scriptMonsoon has not yet knocked, may be delayed | मानसून ने अब तक नहीं दी दस्तक, हो सकती है देर | Patrika News

मानसून ने अब तक नहीं दी दस्तक, हो सकती है देर

मौजूदा सीजन में मानसून के 26 मई को केरल तट पर दस्तक देने का पूर्वानुमान जताया जा रहा था, लेकिन मानसून ने अब तक दस्तक नहीं दी है। इसलिए अब निजी एजेंसी स्काइमेट वेदर ने मानसून के तीन -चार दिन विलंब से आने का अनुमान जताया है।

जयपुर

Updated: May 27, 2022 08:15:40 am

निजी मौसम विज्ञान एजेंसी स्काइमेट ने कहा है कि लगता है कि 26 तारीख को मानसून केरल आने का संभावना अब पूरी नहीं हो पाएगी और अब ये बस छूट चुकी है। इसके पूर्व निजी एजेंसी ने तीन दिन माइनस/ प्लस की आशंका के साथ 26 मई को मानसून के केरल में दस्तक देने की भविष्यवाणी की थी। स्काईमेट वेदर में मौसम विज्ञान और जलवायु के अध्यक्ष जीपी शर्मा ने मीडिया से बातचीत में कहा है कि गुरुवार तक मौसमी मौसम प्रणाली के तट के करीब पहुंचने का कोई संकेत नहीं है। शर्मा ने कहा कि चीजें ठीक नहीं लग रही हैं और इसके लिए नकारात्मक इंडियन ओसन डाइपोल को जिम्मेदार ठहराया है।
mansoon.jpg
इंडियन ओसन डाइपोल बन रहा है बाधक

जीपी शर्मा ने कहा है कि ये हमारे अनुमान से भी कहीं अधिक तेजी से विकसित हुआ है और श्रीलंका से भारत की ओर मानसून की संभावित प्रगति के इस चरण में बाधक बन रहा है। शर्मा ने कहा कि अगर हमें आज मानसून की शुरुआत की घोषणा करनी होती, तो केरल में निर्दिष्ट स्टेशनों पर पिछले दो दिनों में बारिश शुरू हो जानी चाहिए थी। लेकिन यह अपेक्षित तर्ज पर नहीं हुआ है।
आईएमडी का अनुमान, समय पर चल रहा मानसून

पर इस बीच आज सुबह तक आईएमडी ने मानसून में देरी होने के कोई संकेत नहीं दिए हैं और कहा है कि मानसून अपने रास्ते पर है और समय पर केरल में दस्तक देगा, क्योंकि इसके आगे बढ़ने के लिए स्थितियां अनुकूल बनी हुई हैं। बता दें, आईएमडी के अनुसार मानसून 4 दिन के माइनस या प्लस के पूर्वानुमान के साथ 27 मई को केरल में दस्तक देगा। आईएमडी के अनुसार दक्षिण-पश्चिम अरब सागर के कुछ हिस्सों (केरल तट और लक्षद्वीप से बहुत दूर) पर मानसून की अरब सागर की शाखा, दक्षिण-पूर्वी अरब सागर के कुछ और हिस्से (केरल तट के निकट और लक्षद्वीप को कवर करते हुए); मालदीव और कोमोरिन क्षेत्र में मानसून की आगे की प्रगति के लिए परिस्थितियां अनुकूल बनी हुई हैं।
अब तक नहीं दिख रही उचित प्रगति : स्काईमेट

साथ ही खाड़ी की ओर (बंगाल की खाड़ी की शाखा) की बात करें तो, आईएमडी शुक्रवार तक दक्षिण और पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी और उत्तर-पूर्वी बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों में मानसून की प्रगति को होते देख रहा है।
लेकिन स्काईमेट के शर्मा के अनुसार, ये सामान्य लेकिन मानसून के महत्वपूर्ण मार्ग बिंदु हैं जिनसे मानसून केरल तट की ओर अपनी यात्रा के दौरान पारगमन करता है। शर्मा ने बताया कि मानसून की इन दोनों भुजाओं को शुरुआत में तेजी लाने के लिए मिलकर काम करना पड़ता है। लेकिन जल्द ही ऐसी किसी प्रणाली के बनने के कोई संकेत नहीं दिख रहे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.