर को हुंकार रैली से पहले हुए ब्लास्ट में मारे गए लोगों के परिजनों से मुलाकात कर रहे हैं। कोहरे के कारण मोदी का हेलीकॉप्टर तय समय पर गौरीचक के लिए उड़ान नहीं भर पाया था पर बाद में मौसम साफ होते ही वे गौरीचक पहुंचे।

मोदी के इस बार बिहार आने की खास बात यह है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अनबन के बावजूद उन्हें बिहार सरकार के अतिथि हैं। चूंकि मोदी भी एक राज्य के सीएम हैं इसलिए उन्हें परिपाटी के तहत राजकीय अतिथि का दर्जा दिया गया है।

मिनट टू मिनट सुरक्षा चक्र

पटना में 27 अक्टूबर को हुंकार रैली के दौरान हुए सीरीयल ब्लास्ट के बाद यह बात सामने आई थी कि प्रतिबंधित संगठन इंडियन मुजाहदीन से जुड़े आतंकी मोदी की जान लेना चाहते है। इसके बाद से गृहमंत्रालय ने मोदी की सुरक्षा बढ़ाए जाने तथा एसएसएल लेवल की सुविधा मुहैया कराए जाने के निर्देश दिए।

मोदी को अब लगभग वैसी ही सुरक्षा मिलेगी जैसी प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की प्रमुख सोनिया गांधी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को दी जाती है। लेकिन सूत्रों ने स्पष्ट किया कि गुजरात के मुख्यमंत्री मोदी को स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप की सुरक्षा नहीं मुहैया कराई जा रही है। नई व्यवस्था के मुताबिक मोदी जिस भी राज्य में जाएंगे वहां की पुलिस उनकी मिनट दर मिनट सुरक्षा की विस्तृत रणनीति तैयार करेगी।
modi BJP Narendra Modi
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned